• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

महात्मा गांधी के पदचिन्हों पर चलते हुए 15 साल हो गए, लेकिन फिर भी नहीं बदला देश

15 years have passed since Mahatma Gandhi footprints but still did not change the country - Ghaziabad News in Hindi

गाज़ियाबाद। आज के गांधी जी ... महात्मा गांधी के पदचिन्हों पर चलने वाले आज भी लाखों लोगों से आपकी मुलाकात होती होगी लेकिन आज जिस शख्स से हम आपको मिलवाने जा रहे हैं उन्होंने अपना पूरा जीवन ही महात्मा गांधी के पद चिन्हों पर चलने के लिए न्यौछावर कर दिया।


यह है डॉक्टर बापू गांधी महेश चतुर्वेदी जिनकी उम्र तकरीबन 70 वर्ष है और पिछले 15 सालों से डॉक्टर महेश चतुर्वेदी गांधी जी की वेशभूषा को धारण कर पूरे भारतवर्ष का भ्रमण कर रहे हैं ये ही वजह है कि इन्होंने अपने नाम बापू गांधी रख लिया। इनके एक हाथ में श्रीमद्भागवत गीता और एक हाथ में लाठी है और जबान पर रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम का गीत है यह गांधी जी के पद चिन्हों पर चलने के लिए लोगों को प्रेरित भी कर रहे हैं । जब हमने डॉक्टर महेश चतुर्वेदी से बात की तो इनका कहना है की 70 साल भारत को आजाद हुए हो गए लेकिन आज भी 70 साल की नीतियां नहीं बदली। अमीरी और गरीबी की रेखा कम नहीं हुई। जात पात कम नहीं हुई । यह सब वह बातें हैं जो गांधी जी करना चाहते थे। डॉक्टर महेश चतुर्वेदी का कहना है कि लोग भारत और पाकिस्तान के दो हिस्से में बैठने के लिए गांधीजी को जिम्मेदार बताते हैं। जबकि जवाहरलाल नेहरू और जिन्ना इसकी वजह से डॉक्टर महेश चतुर्वेदी का यह भी कहना है कि राष्ट्रपति के चुनाव को जनता द्वारा कराया जाना चाहिए। क्योंकि यह एक ऐसा पद है जिसको जनता को चुनना चाहिए ना कि राजनेताओं को चतुर्वेदी का कहना है कि अभी वह छत्तीसगढ़ गए और वहां पर स्थिति को देखकर बहुत परेशान हो गए । इस बात को लेकर वह नेताओं से भी मिले। डॉक्टर महेश चतुर्वेदी अपना ठिकाना राजघाट के पास बताते हैं। इनका कहना है राजघाट के पास गौशाला है । जहां पर यह कभी-कभी रुक जाते हैं वरना तो पूरा भारत ही इनका घर है और पूरे भारत के सभी लोग उनका परिवार है ।



उनका कहना है जिस समय भारत आजाद हुआ उस समय की विदेश नीति गांधी जी को पसंद नहीं थी और आज भी वहीं विदेश नीति कायम है, जिसका विरोध ये करते हैं साथ ही जात पात अमीरी गरीबी की रेखा भी बनी रहे। इसको खत्म करने के लिए इनका कहना है कि लगातार संघर्ष करते रहेंगे। आज डॉक्टर महेश चतुर्वेदी गाजियाबाद की डीएम मिनिस्ती एस से मिले और एक परिवार के लिए पैरवी की। इनका कहना है कि गाजियाबाद का एक परिवार आत्महत्या करने पर मजबूर है। उनकी मदद कीजिए डीएम ने इनसे शिकायत ली और मदद करने का आश्वासन भी दिया। डॉक्टर महेश चतुर्वेदी ने राष्ट्रपति चुनाव जनता की वोटों द्वारा चुना जाए। इसकी एक पीआईएल सुप्रीम कोर्ट में डाली है जिस पर 3 जुलाई को सुनवाई होनी है ।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-15 years have passed since Mahatma Gandhi footprints but still did not change the country
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: 15 years have passed, mahatma gandhi, footprints, but still did not change, country, ghaziabad, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, ghaziabad news, ghaziabad news in hindi, real time ghaziabad city news, real time news, ghaziabad news khas khabar, ghaziabad news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2021 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved