• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

वाशिंग मशीन की पाइप लाइन से कर रहे थे भ्रूण लिंग की फर्जी जांच, तीन गिरफ्तार

Fake investigation of embryonic gender, three arrested from the washing machine pipeline - Jaipur News in Hindi

जयपुर। राज्य पीसीपीएनडीटी सैल की टीम ने 114 वी डिकॉय ऑपेरशन कारवाई करते हुए रविवार को चौमू के मोरीजा गांव स्थित एक घर पर भू्रण लिंग जांच की फर्जी जांच करते हुए तीन युवको को गिरफतार किया है वही लिंग जांच में काम में ली गई वॉसिग मशीन की पाईप, चार्जेब्ल एलईडी बल्ब व बोलेरो गाड़ी बरामद की गई है। लिंग जांच करने के लिए ली गई राशि के हुबहु वही नोट आरोपियों से बरामद किये गये है। ज्ञात रहे इसी गिरोह को 14 महीने पूर्व 13 जनवरी 2017 को चौमू में फर्जी जांच करते हुए पकड़ा गया था।

मिशन निदेशक नवीन जैन ने बताया कि इस कैलेंडर वर्ष की यह 16 वीं डिकॉय कार्यवाही है। इस कैलेंडर वर्ष में जनवरी में 7, फरवरी में 4, मार्च में 2 व अप्रैल में अब तक 3 डिकॉय कार्यवाही कर कोख में कत्ल करने वालों को पकड़ा जा चुका है। उन्होंने बताया कि चौमू में एक गिरोह द्वारा अवैध रूप से लिंग जांच की करने की सूचना गत कई माह से मिल रही थी जिसकी पुष्टि के बाद रविवार को गर्भवती महिला सहित पीसीपीएनडीटी टीम को चौमू भेजा गया। दलाल के बताये अनुसार डिकॉय गर्भवती महिला को चौमू के मोरीजा गांव लेकर गये जहां पर चार्जेबल एलईडी बल्ब को वॉसिंग मशीन की पाईप से लगाकर गर्भवती महिला के पेट पर एलईडी बल्ब को ऑन करके घुमाया ताकि गर्भवती महिला को यह महसुस हो कि सोनोग्राफी मशीन के माध्यम से ही लिंग जांच की जा रही है लेकिन बिना किसी सोनोग्राफी मशीन के आरोपियों द्वारा गर्भवती महिला को लडक़ी ही बताई गई व गर्भपात के लिए प्रेरित किया।

आरोपियों द्वारा गर्भवती महिला को कहा गया यदि वो आज ही गर्भपात करवाती है और पैसा नही है उसके पास तो वे गर्भपात कर देगें पैसे वो एक या दो दिन बाद में दे दे। बॉलेरों गाड़ी के मालिक सुरेन्द्र डॉक्टर की भूमिका निभाता था तथा अन्य सहयोगियों से पैसे व गर्भवती महिला को लाने या ले जाने का काम करवाता था। सहयोगी द्वारा टीम को ईशारा किया गया जिस पर टीम ने कार्यवाही करते हुए गोविंद राम पुत्र रामसहाय, गांव-कानपुरा, चौमू ,शीशराम पुत्र प्रभुदयाल, नीमकाथाना व सुरेन्द्र पुत्र रूडमल, मोरिजा, चौमू को मौके पर गिरफ्तार किया वही काम में लिये गये सभी उपकरण व बोलरो गाड़ी व दी गई हुबहु राशि बरामद की गई।


जैन ने बताया कि सुबह गर्भवती डिकॉय महिला व सहयोगी को झुंझुनूं जिले से दलाल द्वारा सीकर बुलाया गया, गर्भवती के सीकर पहुचने के बाद रीगस बुलाया गया व रीगस में घंटो इंतजार के बाद चौमू बुलाया गया और चौमू में भी इधर-उधर करीब दो घंटे घुमाया यह पता करने के लिए की गर्भवती महिला के पीछे कोई अन्य तो नही है। इससे पूर्व भी पुष्टि करवाने के दौरान भी दलाल ने झुंझुनूं व सीकर की गर्भवती महिलाओं को कभी सीधा चौमू बुलाता था लेकिन अधिकतर समय सीकर व रीगस में गर्भवती महिलाओं को रोक कर अपने लोगों के माध्यम से पूरी जांच पड़ताल करने के बाद चौमूं बुलाता था। गर्भवती महिलाओं की रैकी करने के लिए 2 से 3 लोगों की टीम बनाकर डिकॉय महिला के आगे पीछे रहते थे।

पीसीपीएनडीटी टीम भी पुष्टि करवाने के बाद पुर्णतया जान चूकी थी कि इस गिरोह द्वारा डिकॉय महिलाओं की मुखबीरी करवाई जा रही है तो रविवार को पूरी सावधानी पूर्वक डिकॉय कार्यवाही को अंजाम दिया। जैन ने बताया कि टीम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रघुवीरसिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गई जिसमें पीबीआई थाने के सीआई श्रीराम बडसरा, अर्चना, शंकर लाल, राजेन्द्र, पीसीपीएनडीटी समन्वयक दिनेश कुमार, सीकर समन्वयक नंदलाल पूनियां, आशा समन्वयक संजीव महला शामिल थे। गिरफ्तार सभी आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश किया जायेगा।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Fake investigation of embryonic gender, three arrested from the washing machine pipeline
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: rajasthan news, chomu, jaipur, arrested, embryonic gender, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved