• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 5

रसों का सागर है महारास : आचार्य शास्त्री

जयपुर। प्रतापनगर सेक्टर 8 के वीर हनुमान मंदिर में चल रहे श्रीमद‌्‌भागवत कथा त्रिवेणी संगम में सोमवार को रुक्मणी विवाह प्रसंग पर आचार्य शिवरतन शास्त्री ने प्रवचन किए। उन्होंने कहा कि रसों का सागर ही महारास है। अर्थात प्रेम, भक्ति का अंतिम फल है रास। रास में वही प्रवेश कर सकता है, जिसके पास शुद्ध अनुराग है। क्योंक भगवान रास से नहीं अनुराग से मिलते हैं।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-The sea of Rasoo is Maharas: Acharya Shastri
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jaipur news, lord krishna, holy to yamuna, acharya shivratan shastri, shrimad bhagwat katha, shri veer hanuman tempal, pratap nagar, sanganar, pandit shivratan shastri, jaipur hindi news, jaipur latest news, rajasthan hindi news, religious news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved