• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

कस्तूरबा आवासीय विद्यालय अब छठी से 12वीं तक होंगे संचालित

जयपुर। शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि राज्य सरकार नामांकन के आधार पर अब राजकीय विद्यालयों को प्रतिवर्ष 25 हजार रूपये की ग्रांट प्रदान करेगी। इससे विद्यालयों में मरम्मत, साफ-सफाई तथा अन्य आवश्यक कार्य करवाए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कम्प्यूटर शिक्षा को प्रोत्साहन के तहत 5 हजार 500 नए विद्यालयों में आईसीटी लैब की स्थापना की जायेगी। समग्र शिक्षा अभियान के तहत राज्य में शैक्षिक नवाचारों को बढ़ावा देते हुए प्रदेश में शिक्षा का तेजी से विकास किया जाएगा।

देवनानी सोमवार को शिक्षा संकुल स्थित सभाकक्ष में आयोजित मुख्यमंत्री सलाहकार शिक्षा उप समूह समिति की 8 वीं समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने बताया कि राज्य में कस्तूरबा गॉंधी आवासीय विद्यालय अब कक्षा 6 से 12 वीं तक संचालित किये जाएंगे। पहले यह कक्षा 6 से 8 तक संचालित किए जाते थे। उन्होंने प्रदेश में सर्व शिक्षा एवं माध्यमिक शिक्षा अभियान के स्थान पर चलने वाले समग्र शिक्षा अभियान की चर्चा करते हुए कहा कि इसके तहत राजस्थान को देश का उत्कृष्ट शैक्षिक राज्य स्थापित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि समग्र शिक्षा अभियान में शिक्षण में नवचारों को अपनाते हुए विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास तथा शिक्षकों के प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि समग्र शिक्षा अभियान से राज्य में प्रारंभिक और माध्यमिक शिक्षा को और अधिक बेहतर ढंग से क्रियान्वित किया जा सकेगा। इसके तहत ब्लॉक लेवल, जिला लेवल एवं राज्य स्तर पर शिक्षकों के प्रशिक्षण कार्यक्रमों को और अधिक सुदृढ़ करते हुए यह सुनिश्चित किया जाएगा कि व्यवहार में विद्यार्थियों को शिक्षक प्रशिक्षण का लाभ मिले।

देवनानी ने बताया कि 38 हजार आंगनबाड़ी केन्द्रों के तहत प्री-प्राईमरी स्कूलों की पहल राजस्थान की की गयी है। राज्य में पहली बार 1 हजार 500 नर्सरी ट्रेंड शिक्षकों को आंगनबाड़ी केन्द्रों पर नियुक्त किया गया है। एनसीईआरटी मानदडो के आधार पर प्री-प्राईमरी विद्यालयों को प्रदेश में विकसित किया जाएगा। उद्देश्य यही है कि विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों की नींव सुदृढ़ हो। उन्होंने बताया कि यह राजस्थान के लिए गौरव की बात है कि देश की नवीन तैयार शिक्षा नीति में राजस्थान के प्रस्तावों को सम्मिलित किया गया है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में अपनाए गए शैक्षिक नवाचारों, राष्ट्रीय सर्वेक्षण में राजस्थान की शानदार उपलब्धियॉ ंके आधार पर आज देशभर में राजस्थान शिक्षा मॉडल की चर्चा हो रही है। इसके लिए उन्होंने टीम एजूकेशन को बधाई दी।

शिक्षा मंत्री ने बताया कि विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथममिकता है। राज्य सरकार ने यह तय किया है कि विद्यार्थियों को बेहतर से बेहतर शिक्षा प्रदान की जाए। इसके कारण ही राजकीय विद्यालयों का परीक्षा परिणाम इस बार निजी विद्यालयों के मुकाबले अधिक बेहतर आया है। उन्होंने बताया कि राज्य के विद्यालयो में शैक्षिक सुविधाओं के विकास के साथ ही वहां पुस्तकालयों को भी विशेष रूप से विकसित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बीएसटीसी के तहत प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले 1 लाख 78 हजार 861 शिक्षकों को विद्यालयों में शिक्षण से जोड़ने की राज्य सरकार ने महत्ती पहल की है। इससे विद्यालयों में सभी स्तरों पर शिक्षकों की कमी को पूरा किया गया है। इस पहल की देशभर में सराहना हुई है। उन्होंने ग्राम पंचायतों में पीईईओ लगाए जाने, विद्यालयों के एकीकरण और आदर्श एवं उत्कृष्ट विद्यालयों के तहत शिक्षा प्रसार के हुए कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि इनसे राजस्थान देशभर में आज अग्रणी शिक्षा राज्य के रूप में स्थापित हुआ है। राजस्थान के शि़क्षा मॉडल की चर्चा देशभर में होने लगी है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Rajasthan: Kasturba Residential School will operate from Class 6 th to 12th
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: drjogaram, rajasthan primary education council, commissioner, minister of education, vasudev devanani, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved