• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

आखिर CAA पर इतना बवाल क्यों है? हिंसा करने वालों को नहीं किया जाएगा माफ : योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिल्ली में हुई हिंसा पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि आखिर नागरिकता संशोधन कानून को लेकर इतना बवाल क्यों है? आगजनी कर निर्दोष लोगों को निशाना बनाकर वे लोग क्या चाहते हैं? इन्हें माफ नहीं किया जाएगा। विधानसभा के बजट सत्र के दौरान राज्यपाल के अभिभाषण पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा।

योगी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के नाम पर विरोध प्रदर्शन अनावश्यक है। यह नागरिकता देने का कानून है। प्रधानमंत्री बार-बार कह चुके हैं, इससे किसी से नागरिकता नहीं जाने वाली है। यह कानून 1955 में कांग्रेस सरकार ने बनाया था, इसमें सिर्फ नागरिकता देने के लिए 11 वर्ष की जगह 5 वर्ष का नियम किया गया है।

आखिर देश की छवि आप लोग क्यों खराब करना चाहते हैं? आगजनी कर निर्दोष लोगों को निशाना बनाकर वे लोग क्या चाहते हैं? इन्हें माफ नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे देश में सीएए के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। इससे समाज की अपूरणीय क्षति हो रही है। इसके लिए आने वाली पीढ़ी माफ नहीं करेगी। ये देश के संविधान के साथ धोखा कर रहे हैं। लोगों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-CAA Protest : CM Yogi Adityanath says, Intentions of miscreants will never be fulfilled
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: caa protest, cm yogi adityanath, intentions of miscreants, citizenship amendment act, yogi adityanath, uttar pradesh, up assembly, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, lucknow news, lucknow news in hindi, real time lucknow city news, real time news, lucknow news khas khabar, lucknow news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved