• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 4

Ayodhya Verdict : सुप्रीम कोर्ट ने विवादित स्थल रामलला का माना, CM योगी बोले- खत्म हुआ भगवान राम का वनवास

अयोध्या/नई दिल्ली। देश का सबसे चर्चित और विवादित अयोध्या के रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले फैसला सुना दिया है। अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया कि वह राम मंदिर निर्माण के लिए तीन महीने में ट्रस्ट बनाए। सात दशक पुराने जमीन विवाद पर पांच जजों द्वारा सर्वसम्मति से लिए गए फैसल में शीर्ष अदालत ने मामले में एक पक्षकार रहे सुन्नी वक्फ बोर्ड को वैकल्पिक तौर पर मस्जिद निर्माण के लिए अलग से 5 एकड़ जमीन देने का भी आदेश दिया है।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की पीठ ने 16 अक्टूबर को इस विवादास्पद मुद्दे पर अपनी सुनवाई पूरी की थी। पीठ के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति एस.ए. बोबडे, न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति एस.ए. नजीर शामिल हैं। शीर्ष न्यायालय ने 2010 के इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को पलटते हुए कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड और निर्मोही अखाड़े को जमीन देना का निर्णय गलत था। अदालत ने कहा कि जमीन विवाद में मालिकाना हक केवल एक ही वैध पक्ष को दिया जा सकता है।



अपडेट...
- यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर कहा कि देश के सबसे पुराने मामले में फैसला देने के लिए सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करता हूं। उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा से अयोध्या की उपेक्षा होते देखी है, मानो भगवान राम के लिए कोई वनवास हो, अब अयोध्या को फिर से पुराना वैभव हासिल हुआ है। इसकी चमक पूरी दुनिया में बिखरने जा रही है।

- कोर्ट के फैसले पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने कहा, मैं आज अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय संविधान पीठ द्वारा दिए गए ऐतिहासिक फैसले का तहे दिल से स्वागत करता हूं।


- सैयद अहमद बुखारी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले को हम स्वीकार करते हैं, उम्मीद है देश विकास की ओर बढ़ेगा।

- सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कहा कि अयोध्या फैसले का स्वागत करते हैं। इस फैसले का सुप्रीम कोर्ट में चुनाैती नहीं देंगे।


-कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हुए आपसी सद्भाव बनाए रखें।
-जामा मस्जिद के शाही इमाम ने अयोध्या पर फैसले का समर्थन किया

-अयोध्या के फैसले पर अजमेर शरीफ़ दरगाह के दीवान सैयद ज़ैनुल आबेदीन ने कहा कि यह किसी की जीत या हार नहीं है। हमें सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को स्वीकार करना चाहिए। जो कुछ भी हुआ है, वह राष्ट्र के हित में है और हमें विवाद का अंत यहीं करना चाहिए।


-एआइएमआइएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि वो अयोध्या पर फैसले से संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट वास्तव में सर्वोच्च है लेकिन अचूक नहीं है। हमें संविधान पर पूरा भरोसा है, हम अपने हक के लिए लड़ रहे थे, हमें दान के रूप में 5 एकड़ जमीन की जरूरत नहीं है। हमें इस 5 एकड़ भूमि के प्रस्ताव को अस्वीकार करना चाहिए।



- योग गुरु रामदेव ने अयोध्या पर आए फैसले को ऐतिहासिक बताया और सभी से शांति बनाए रखने की अपील की। उन्होंने लोगों से कहा कि देश में माहौल खराब न होने दें। योग गुरु ने कहा कि इस फैसले के बाद अब अयोध्या में भव्य मंदिर बनेगा। उन्होंने यह भी कहा कि मस्जिद निर्माण में हिंदुओं को भी आगे आना चाहिए।

- आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि अयोध्या विवाद का फैसला देर आया लेकिन दुरस्त आया है। राममंदिर का भव्य मंदिर बनाया जाएगा। सदियों पुरानी परंपरा काे बनाए रखना चाहिए।


-प्रधानमंत्री नरेन्द्र माेदी ने ट्वीट करके अयोध्या फैसले पर कहा कि सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है:। यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है। हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया। न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया। देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें।


- भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने कहा है कि ये फैसला बहुत ही अच्छा रहा है। यह फैसला एक भारत और श्रेष्ठ भारत हो गया है। भारत अब विकास के नए सौंपान तय करेंगे।


- गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि मैं सभी समुदाय और वर्ग को फैसले का स्वागत करना चाहिए। साथ ही कहा कि एक भारत और श्रेष्ठ भारत।
-सुन्नी वर्क्फ बोर्ड के जफरयाब जिलानी ने कहा है कि हम इस फैसले से संतुष्ट नहीं हैं। हम इसके बारे में बाद मैं फैसला लेंगे। उन्होंने कहा कि हमें इलाहाबाद कोर्ट के माध्यम से जो जमीन दी गई थी उसे भी सुप्रीम कोर्ट ने राममंदिर के निर्माण के लिए दे दी।


-बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने फैसले पर कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आज से हिन्दू-मुस्लिम विवाद का अंत हो गया है। मैं फैसले से संतुष्ट हूं।

-केन्द्र सरकार ट्रस्ट बनाकर राममंदिर बनाएगी।
- सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष के सुन्नी समाज को पांच एकड़ जमीन राज्य सरकार को उपलब्ध कराने के आदेश दिए हैं।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Ayodhya Verdict Live Updates: Ayodhya dispute verdict will come today
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: ayodhya verdict, ayodhya dispute verdict, ayodhya case, ram janmbhoomi and babri masjid, justices s a bobde, sunni central wakf board, ayodhya ram mandir, ram mandir, supreme court, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, faizabad news, faizabad news in hindi, real time faizabad city news, real time news, faizabad news khas khabar, faizabad news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved