• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

रिश्वत मामले में फरार थानाधिकारी केस में चौंकाने वाला खुलासा : पुलिस तस्करों की बजाय सूचना देने वाले व्यक्तियों को ही कर रही थी ब्लैकमेल

Shocking revelation in the police officer absconding in bribery case: Police was blackmailing only the people who gave information instead of smugglers. - Udaipur News in Hindi

- फंसाने की धमकी देकर मांगे थे आठ लाख रुपए

उदयपुर । रिश्वत के मामले में फरार फतहनगर थानाधिकारी सुरेश चंद मीणा के मामले में चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है। पुलिस तस्करों पर कार्रवाई करने की बजाय सूचना देने वाले व्यक्तियों को ही ब्लैकमेल कर रही थी। उन्हें फंसाने की धमकी देकर आठ लाख रुपए ऐंठने की कोशिश की थी। इसकी शिकायत मिलते ही एसीबी ने कार्रवाई की और थानाधिकारी के बेटे को साढ़े चार लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

एसीबी सूत्रों ने बताया कि उदयपुर की पॉलीमर्स फैक्ट्री नियमित विजिट पर आने वाले निखिल सिंह की संदिग्ध पैकेट के लेन—देन की शिकायत शाह पॉलीमर्स के सुनील पाटिल तथा हेमंत झा ने डबोक थाना पुलिस को शिकायत की थी। जिस पर हैड कांस्टेबल महावीर प्रसाद ने मामला दर्ज किया, जो स्वयं भी रिश्वत मामले में थानाधिकारी के साथ फरार है।

मादक पदार्थ की तस्करी से जुड़ा मामला होने पर इसकी जांच नजदीकी फतहनगर थानाधिकारी सुरेश चंद्र मीणा को सौंपी गई थी। जिन्होंने आरोपियों को पकड़ने की बजाय पुलिस को सूचित करने वाले सुनील तथा हेमंत झा को परेशान करना शुरू कर दिया। यहां तक उन्हें ही आरोपी बनाकर मामले में फंसाने की धमकी देकर आठ लाख रुपए की रिश्वत मांगी।

इधर, एसीबी की जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि मादक पदार्थ की तस्करी को लेकर जिस कार की जानकारी शिकायतकर्ता ने पुलिस को की थी और उसी से 458 ग्राम अफीम बरामद हुई। ना तो उसे जब्त किया और ना ही उसके चालक निखिल सिंह के खिलाफ कार्रवाई की। जबकि शिकायत इसी निखिल सिंह के खिलाफ मिली थी, जिकसे खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, हालांकि वह उसे थाने लाई पूछताछ के बाद छोड़ दिया। शिकायत और दर्ज एफआईआर में काफी फेरबदल के चलते आशंका जताई जा रही है कि इस मामले में पुलिस का तस्करों के बीच गठजोड़ संभव है।

इधर, जिला पुलिस अधीक्षक भुवन भूषण यादव का कहना है कि ऐसी जानकारी उन्हें अभी नहीं मिली है। वह अपने स्तर पर जांच करा रहे हैं और यदि शिकायत सही पाई गई तो संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होगी। गौरतलब है कि सोमवार को एसीबी ने जब थानाधिकारी के मकान की तलाशी ली तो उसके घर से एक अवैध रिवाल्वर तथा गोलियां बरामद हुई थीं, जिसको लेकर पुलिस ने आर्म्स एक्ट के तहत अलग से मामला दर्ज किया है।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Shocking revelation in the police officer absconding in bribery case: Police was blackmailing only the people who gave information instead of smugglers.
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: shocking revelation, in the police officer, absconding, in bribery case, police was blackmailing, only the people, who gave information, instead of smugglers, udaipur, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, udaipur news, udaipur news in hindi, real time udaipur city news, real time news, udaipur news khas khabar, udaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved