• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

UP: सपा और कांग्रेस का अहंकार विपक्षी एकता में बन रहा रोड़ा

UP: Arrogance of SP and Congress is becoming a hindrance in opposition unity. - Lucknow News in Hindi

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 'इंडिया' ब्लॉक की दो मुख्य पार्टी समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच एक-दूसरे को पछाड़ने की होड़ लगी हुई है, जिसके चलते एकता टूट रही है।

तीन राज्यों में सबसे पुरानी पार्टी की चुनावी हार के बाद, समाजवादी पार्टी ने खुद को उत्तर प्रदेश में गठबंधन की ड्राइविंग सीट पर मजबूती से स्थापित कर लिया है।

एक वरिष्ठ सपा नेता ने कहा, ''कांग्रेस को यूपी में गठबंधन के लिए कोई शर्त रखने का अधिकार नहीं है। हम भाजपा के लिए सबसे बड़ी चुनौती हैं और सीटों का बंटवारा किसी पार्टी की राजनीतिक प्रासंगिकता के अनुसार होगा।''

सपा प्रवक्ता फखरुल हसन चांद ने कहा कि यूपी में राजनीतिक परिदृश्य को देखते हुए, कांग्रेस केवल दो लोकसभा सीटों, संभवतः रायबरेली और अमेठी की हकदार थी।

उन्होंने उल्लेख किया कि कांग्रेस को अपने गलत निर्णयों के कारण मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हार का सामना करना पड़ा, जिससे 'इंडिया' गुट की एकता कमजोर हुई। हसन ने बताया कि यही कारण है कि भाजपा अब समय से पहले चुनाव कराने के लिए उत्सुक है।

फखरुल हसन ने बताया कि अधिक सीटें देने से अनजाने में बीजेपी को मदद मिलेगी और बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस को सपा के साथ जुड़ जाना चाहिए।

वरिष्ठ सपा नेता आईपी सिंह ने सोमवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर प्रियंका गांधी पर केंद्र में भाजपा के साथ समझौता करने का आरोप लगाया और विस्तार से बताया कि कैसे राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में उनकी पसंद के कारण भाजपा की जीत हुई और कांग्रेस पार्टी की हार हुई।

अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने खुलासा किया कि सपा कांग्रेस के लिए अधिकतम पांच सीटें छोड़ेगी।

उन्होंने कहा, ''यह सीट-बंटवारे की बातचीत की प्रकृति और दूसरे पक्ष के रुख पर निर्भर करेगा। हम जानते हैं कि हम एकमात्र पार्टी हैं जो यूपी में बीजेपी को चुनौती दे सकती हैं और 'इंडिया' ब्लॉक के अन्य सदस्यों को भी इस तथ्य को स्वीकार करना चाहिए।''

हालांकि, उन्होंने कहा कि एसपी विपक्षी गुट का हिस्सा बनी रहेगी और गठबंधन की अगली बैठक में भी शामिल होगी।

इस बीच, अखिलेश यादव ने कहा कि विधानसभा चुनाव खत्म हो चुके हैं इसलिए इस बारे में बात करने का कोई मतलब नहीं है।

कांग्रेस ने औपचारिक रूप से सीटों की कोई मांग नहीं रखी है लेकिन राज्य के नेताओं का कहना है कि वे अपनी राष्ट्रीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए सम्मानजनक हिस्सेदारी चाहेंगे।

कांग्रेस ने सपा के आरोपों को पूरी तरह से निराधार और अप्रासंगिक बताते हुए खारिज कर दिया और उनके आरोपों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

अब तक, दोनों पक्षों की ओर से मुद्दों को सुलझाने और उनके बीच तनाव कम करने के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया है।

हालांकि, दोनों पार्टियां निजी तौर पर इस बात पर सहमत हैं कि विधानसभा चुनावों के बाद भाजपा ने एक बड़ा मनोवैज्ञानिक लाभ अर्जित किया है, लेकिन वे आधिकारिक तौर पर इसे स्वीकार करने से इनकार करते हैं।

एक दिग्गज कांग्रेसी नेता ने कहा, ''भाजपा अब मतदाताओं को संदेश देगी कि वह अजेय है। सहयोगी दलों के बीच सीट बंटवारे का मसला सुलझने के बाद ही हम इसके खिलाफ अभियान चलाएंगे। हम भाजपा को हमारा मजाक उड़ाने का एक और मौका नहीं देना चाहते। तब तक उन्हें उनके स्वर्ग में रहने दो।''

सपा इस आधार पर खुद को गठबंधन के बिग बॉस के रूप में स्थापित करने की कांग्रेस पार्टी की कोशिश से सावधान है क्योंकि वह विपक्षी गुट में एकमात्र राष्ट्रीय पार्टी है। इस रुख ने यूपी के बाहर के क्षेत्रीय दलों को निश्चित रूप से असहज महसूस कराया है।

वरिष्ठ सपा नेता सुधीर पंवार ने कहा, ''उत्तर प्रदेश की पार्टियों के राज्य विधानसभा और लोकसभा सदस्यों में दलीय स्थिति पर नजर डालें। मेरी राय में, किसी विशेष क्षेत्र में किसी राजनीतिक दल की लोकप्रियता का आकलन करने का यह सबसे अच्छा तरीका है।''

यह एक मैसेज है जो कांग्रेस को 'इंडिया' ब्लॉक में अपनी स्थिति को लेकर परेशान कर रहा है।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-UP: Arrogance of SP and Congress is becoming a hindrance in opposition unity.
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: sp, congress, up, lucknow, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, lucknow news, lucknow news in hindi, real time lucknow city news, real time news, lucknow news khas khabar, lucknow news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved