• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

'परिधावी' नाम से हिंदू नववर्ष का होगा आगाज

Hindu New Year will be named as Sadhvi - Jaipur News in Hindi

जयपुर। भारतीय नववर्ष के आगमन की पूर्व संध्या पर गांधी सर्किल स्थित राजकीय महाराज आचार्य संस्कृत महाविद्यायल में नववर्ष का स्वागत करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में शामिल हुए विद्वानों ने नववर्ष के आगमन पर किए जाने वाले दान पुण्य और रीति रिवाज के महत्व को समझाया। कार्यक्रम के संयोजक प्रो. भास्कर शर्मा श्रोत्रिय ने बताया कि 6 अप्रेल को चैत्रशुक्ल प्रतिपदा, शनिवार को भारतीय नवसंवत्सर परिधावी संवत्सर का प्रारंभ हो रहा है। भारतीय संस्कृति का निर्वहन करते हुए जयपुर के संत-महंतों एवं गणमान्य सुधीजनों की उपस्थिति में नवसंवत् स्वागत और महाविद्यालय के वार्षिक पंचांग का विमोचन किया गया। कार्यक्रम में गलता पीठाधीश्वर अवधेशाचार्य महाराज, सालासर धाम के डॉ. नरोत्तम पुजारी, हाथोज धाम के बालमुकुंदाचार्य, अलबेलीशरण महाराज, पं. दामोदर दास शर्मा, पं चंद्रशेखर शर्मा, डॉ. रवि शर्मा आदि उपस्थित रहे।

सूर्य की पहली किरण के साथ नववर्ष का स्वागत
कार्यक्रम के संयोजक प्रो. भास्कर शर्मा ने बताया कि रात्रि के अंधकार में नववर्ष का स्वागत नहीं होता। नया वर्ष सूरज की पहली किरण का स्वागत करके मनाया जाता है। नववर्ष के ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर पुष्प, धूप, दीप, नेवैद्य आदि से घर में सुगंधित वातावरण कर दिया जाता है। घर को ध्वज, पताका और तोरण से सजाया जाता है और नए संकल्प लेकर एक दूसरे को बधाई दी जाती हैं।

354 दिन का होता है चांद्र वर्ष
बंशीधर पंचाग के पं. दामोदर दास शर्मा ने बताया कि चैत्र, वैशाख, ज्येष्ठ आदि चांद्रवर्ष के माह हैं। चांद्र वर्ष 354 दिनों का होता है, जो चैत्र माह से शुरू होता है। चांद्र वर्ष में चंद्रमा की कलाओं में वृद्धि हो तो यह माह 13 माह का होता है। जब चंद्रमा चित्रा नक्षत्र में होकर शुक्ल प्रतिपदा के दिन बढऩा शुरू होता है तभी से हिंदू नववर्ष की शुरुआत मानी गई है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Hindu New Year will be named as Sadhvi
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: indian new year, arrival, eve, gandhi circle, jaipur news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved