• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

राहुल गांधी को एनआरसी विषय पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को यहां कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। उन्होंने दावा किया कि उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के विरोध के बावजूद घुसपैठियों की पहचान के लिए पंजीकरण प्रक्रिया पूरा करने को प्रतिबद्ध है।

शाह ने यहां एक रैली में कहा कि ममतादी, केवल आपके विरोध के कारण एनआरसी नहीं रुकेगा। आप विरोध करने के लिए आजाद हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी विरोध करने के लिए आजाद हैं। लेकिन हमारी यह प्रतिबद्धता है कि सभी घुसपैठियों की एक-एक कर पहचान करें और कानून के मुताबिक असम में एनआरसी को पूरा करें। उन्होंने कहा कि राहुल वोटबैंक की राजनीति के लिए एनआरसी पर अपना रुख स्पष्ट नहीं कर रहे हैं। असम समझौते के मुताबिक, दस्तावेज पर कार्य हो रहा है। इस समझौते पर 1985 में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने हस्ताक्षर किए थे।

भाजपा प्रमुख ने कहा कि असम समझौते के मुताबिक एनआरसी पर कार्य किया जा रहा है। असम समझौता किसने बनाया? इसे 1985 में प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा तैयार किया गया था। शाह ने भारतीय जनता युवा मोर्चा की ओर से आयोजित रैली में कहा कि तब कांग्रेस को कोई दिक्कत नहीं थी, लेकिन अब वोटबैंक की राजनीति के लिए राहुल गांधी अपना रुख साफ नहीं कर रहे हैं। शाह ने राहुल और ममता को चुनौती देते हुए कहा कि उन्हें देश की सुरक्षा या वोटबैंक की राजनीति में से अपनी प्राथमिकता स्पष्ट करनी चाहिए। ममता बनर्जी द्वारा 2005 में लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी पर पेपर फेंकने और बांग्लादेशी घुसपैठियों को बाहर निकालने की मांग करते हुए सदन में गतिरोध उत्पन्न किए जाने का वाकया याद दिलाते हुए शाह ने कहा कि ममता ने अपना रुख बदल लिया है, क्योंकि वे घुसपैठिए अब उनके लिए वोट करेंगे।

उन्होंने कहा कि देखिए, लोग कैसे बदलते हैं। 2005 में बांग्लादेशी घुसपैठियों का प्रयोग माकपा को वोट दिलाने के लिए किया जाता था तो ममतादी लोकसभा में हंगामा करती थीं। उन्होंने अध्यक्ष पर पेपर फेंके थे। उन्होंने सदन को बाधित किया था और बांग्लादेशी घुसपैठियों को बाहर निकालने के लिए नारे भी लगाए थे। शाह ने कोलकाता के मध्य मायो रोड पर भारी भीड़ वाली रैली में कहा कि आज, उन्हीं बांग्लादेशी घुसपैठियों का इस्तेमाल तृणमूल अपने वोटबैंक के लिए कर रही है। ममतादी घुसपैठियों को असम में रखना चाहती हैं। शाह ने भीड़ से पूछा कि क्या बांग्लादेशी घुसपैठियों ने देश की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा किया या नहीं, वह बंगाल में बम विस्फोटों में शामिल थे या नहीं और उन्हें बाहर निकाला जाना चाहिए या नहीं। जब एक बार भीड़ ने ‘हां’ में जवाब दिया तो उन्होंने कहा कि ममता दीदी, मैं आपको बताता हूं, हम भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं, हमारे लिए देश पहले आता है, बाद में वोटबैंक। शाह ने ममता पर बंगाल में यह ‘झूठी सूचना’ फैलाने का आरोप लगाया कि एनआरसी के कारण भारत से शरणार्थियों को खदेड़ दिया जाएगा और दावा करते हुए कहा कि यह केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है कि शरणार्थी भारत में रहें।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Rahul Gandhi should clarify his stand on NRC topic
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: rahul gandhi, nrc topic, amit shay, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, kolkata news, kolkata news in hindi, real time kolkata city news, real time news, kolkata news khas khabar, kolkata news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved