• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

भारतीय दूतावास की पैरवी पर सऊदी अरब की जेल से रिहा हुए 5 कामगार

अमरीष मनीष शुक्ला, इलाहाबाद। यूपी के कौशांबी जिले से सऊदी अरब कमाने गये पांच कामगार उस वक्त भारी मुसीबत में फंस गये। जब उन्हे उनके साथी की हत्या के जुर्म में सऊदी की जेल में डाल दिया गया। हालांकि परिजनों तक खबर पहुंचने के बाद विदेश मंत्रालय से संपर्क किया गया। तो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आश्वासन दिलाया। सऊदी अरब में मौजूद भारतीय दूतावास ने भारतीय कामगारों को जेल से निकालने के लिये अपना प्रयास शुरू किया। लेकिन बावजूद इसके सऊदी के कड़े कानून से बचाना बेहद मुश्किल लग रहा था। लेकिन भारत की बढती साख का असर साफ तौर पर देखने को मिला। और आखिरकार 33 दिन बाद पांचों भारतीय कामगारों को जेल से रिहा कर दिया गया। अब सभी को हिंदुस्तान ले आने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है। खबर कौशांबी पहुंचने के बाद परिजनों ने भी राहत की सांस ली है।


क्या था मामला
कौशांबी के खोंपा निवासी मसरूर अहमद, मो. मोहसिन, मो. साकिब, फैजान व करारी निवासी मो. शमीम सऊदीअरब नौकरी के लिये गये थे। वहां इन्हे रियाद शहर में काम मिला। सभी अलशिफा में रहने लगे और यही से काम पर आते जाते थे। इनकी बिल्डिंग में लखनऊ का एजाज भी रहता था। 28 जून को एजाज छत से कूद गया और उसकी मौत हो गई। यह आत्महत्या थी। लेकिन इसे हत्या मानकर सऊदी अरब की पुलिस ने पांचों भारतीय कामगार समेत बांग्लादेश के एक युवक को भी जेल में डाल दिया। इन सब पर एजाज की हत्या का चार्ज लगाया गया।

शुरू हुआ रिहाई का अभियान
मसरूर अहमद, मोहम्मद मोहसिन, मो. साकिब, फैजान और शमीम को जेल में डाल दिये गये और इसकी सूचना कौशांबी पहुंची तो मातम शुरू हो गया। क्योंकि सऊदी की जेल का मतलब था। दुबारा हिंदुस्तान वापसी न होना। लेकिन उसी समय सऊदी में काम कर रहे कौशांबी के ही सराय अनिल निवासी रईस अहमद को हुई।तो उसने तत्काल भारतीय दूतावास से संपर्क किया और पूरी स्थिति बताते हुये मदद मांगी।

इधर कौशांबी से परिजनों ने शाहिद अंसारी के साथ विदेश मंत्रालय से मदद मांगी। भारतीय दूतावास ने प्रकरण की अपने स्तर पर जांच कराई और भारतीयों को जेल से छुड़ाने के लिये कोशिश शुरू कर दी। सऊदी अरब सरकार पर भारत ने अपने कद का दबाव बनाया और फिर अरब पुलिस ने 33 दिन बाद पांचों भारतीयों को जेल से रिहा कर दिया गया। जांच में बताया गया कि एजाज मनोरोगी था और उसने छत से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। इसमें भारतीय कामगारों का कोई हाथ नहीं था।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-five workers released from prison in Saudi Arabia on lobby of Indian embassy
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: five workers released, prison in saudi arabia, lobby of indian embassy, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, allahabad news, allahabad news in hindi, real time allahabad city news, real time news, allahabad news khas khabar, allahabad news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved