• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

वन क्षेत्र में टूरिज्म को लेकर पीपीपी मोड की योजना पर होगा विचार - वन मंत्री

Planning of PPP mode to discuss tourism in forest areas - Minister of Forests - Jaipur News in Hindi

जयपुर । प्रदेश के वन मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर ने कहा है कि अगर वन क्षेत्र में टूरिज्म को लेकर कोई योजना हो, तो वन क्षेत्र को भी पीपीपी मोड पर देने पर विचार किया जाएगा। अपने विभाग की चार साल की उपलब्धियां गिनाने के दौरान उन्होंने कहा कि वन क्षेत्र को पर्यटन के साथ जोड़कर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया जा सकता है।
उन्होंने बताया कि सवाईमाधोपुर जिले के होटलों, रेस्टोरेटों आदि को रोजगार रणथंभौर अभ्यारण्य से ज्यादा मिलता है। राज्य सरकार की योजना है कि रणथंभौर अभ्यारण्य की तरह सरिस्का अभ्यारण्य का भी विकास हो,जिससे टूरिस्ट ज्यादा से ज्यादा सरिस्का जा सके। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आने वाले दिनों में झालाना सफारी का शुभारंभ भी करेगी।

वन मंत्री ने कहा कि प्रदेश में केंद्र सरकार की सेटेलाइट रिपोर्ट के मुताबिक वन क्षेत्र का क्षेत्रफल बढ़ा है। उन्होंने कहा कि पिछले चार सालों में वृक्षारोपण अभियान पर कुल 12 सौ 70 करोड़ रुपये खर्च किए गए है। इसके अलावा वृक्षारोपण अभियान को मुख्यमंत्री जल स्वावंबलन अभियान से जोड़ा गया है। इसके तहत 2 लाख 23 हजार हैक्टेयर में वृक्षारोपण किया गया है, और 930.62 लाख पौधे रोपित किये गये हैं ।


वहीं प्रेंस कॉन्फ्रेंस में वन एवं पर्यावरण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एन.सी गोयल ने बताया कि किसान अपने खेत पर टिंबर के प्रयोग में आने वाले 32 प्रजाति के पेड़ लगाकर काट सकता है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार उन्हीं आरा मशीनों को शुरू करने के निर्देश दिए गए है,जिनके पास पहले से लाईसेंस थे। इसके अलावा एक भी नया लाईसेंस आरा मशीन का नहीं जारी किया गया है।

इसके अलावा वन मंत्री ने बताया कि प्रदेश में 122 लाख की लागत से नोलक्खा किला स्मृति वन, झालावाड़, अजमेर में जयपुर पुष्कर बाईपास मुख्य मार्ग पर 20 हैक्टेयर में हर्बल गार्डन, सीकर में 783 लाख की लागत से स्मृति वन व उदयपुर में गोवर्धन सागर तालाब के पास 46 लाख की लागत से स्मृति वन विकसित कर आम जन के लिये खोल दिया गया है । चूरू में 11.66 करोड़ की लागत से नेचर पार्क का विकास किया जा रहा है ।



राज्य में पैथंर की संख्या में काफी बढ़ोतरी पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि यह परियोजना देश में पहली बार शुरू की गई है व झालाना पैंथर सफारी को विश्व स्तरीय बनाने हेतु 15 करोड़ की लागत से विकास कार्य करवाये जा रहे है। झालाना वन क्षेत्र में पर्यटक भ्रमण की सुविधा उपलब्ध करवाई गई हेै ।

उन्होंने बताया कि आमेर में 8 करोड़ की लागत से हाथी गांव का विकास करवाया गया है । गोडावण के संरक्षण के लिये राष्ट्रीय मरू उधान जैसलमेर में विकास कार्य, रणथम्भौर, सरिस्का व केवलादेव संरक्षित क्षेत्रों में पर्यटकों की सुविधा हेतु राजकॉम्प के माध्यम से आनलाईन व ई-मित्र के माध्यम से बुकिगं की व्यवस्था शुरू की गई है ।

खींवसर ने बताया कि रणथम्भोर टाईगर रिजर्व में वन्य जीवों की सुरक्षा हेतु 112 पुलिसकर्मियों की स्पेशल टास्क फोर्स लगाई गई है ।
खींवसर ने बताया कि 400 वर्ग किलो मीटर में फैले रणथम्भोर टाईगर रिजर्व के आस-पास बसे लोगों व पर्यटन व्यवसाय से जुड़े सभी पक्षों को रोजगार के अवसर मिले है लेकिन रणथम्भौर में बाधों की संख्या बढ़ने से अब उनकी प्रजनन संख्या में गिरावट आ रही है इसे देखते हुए अब सरिस्का अभ्यारण्य जो लगभग 1200 वर्ग किलो मीटर में फैला हुआ है व देश की राजधानी दिल्ली के नजदीक है व पर्यटकों को यहॉ पहुंचने के लिये पर्याप्त साधन मौजूद है इसे देखते हुए अब सरिस्का में बाधो की संख्या बढ़ाने व पर्यटन की दृष्टि से आवश्यक सुविधाये विकसित करने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा ।
उन्होंने कहा कि मुकन्दरा हिल्स में बाधों को शिफ्ट करने की विभाग की पूरी तैयारी है व नेशनल टाईगर रिजर्व से बाधों को शिफ्ट करने की स्वीकृति भी मिल गई है व वहॉं प्रोग्रेस पूरी तरह तैयार है ।


इस मौके पर प्रधान मुख्य वन संरक्षक एएस बरार, डॉ जीवी रेड्डी एवं डॉ सुरेश चन्द्र सहित वन विभाग के अन्य आला अधिकारी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Planning of PPP mode to discuss tourism in forest areas - Minister of Forests
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: state forest minister gajendra singh, forest and environment department additional chief secretary nc goel, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved