• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण कार्यक्रम में राजनीतिक दल सहयोग करें : भगत

जयपुर। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अश्विनी भगत ने राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों से कहा है कि वे मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम में सक्रिय सहयोग कर पात्र व्यक्तियों के ज्यादा से ज्यादा नाम मतदाता सूचियों में जुड़वाकर लोकतंत्र के उत्सव में अहम भूमिका निभाएं।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी बुधवार को शासन सचिवालय में मतदाता सूचियों के द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्य अर्हता तिथि 1 जनवरी 2018 के क्रम में मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मतदाता सूचियों के प्रारूप का प्रकाशन 31 जुलाई, 2018 को किया जाएगा तथा 31 जुलाई से 21 अगस्त तक दावे और आपत्तियां ली जाएंगी। राजनीतिक दलों के बूथ स्तरीय अभिकर्ताओं के साथ दावे और आपत्तियों के आवेदन प्राप्त करने के लिए 12 और 19 अगस्त को विशेष तिथियां भी रखी गई हैं। उन्होंने कहा कि 27 सितंबर, 2018 को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन कर दिया जाएगा और वही मतदाता सूची चुनाव में काम ली जाएगी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम में राजनीतिक दलों की सक्रिय भूमिका अपेक्षित है। इस कार्यक्रम के संदर्भ में राज्य के सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने यह भी कहा कि विभाग की ओर से इस कार्यक्रम के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार के प्रयास किए जा रहे हैं। विभाग का प्रयास है कि अर्हता तिथि 1 जनवरी 2018 को जो भी पात्र व्यक्ति 18 वर्ष की आयु के हो जाएं वे मतदाता सूची में शामिल हों। चर्चा के दौरान सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने आश्वस्त किया कि वे भी इस कार्यक्रम के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक करेंगे, ताकि मतदाता सूची में पात्र व्यक्तियों के नाम जुड़ सके।

लाखों की तादात में दिव्यांगजन कर सकते हैं मतदान भगत ने कहा कि इस बार चुनाव की थीम ‘सुगम मतदान’ रखी है। उन्होंने कहा प्रदेशभर में 10 लाख से ज्यादा दिव्यांगजन हैं। इनमें से 5 लाख से ज्यादा दिव्यांगजनों को निर्वाचन विभाग ने पंजीकृत कर लिया है, बाकी को भी जोड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। पिछले विधानसभा में 17 हजार से ज्यादा दिव्यांगजनों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। उन्होंने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से अपील की कि सभी के सामूहिक प्रयास रहेंगे तो इस बार यह आंकड़ा लाखों में जा सकता है।

राजनीतिक दल एफएलसी प्रक्रिया का करें निरीक्षण


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-jaipur news : Political parties should cooperate in short revision program of voter lists : Chief Electoral Officer Ashwini Bhagat
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jaipur news, political parties, voter lists short revision program, chief electoral officer ashwini bhagat, ashwini bhagat, voter list, rajasthan assembly elections 2018, jaipur hindi news, jaipur latest news, rajasthan hindi news, rajasthan government, जयपुर समाचार, राजस्थान समाचार, राजस्थान सरकार, राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018, मुख्य निर्वाचन अधिकारी अश्विनी भगत, मतदाता सूची, पुनरीक्षण कार्यक्रम, राजनीतिक दल, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved