• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 5

अधिवेशन में शामिल हुए विभिन्न धर्मों के रहनुमा और दलित सामाजिक नेता

लखनऊ। जमीअत उलेमा उत्तर प्रदेश द्वारा झूले लाल पार्क लखनऊ में तहफ्फुज मुल्क व मिल्लत कान्फ्रेंस शीर्षक से अधिवेशन अध्यक्ष जमीअत उलमा उत्तर प्रदेश मौलाना मुहम्मद मतीनुल हक़ उसामा क़ासमी की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। इस इज्लास में विभिन्न धर्मों के रहनुमा और दलित सामाजिक नेता शरीक हुए दूसरी तरफ हजारों उलेमा और बड़ी संख्या में पूरे प्रदेश से आये लोग शरीक हुए ।

इस इज्लास में, मुल्क और मिल्लत की वर्तमान स्थिति में कई महत्वपूर्ण हस्तियां शामिल हुईं। जिनमें विशेष रूप से दलित मुस्लिम संयुक्त खान-पान और उनके साथ सार्वजनिक रूप से एकजुटता व्यक्त करने के लिए उनके कार्यक्रमों में भाग लेने और उनके राष्ट्रीय पर्वों के स्वागत की घोषणा की गयी।

धर्म, संप्रदाय और जात समुदाय आधारित राजनीतिक सफ बंदी के खिलाफ सभी देशवासियों समेत मुसमलमानों को एक होने की अपील की गई। जमीअत ने साम्प्रदायिक चरमपंथ और भेदभाव को मुल्क और मिल्लत के लिए कठोर नुकसान करार दिया और सभी पंथों व मसलकों के अनुयायियों से अपील की गई वह वैचारिक मतभेदों को राष्ट्रीय एकता के रास्ते में नहीं आने दें और अपने मसलकों पर रहते हुए राष्ट्रीय और संयुक्त मुद्दों में एकता का प्रदर्शन करें।

इज्लास में मुस्लिम पर्सनल लॉ यानी विवाह , तलाक, खुला, विरासत आदि में किसी भी हस्तक्षेप की कड़ी निंदा की गई और तय किया गया कि जमीअत उलेमा हिंद शरीअत की हिफाजत के लिए प्रत्येक स्तर पर कार्यवाही करेगी और दीन में हस्तक्षेप कदापि बर्दाश्त नहीं करेंगे, और अंतिम सांस तक, शरीयत इस्लाम के संरक्षण से पीछे नहीं हटेगी।

जमीअत उलेमा हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि इंसान को अल्लाह ने ऐसा बनाया है कि अगर उसका दिल कमजोर हो जाए तो वह कमजोर हो जाता है और दिल मजबूत हो तो वह मजबूत रहता है। उन्होंने कहा कि निडर होना अद्भुत विषय है लेकिन इससे अधिक महत्वपूर्ण बात साबिर(सब्र करने वाला) होना है, उन्होंने कहा कि लोग यह समझते हैं कि अगर जवाब नहीं देंगे तो कायर कहलाएंगे और जवाब देंगे तो बहादुर कहलाएंगे, हालांकि ऐसा नहीं है, क्योंकि अल्लाह ने कुरआन में कहा कि वह सब्र करने वालों के साथ है।

उन्होंने कहा कि आज जो हालात खराब करने की कोशिश की जा रही है उसका उद्देश्य लोगों के दिलों में भय पैदा करना है, क्योंकि जब डर पैदा होता है तो वह गलती करता है, इसलिए यह तय कर लीजिए कि हम अपने दिलों से भय को निकाल देंगे उन्होंने कहा कि इस्लाम और उग्रवाद कभी एकत्र नहीं हो सकते। उन्होंने कहा कि हम इस देश में बाई चांस नहीं बल्कि हम बाई च्वाइस हैं, यह हमारा देश है, यह देश हमसे कोई नहीं छीन सकता। उन्होंने कहा कि हमारा डीएनए भारत का है और हम भारत के वास्तविक निवासी हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Legends and Dalit Social Leaders of Different Religions Involved in the Convention
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: जमीअत उलेमा उत्तर प्रदेश, तहफ्फुज मुल्क व मिल्लत कान्फ्रेंस, jamiat ulema uttar pradesh, tahffuj mulk and millat conference, legends, dalit social leaders, religions, jamiat ulema convention in lucknow, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, lucknow news, lucknow news in hindi, real time lucknow city news, real time news, lucknow news khas khabar, lucknow news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved