• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 4

सरकारी स्कूलों और मदरसों में लटका मिला ताला, क्यों? पढ़े...

टोंक। राज्य की भाजपा शासित सरकार द्वारा सरकारी स्कूलों एवं मदरसों में बच्चो को दिए जा रहे पोषाहार एवं गर्म दूध सहित कई सुविधाओं का विधायक अजीतसिंह मेहता ने विभागीय अधिकारियों के साथ औचक निरीक्षण किया। इस दौरान एक मदरसे में तो ताला लगा मिला, वहीं दो मदरसों में न तो बच्चे थे न ही पोषाहार। इतना ही नहीं एक मदरसे में तो अभी तक बच्चों के दूध के लिए गिलास और बर्तन भी नहीं खरीदे गए। तीन मदरसों में मिली अनियमितता से नाराज विधायक ने मदरसों के सदर को फटकारते हुए कहा कि सरकारी सुविधाओं का लाभ पात्र बच्चों तक पहुंचे, इसमें कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। विधायक की ओर से मदरसो का औचक निरीक्षण करने से मदरसा संचालकों में खलबली मच गई, वहीं मदरसा पैराटीचरों में भी हड़कंप मच गया, जो समय से पूर्व ही मदरसा पर ताले लगाकर चले जाते थे।

विधायक अजीतसिंह मेहता बुधवार को जिला अल्पसंख्यक अधिकारी भैरूंलाल शर्मा, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी नादान सिंह गुर्जर एवं संबंधित विभागीय प्रतिनिधि सुरेश बुन्देल के साथ पुरानी टोंक स्थित मदरसा काजी उल इस्लाम पहुंचे, वहां एक भी बच्चा नहीं था, जबकि 75 बच्चे नामांकित थे। इनमें से 52 बच्चों की उपस्थित दर्शा रखी थी, लेकिन दोपहर 2 बजे तक का समय होने के बावजूद बच्चों की साढ़े बारह बजे ही छुट्टी कर दी गई। वहीं मदरसा में रिकॉर्ड भी पूरा नहीं मिला। इतना ही नहीं दूध की खरीद के लिए सरस डेयरी के बूथ से अनुबंध किया जाना था, जो किसी दुकानदार से किया गया था, जिसमें दुकानदार के साइन भी नहीं थे। वहीं बर्तनों एवं दूध का भुगतान नकद किया गया था, जबकि नियमों के मुताबिक चेक द्वारा भुगतान किया जाना था।

विधायक अजीतसिंह मेहता मोहल्ला छावनी स्थित डिस्पेंसरी के पास संचालित मदरसा का औचक निरीक्षण करने पहुंचे तो वहां ताल लगा मिला, वहां मदरसा का नाम भी नहीं लिखा था। आस पड़ोस के लोगों से पूछताछ की गई तो मदरसा होने की जानकारी नहीं होना बताया गया। मदरसा की बिल्डिंग की जानकारी अधिकारियों तक को नहीं थी, बमुश्किल पूछताछ के बाद मदरसा का पता लगाया गया। इसके बाद विधायक अजीत सिंह मेहता बस स्टैंड रोड स्थित मदरसा अबू उफेजा पहुंचे तो वहां भी कोई बच्चा नहीं मिला, न ही कोई मदरसा पैराटीचर मिले। इतना ही नहीं वहां पोषाहार भी नहीं था और दूध की व्यवस्था भी नहीं थी, जबकि बुधवार को 51 बच्चो की उपस्थिति दर्ज की गई थी। वहीं इस मदरसा में बर्तनों की खरीद के लिए चार हजार रुपए दिए गए थे, लेकिन पैसों का उपयेाग ही नहीं किया गया। मदरसा में सफाई भी नहीं की गई थी। इतना ही नहीं कमरे भी कबाड़खाना बने हुए थे। कक्षा में कपड़े सूख रहे थे।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-tonk news : government schools and madrasa Got locked during inspection of mla ajit mehta
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: tonk news, government schools in tonk, madrasa in tonk, lock, inspection of mla ajit mehta, tonk mla ajit mehta, tonk hindi news, tonk latest news, rajasthan hindi news, rajasthan government, टोंक समाचार, राजस्थान समाचार, राजस्थान सरकार, टोंक विधायक अजीतसिंह मेहता, सरकारी स्कूल, मदरसे, पोषाहार, गर्म दूध, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, tonk news, tonk news in hindi, real time tonk city news, real time news, tonk news khas khabar, tonk news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved