• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

योगी ने 5.54 करोड़ पौधे लगाने की योजना की शुरुआत की

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को 5.54 करोड़ पौधे लगाने की योजना की शुरुआत की। इस योजना के तहत हरिद्वार से लेकर बलिया तक गंगा किनारे 1000 किलोमीटर में पौधे लगाए जाएंगे।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आयोजित 'कनेक्ट विद नेचर' कार्यक्रम में योगी ने कहा, "आज प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ रहा है तथा वृक्षों की कमी से पर्यावरण असंतुलन पैदा हो रहा है। कई राज्यों ने पर्यावरण को लेकर अच्छा काम किया है। सभी को वन संपदा के संरक्षण के लिए तत्पर रहना चाहिए। कार्ययोजना बनाकर पर्यावरण का संरक्षण होना चाहिए। हरिद्वार से लेकर बलिया तक गंगा नदी के किनारे पेड़ लगाए जाएंगे।"

मुख्यमंत्री ने कहा, "उनकी सरकार पर्यावरण को बचाने के लिए प्रतिबद्ध है। अगर समय रहते प्रकृति से संबंध नहीं बनाया गया तो मानवता के लिए संकट पैदा हो सकता है। आज प्रकृति से खिलवाड़ हो रहा है। नदियों में कूड़ा कचरा डाल कर उन्हें प्रदूषित किया जा रहा है। इस पानी से खेतों में खड़ी फसलों को नुकसान होता है।"

उन्होंने कहा, "जो व्यक्ति प्रकृति के जितना नजदीक होगा, वह उतना ही अधिक स्वस्थ्य होगा। प्रकृति ने हमें जंगल तो दिए हैं पर हम उनका संरक्षण करने में असफल रहे हैं। आज आवश्यकता इस बात की है कि हर व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी को समझे और पर्यावरण संरक्षण के लिए गंभीर हो जाए।"

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर सूबे के 22 करोड़ लोग प्रति वर्ष एक एक पेड़ लगाए और उसका संरक्षण करें तो दो-तीन साल में ही वनीकरण के लक्ष्य के 15 प्रतिशत तक को हासिल किया जा सकता है।

योगी ने कहा, "पेड़ लगाने की औपचारिकता मात्र नहीं होनी चाहिए, बल्कि जो पेड़ लगाए जाए, उनका संरक्षण भी किया जाना चाहिए। व्यापक पैमाने पर वृक्षारोपण होना चाहिए। सरकार ने सूबे के 86 लाख किसानों के फसली ऋण को माफ किया है। कर्ज माफी कोई उपकार नहीं, बल्कि एक प्रोत्साहन है, जिससे कि किसान भविष्य में भी समाज के लिए योगदान कर सकें। इस कर्ज मार्फी के पत्र को देते समय हर किसान को 10-10 पेड़ दिए जाएंगे। जब किसान इन पेड़ांे को लगाएंगे तो काफी ग्रीन कवर बढ़ जाएगा।"

वृक्षारोपण अभियान से सांसदों, विधायकों और ग्राम प्रधानों को जोड़ने की वकालत करते हुए उन्होंने कहा, "वृक्षारोपण के लिए हर व्यक्ति को चिंता करनी चाहिए। व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि जब भी किसी व्यक्ति को एक पेड़ काटने की अनुमति दी जाए तो उससे 10 पेड़ लगवाने और उनके संरक्षण की भी गारंटी ली जाए। आज पेड़-पौधे, जगंल सब समाप्त हो रहे हैं। पहले बरगद, पीपल, आम आदि के काटने पर रोक होती थी पर अब यह रोक नहीं है, जिसके कारण आम की एक प्रजाति खत्म होने के कगार पर है।"

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Yogi started the scheme to plant 5.54 crores of trees
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: yogi started the scheme, plant 554 crores of trees, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, lucknow news, lucknow news in hindi, real time lucknow city news, real time news, lucknow news khas khabar, lucknow news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved