• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

प्रदेश में नशे से पीड़ित व्यक्तियों का घर-घर जाकर होगा सर्वे

जयपुर। प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव जे.सी.महान्ति ने कहा कि राजस्थान में नशे से पीड़ित व्यक्तियों का विभिन्न विभागों, पुलिस, छात्र-छात्राओं, स्कॉउट गाईडों, नेहरू युवा केन्द्र, एन.एस.एस, स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से घर-घर जाकर सर्वे किया जायेगा।
महान्ति ने शुक्रवार को शासन सचिवालय में राष्ट्रीय समाज रक्षा संस्थान एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, भारत सरकार द्वारा नशे से पीड़ित व्यक्तियों का सर्वे के लिए राज्य स्तरीय विचार विमर्श के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने नशे की लत की समस्या को गम्भीर बताते हुए कहा कि राजस्थान में पंजाब जैसी स्थिति नहीं होने दी जायेगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के गंगानगर एवं हनुमानगढ़ जिले में पंजाब जैसी नशे की लत की बीमारी पैदा नहीं हो, इसके लिए सभी को मिलकर काम करने पर जोर दिया और इस तरह की स्थिति से निपटने के लिये विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिये।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि भारत सरकार के अलावा राजस्थान सरकार द्वारा भी नशे की लत से पीड़ित व्यक्तियों का सर्वे कराया जायेगा।

पुलिस विभाग की कांस्टेबल बीट की तर्ज पर पुलिस, राजस्व, पंचायत, शिक्षा, एन.एस.एस., नेहरू युवा केन्द्र, चिकित्सा विभाग, स्काउट-गाईड आदि के सहयोग से घर-घर जाकर नशे से पीड़ित व्यक्तियों का सर्वे किया जायेगा।


महान्ति ने प्रदेश में नशे के प्रभाव वाले जिलों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि प्रदेश के सभी कॉलेजों, स्कूलों एवं कोचिंग संस्थानों के एक करोड़ बच्चों को विभिन्न तरह के नशे के होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक करने के लिए संगोष्ठी, सेमीनार एवं प्रार्थना सभा में जानकारी दें।

उन्होंने बताया कि स्काउट गाईड के बच्चों द्वारा विशेष अभियान चलाकर प्रदेश में 10 लाख लोगों को विभिन्न तरह के नशे से दूर रहने के लिए जागरूक करने का बीड़ा उठाया है। पुलिस कांस्टेबल बीट के साथ 10-10 बच्चे भी नशे से पीड़ित व्यक्तियों के सर्वे करने में सहयोग करेंगे।

उन्होंने जयपुर एवं कोटा शहर में संचालित कोचिंग संस्थानों में कोचिंग करने वाले बच्चों को नशे से दूर रहने के लिए विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओें को जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने पर जोर दिया।

बैठक में भारत सरकार के आये प्रतिनिधि डॉ. आलोक अग्रवाल ने पावर पॉइन्ट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से प्रदेश में नशे से पीड़ित व्यक्तियों का किये जाने वाले सर्वे की विस्तार से जानकारी देते हुए बतायाकि रैण्डम सिस्टम से नशे से पीड़ित व्यक्तियों का सर्वे किया जायेगा। सर्वे के दौरान नशे के प्रकार, नोडल एजेन्सी, सर्वे कार्य दिशा निर्देश विभिन्न बिन्दुओं पर विशेष ध्यान रखा जायेगा। इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक डॉ. समित शर्मा ने सभी विभागों के उपस्थित अधिकारियों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को नशे से पीड़ित व्यक्तियों के सर्वे के सक्रिय सहयोग देने के साथ व्यापक प्रचार प्रसार के लिए जागरूकता अभियान चलाने को कहा।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Survey from house to house in the state of intoxication of people with intoxication
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: additional chief secretary jc mohanty, director dr samit sharma, department of social justice and empowerment, rajasthan news, rajasthan hindi news, jaipur hindi news, jaipur news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved