• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

उदयपुर : डीएसपी पर बदतमीजी का आरोप लगाने वाला कॉन्स्टेबल सस्पेंड

Udaipur. Constable suspended for accusing DSP of misbehavior - Udaipur News in Hindi

Editor's comment : इस प्रकार के मामले में पारदर्शिता और निष्पक्षता सुनिश्चित करना आवश्यक है। विभागीय जांच में निष्पक्षता बरतते हुए सभी पहलुओं को ध्यान में रखना चाहिए। अगर कोई उच्च अधिकारी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होनी चाहिए, ताकि सभी कर्मचारियों को न्याय मिल सके और पुलिस विभाग में अनुशासन और नैतिकता बनी रहे।


यहां से पढ़िए पूरी खबर

उदयपुर। उदयपुर में ट्रैफिक डीएसपी पर बदतमीजी का आरोप लगाने वाले कांस्टेबल आशाराम मीणा को सस्पेंड कर दिया गया है। मई महीने के अंतिम सप्ताह में कांस्टेबल ने डीएसपी नेत्रपाल सिंह पर आरोप लगाते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया था। इसके बाद पुलिस अधीक्षक (SP) योगेश गोयल ने कार्रवाई करते हुए कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया।

क्या है पूरा मामला?

कांस्टेबल आशाराम मीणा का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें डीएसपी नेत्रपाल सिंह पर आरोप लगाया था कि वे गर्मी में उनसे ड्यूटी करवाते हैं और गाली-गलौज करते हैं। वीडियो में कांस्टेबल ने कहा, "डीएसपी गर्मी में 45 डिग्री तापमान में खड़े रहने को मजबूर करते हैं। इसके बावजूद भी हम अपनी ड्यूटी पूरी कर रहे हैं, लेकिन हमें गाली-गलौज की जाती है। डीएसपी का नैतिक स्तर काफी गिरा हुआ है और वे हमारे साथ व्यक्तिगत दुश्मनी निकाल रहे हैं।"

एसपी का आदेश

उदयपुर एसपी योगेश गोयल ने कांस्टेबल पर कार्रवाई करते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया है। आदेश में कहा गया है कि कांस्टेबल आशाराम मीणा के खिलाफ विभागीय जांच अपेक्षित है। इस कारण से उन्हें चौराहों पर ट्रैफिक व्यवस्था के काम से हटाकर उदयपुर में रिजर्व पुलिस लाइन भेजा गया है। सस्पेंड होने की अवधि में कांस्टेबल को आधा वेतन मिलेगा।

डीएसपी ने आरोपों को बताया गलत

डीएसपी नेत्रपाल सिंह ने कांस्टेबल के आरोपों को खारिज करते हुए कहा, "जहां ड्यूटी लगेगी, वहां काम तो करना ही पड़ेगा। यह कांस्टेबल काम नहीं करना चाहता है, इसलिए ऐसे आरोप लगा रहा है।"

छोटे कर्मचारियों पर ही क्यों होती है कार्रवाई?

यह एक महत्वपूर्ण प्रश्न है कि अक्सर कार्रवाई छोटे कर्मचारी पर ही क्यों होती है। इस मामले में भी देखा गया है कि आरोप लगाने वाले कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया, जबकि आरोपित डीएसपी के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई। यह सवाल उठता है कि क्या उच्च अधिकारियों पर कार्रवाई से बचा जाता है? क्या छोटे कर्मचारियों को ही अक्सर बलि का बकरा बनाया जाता है?


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Udaipur. Constable suspended for accusing DSP of misbehavior
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: udaipur, constable, suspended, accusing, dsp, misbehavior, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, udaipur news, udaipur news in hindi, real time udaipur city news, real time news, udaipur news khas khabar, udaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved