• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

बुंदेलखंड से चुनाव लड़ सकते हैं स्वतंत्र देव सिंह

Swatantra Dev Singh may contest from Bundelkhand - Jhansi News in Hindi

झांसी। उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा के चुनाव की तपिश अब बुंदेलखंड में भी महसूस की जाने लगी है। उम्मीदवारी को लेकर सबसे ज्यादा जोरआजमाईश भाजपा में है। यही कारण है कि यहां भाजपा कई नए चेहरों को मैदान में उतारने की तैयारी में है तो वहीं पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के लिए भी सुरक्षित सीट की तलाश की जा रही है। बुंदेलखंड में 19 विधानसभा सीटें आती हैं। इन सभी स्थानों पर वर्ष 2017 में हुए विधानसभा के चुनाव में भाजपा ने जीत दर्ज की थी, इसलिए भाजपा को वर्ष 2017 को दोहराना चुनौती बनता जा रहा है। इसकी वजह भी है क्योंकि कई विधायकों को लेकर असंतोष भी है।

इस इलाके में इन दिनों सबसे ज्यादा चर्चा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को लेकर है। वैसे वे है तो मिजार्पुर के मगर उनकी कार्य स्थली दशकों से बुंदेलखंड और उसमें भी जालौन जिला रहा है। वे यहां से एक बार भाग्य आजमा भी चुके हैं। उन्होंने वर्ष 2012 में कालपी से विधानसभा का चुनाव लड़ा था मगर हार उनके खाते में आई थी।

बुंदेलखंड उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के सात-सात जिलों को मिलाकर बनता है। उत्तर प्रदेश की कई विधानसभा सीटें ऐसी हैं जो मध्य प्रदेश से जुड़ी हुई तो है ही साथ में यहां के लोगों के रिश्ते नाते भी उनसे करीबी हैं। स्वतंत्र देव सिंह के लिए सबसे सुरक्षित सीट कौन होगी और उसमें मध्य प्रदेश क्या भूमिका निभा सकता है, इस पर पार्टी के भीतर मंथन चल रहा है। इतना तय है कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष केा चुनाव इसी इलाके से लड़ना है।

पार्टी के सूत्रों का दावा है कि प्रदेशाध्यक्ष बुंदेलखंड के ऐसे विधानसभा क्ष्ेात्र से चुनाव लड़ेंगे,पूरी तरह सुरक्षित है और पिछड़ा वर्ग के मतदाताओं की संख्या ज्यादा है। इसके लिए जालौन और झांसी की कुछ सीटों पर मंथन किया जा रहा है। झांसी जिले का गरौठा विधानसभा क्षेत्र ऐसा है जहां पिछड़ों की तादाद अच्छी खासी है और यहां से पिछले तीन चुनाव से इसी वर्ग का व्यक्ति चुनाव जीतता आ रहा है, इसके अलावा यहां ब्राह्मण वर्ग की भी अच्छी खासी आबादी है। इस वर्ग का वोट भी भाजपा केा मिलने की उम्मीद है। लिहाजा यहां से जो वर्तमान में भाजपा के विधायक जवाहर राजपूत है वह भी पिछड़े वर्ग से आते है और उनकी छवि साफ सुथरी है, जिसके चलते यहां जनता में नाराजगी भी नहीं है।

झांसी के गरौठा विधानसभा के स्वतंत्र देव सिंह के लिए प्राथमिकता में होने की एक और वजह है वह है कि यह विधानसभा जालौन लोकसभा क्षेत्र में आता है। इस क्षेत्र के लोगों से सिंह का सीधा संपर्क भी है। वहीं वर्तमान विधायक राजपूत केा दूसरी सीट पर शिफ्ट किया जाना भी आसान है। इसके साथ ही वर्ष 1957 के बाद हुए विधानसभा के चुनाव में एक-दो मर्तबा को छोड़कर ज्यादातर मौकों पर पिछड़े वर्ग के उम्मीदवार ही इस इलाके से जीते हैं।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Swatantra Dev Singh may contest from Bundelkhand
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: swatantra dev singh, bundelkhand, contesting elections, up elections, up assembly elections, up assembly elections 2022, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, jhansi news, jhansi news in hindi, real time jhansi city news, real time news, jhansi news khas khabar, jhansi news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved