• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

शबद गायन और सतनाम वाहे गुरु नाटक से जेकेके में साकार हुई पंजाबी संस्कृति

जयपुर। जवाहर कला केंद्र में गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के उपलक्ष्य में रविवार शाम को 'हर सिमरन' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जेकेके द्वारा उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्रए पटियाला के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम में विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से जयपुर के कलाप्रेमियों के समक्ष पंजाबी संस्कृति साकार होगी। इस अवसर पर जेकेके महानिदेशक किरण सोनी गुप्ता और अतिरिक्त महानिदेशक (तकनीकीद) फुरकान खान भी उपस्थित थे। प्रस्तुति के पश्चात गुप्ता ने शबद गायन करने वाले कीर्तन जत्था कलाकारों को स्मृति चिह्न और पौधा भेंट कर सम्मानित किया।


शबद कीर्तन: कार्यक्रम के आरम्भ में गुरुद्वारा मानसरोवर के कीर्तनी जत्थे ने गुरुवाणी में से शबद कीर्तन पेश किए। भाई गुरजीत सिंह और भाई रविन्द्र सिंह ने राग कल्याण और ताल तीन ताल में मेरे लालन की सोभा और मिश्र राग एवं ताल कहरवा में कोई बोले राम राम कोई खुदाए, शबद कीर्तन सुना कर माहौल में आध्यात्मिकता के रंग भरे। इस प्रस्तुति में अरविन्द पाल सिंह ने तबले पर संगत दी।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Punjabi culture came true in Shabad singing and Satnam Vahe Guru drama in JKK
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jaipur, jawahar kala kendra, gurunanak dev, 550th birth anniversary, national mourning declaration, har simran, shabad singing, satnam vahe guru drama, punjabi culture, jaipur news, rajasthan news\r\n, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved