• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

दलाई लामा पद रहे-न रहे,जनता बताए

dalai lama leaves it to people whether there should be dalai lama or not - India News in Hindi

तवांग। भारत में कई दशकों से आत्म निर्वासन पर रह रहे तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा ने शनिवार को कहा कि इसका निर्धारण उनकी जनता ही करेगी कि दलाई लामा का पद आगे जारी रहे या नहीं। यहां एक तिब्बती मठ के अधिकारी ने बताया कि तवांग प्रवास के दौरान मौजूदा दलाई लामा वरिष्ठ लामाओं के साथ बैठक कर नए लामा की नियुक्ति के मुद्दे पर चर्चा करेंगे।

तिब्बती धर्मगुरू ने छठे दलाई लामा सांगयांग ग्यात्सो के जन्म स्थल तवांग में पत्रकारों से कहा, मैंने इसका फैसला लोगों पर छो़ड दिया है कि दलाई लामा का पद बना रहे या नहीं। यह पूरी तरह तिब्बती लोगों की इच्छा पर निर्भर करता है। दलाई लामा शुक्रवार की शाम यहां आए और शनिवार को अपनी धार्मिक चर्चा शुरू की। वह तवांग मठ में ठहरे हुए हैं, जो बौद्ध धर्म की महायान शाखा के गेलुग्पा स्कूल से संबद्ध है और ब्रिटिशों के समय से ही ल्हासा के ड्रेपुंग मठ से भी धार्मिक तौर पर संबद्ध रहा है। बीजिंग इसी संबंध का हवाले देते हुए तवांग के चीन का हिस्सा होने का दावा करता रहा है।

तिब्बतियों के 15वें दलाई लामा का चयन तवांग से होने के अनुमान लगाए जा रहे हैं, हालांकि इस बीच चीन ने तिब्बत में एक छह वर्षीय बालक को पंचेन लामा घोषित कर दिया है। पंचेन लामा को तिब्बतियों का दूसरे सर्वोच्च धर्मगुरू का दर्जा प्राप्त है। दलाई लामा से जब पूछा गया कि क्या अगली दलाई लामा कोई महिला हो सकती हैं, तिब्बती धर्मगुरू ने कहा, ऎसा भी हो सकता है। पहले चीन को अगले दलाई लामा के पुनर्जन्म के सिद्धांत पर स्पष्ट होने का इंतजार कीजिए।

शांति के लिए नोबेल पुरस्कार पा चुके 81 वर्षीय दलाई लामा ने कहा,मैं 2011 में राजनीति से संन्यास ले चुका हूं और सारे राजनीतिक मामलों की देख-रेख हमारी निर्वासित सरकार करती है। लेकिन मैं तिब्बती संस्कृति और पारिस्थितिकी को संरक्षित करने और उसके प्रचार-प्रसार के लिए प्रतिबद्ध हूं।

चीन ने दलाई लामा की अरूणाचल यात्रा पर बुधवार को भारत से विरोध दर्ज कराया और बीजिंग में भारतीय राजदूत विजय गोखले से जवाब तलब किया। अरूणाचल प्रदेश की सीमा मैकमोहन रेखा के जरिए चीन और भारत को विभाजित करती है, हालांकि यह एक काल्पनिक अंतर्राष्ट्रीय सीमा है, जिसे अब वास्तविक नियंत्रण रेखा मान लिया गया है। (आईएएनएस)

अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-dalai lama leaves it to people whether there should be dalai lama or not
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: dalai lama, people, decide, arunachal, tawang, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved