• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

पन्नीरसेल्वम बोले,धर्मयुद्ध में पहली जीत,न्याय के लिए लडते रहेंगे

चेन्नई। तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने बुधवार को कहा कि एआईएडीएमके के प्रतिद्वंद्वी गुट के दो नेताओं वीके शशिकला तथा उनके भतीजे टीटीवी दिनाकरण को पार्टी से निकाला जाना धर्मयुद्ध में उनकी पहली जीत है और अब दोनों गुट सुलह वार्ता करेंगे। दिनाकरण ने कहा है कि पार्टी में हर किसी ने उन्हें पार्टी मामलों से अलग रखने का फैसला किया है, इसलिए उन्होंने पार्टी से दूर रहने का फैसला किया।

पन्नीरसेल्वम ने कहा कि न्याय के लिए लडाई तब तक जारी रहेगी, जब तक मूल उद्देश्य की प्राçप्त नहीं हो जाती। उनकी यह टिप्पणी तमिलनाडु के वित्तमंत्री डी जयकुमार द्वारा मंगलवार रात उस घोषणा के बाद आई, जिसमें उन्होंने कहा था कि पार्टी नेताओं ने पार्टी की महासचिव शशिकला और उपमहासचिव दिनाकरण और उनके परिवार के अन्य सदस्यों को पार्टी से निकालने का फैसला किया है।

पन्नीरसेल्वम ने दोहराया कि एआईएडीएमके के संस्थापक व पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन तथा पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता ने पार्टी का नेतृत्व कार्यकर्ताओं के आंदोलन के रूप में किया था। जयललिता के निधन के बाद एआईएडीएमके शशिकला परिवार के हाथों में चली गई। पार्टी को उस परिवार के चंगुल से छुडाना न्याय की लडाई है। उन्होंने कहा कि अब पार्टी के दोनों गुट एक होने के लिए बातचीत करेंगे और पार्टी के सदस्यों की इच्छा के आधार पर फैसला किया जाएगा।

जयकुमार ने गुरूवार रात कहा था कि पार्टी के संचालन के लिए एक समिति गठित की जाएगी। एआईएडीएमके प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद पिछले वर्ष दिसंबर में पार्टी की महासचिव चुनी गईं शशिकला इस समय भ्रष्टाचार के मामले में जेल में हैं। इससे पहले दिन में दिनाकरण ने कहा कि चूंकि सभी चाहते हैं कि वह पार्टी से बाहर रहें, इसलिए उन्होंने भी पार्टी से दूर रहने का फैसला किया है।

दिनाकरण ने आरोप लगाया कि राज्य के मंत्री उन्हें किसी तरह के डर के चलते पार्टी से बाहर करना चाहते हैं। उन्होंने पत्रकारों से कहा,किसी अज्ञात भय के चलते मंत्रियों ने यह फैसला किया है। उन्होंने कहा कि वह जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेंगे और ऎसा कोई कदम नहीं उठाएंगे, जिससे पार्टी तथा सरकार को नुकसान पहुंचे। दिनाकरण ने कहा,मुझे पार्टी या सरकार से कुछ नहीं चाहिए। उनके इस्तीफे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि पार्टी के उप महासचिव पद पर उनकी नियुक्ति शशिकला ने की थी और उनसे बातचीत करने के बाद ही वह अपने पद से इस्तीफा देंगे। फरवरी महीने में जेल जाने से पहले शशिकला ने दिनाकरण को पार्टी के उप महासचिव के पद पर ताजपोशी की थी।

दिनाकरण ने राज्य विधानसभा का सदस्य बनने के प्रयास के तहत आरके नगर विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव लडने का फैसला किया, जो 15 अप्रैल को होना था। पार्टी के चुनाव चिन्ह पर एआईडीएमके के दोनों गुटों के दावे से उपजे विवाद के कारण निर्वाचन आयोग ने पार्टी के चुनाव चिन्ह दो पत्ती को जब्त कर लिया था।


अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-pannerselvam triumphant, will now talk truce with rival faction of AIADMK
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: pannerselvam, ops, triumphant, truce, rival faction, sasikala, dinakaran, aiadmk, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, chennai news, chennai news in hindi, real time chennai city news, real time news, chennai news khas khabar, chennai news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved