• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

भाजपा का सत्ता संघर्ष : एसी वर्ग का चेहरा दिया तो अनीता भदेल पर दांव खेल सकती है पार्टी

BJPs power struggle: If given the face of AC class, the party can bet on Anita Bhadel - Jaipur News in Hindi

जयपुर। छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश के बाद अब राजस्थान में भी मुख्यमंत्री चयन को लेकर तस्वीर मंगलवार शाम तक साफ हो जाएगी। इससे पहले शाम 4 बजे पार्टी विधायक दल की बैठक में नए नेता का चुनाव कर लिया जाएगा। लेकिन, राजस्थान भाजपा में सत्ता संघर्ष बढ़ता जा रहा है। सीएम के दावेदारों की लिस्ट लंबी होती जा रही है। जाट और राजपूत समुदाय से भी मुख्यमंत्री बनाए जाने की संभावनाएं लगभग खत्म हो गई हैं। इसलिए लोग आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए अनुसूचित जाति का वोट बैंक साधने के लिए इसी वर्ग से नया नेता चुन सकती है। इस कड़ी में अब अजमेर दक्षिण की विधायक अनीता भदेल का नाम प्रमुखता से उभरा है।
राजनीतिक प्रेक्षकों का मानना है कि अगले लोकसभा चुनाव को देखते हुए छत्तीसगढ़ में भाजपा ने आदिवासी चेहरा दिया है, वहीं मध्य प्रदेश में मोहन य़ादव के रूप में ओबीसी का चेहरा दिया है। इसी तर्ज पर राजस्थान में अनुसूचित जाति चेहरे के तौर पर अनीता भदेल पर पार्टी दांव खेल सकती है। दावा किया जा रहा है कि अनीता भदेल का नाम खुद पूर्व सीएम वसुंधराराजे ने आगे बढ़ाया है। वे महिला बाल विकास मंत्री रह चुकी हैं और 4-5 बार की विधायक रहने के अलावा अजमेर नगर निगम की मेयर भी रह चुकी हैं।
उन्होंने अपना राजनीतिक करियर 1997 में अजमेर नगर निगम से ही शुरू किया था। वैसे भी भाजपा सभी राज्यों ने नए चेहरों को ही आगे बढ़ा रही है। विधायक दल की बैठक में पूर्व सीएम वसुंधराराजे से नए सीएम के नाम का प्रस्ताव कराने के साथ ही प्रदेशाध्यक्ष सी.पी. जोशी, वरिष्ठ नेता ओम प्रकाश माथुर आदि से समर्थन कराया जा सकता है।
हालांकि वसुंधराराजे पार्टी हाईकमान पर पूरी तरह से दबाव बनाए हुए हैं कि प्रदेश की कमान एक बार फिर उन्हें ही सौंप दी जाए। क्योंकि वे अपने पिछले कार्यकाल की योजनाओं को आगे बढ़ाना चाहती हैं। वैसे भी उनके पास 6 निर्दलीयों के अलावा भाजपा के 34 विधायकों की संख्या मानी जा रही है। इस तरह यह आंकड़ा 40 तक हो जाता है।
अगर अन्य छोटे दलों के 8 विधायकों का समर्थन भी वे हासिल कर लेती हैं तो उनके पास 48 विधायकों का समर्थन हो जाता है। इसलिए उनका पक्ष ज्यादा मजबूत माना जा रहा है। लेकिन, माना जा रहा है कि वे पार्टी को तोड़ने जैसा कदम नहीं उठाएंगी। क्योंकि वे पहले ही स्पष्ट कर चुकी हैं कि वे पार्टी के अनुशासन में ही रहेंगी। इससे बाहर नहीं जा सकती। लेकिन, समर्थक विधायकों के आधार पर दबाव बनाकर वे अपनी अन्य दूसरी मांगें मनवा सकती हैं।
इधऱ, भाजपा भी विधायक दल का नेता चुने जाने को लेकर अधिक सतर्कता बरत रही है। पार्टी ने अपने विधायकों की गिनती शुरू कर दी है। सभी नव निर्वाचित विधायकों को केंद्रीय पर्यवेक्षकों के पहुंचने से पहले ही जयपुर कार्यालय में बुला लिया है। इसके लिए पार्टी कार्यालय में सोमवार शाम से ही तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-BJPs power struggle: If given the face of AC class, the party can bet on Anita Bhadel
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jaipur, chhattisgarh, madhya pradesh, chief minister, rajasthan, tuesday evening, leader, party legislature party meeting, power struggle, bjp, cm contenders, jat, rajput community, lok sabha elections, scheduled caste vote bank, ajmer south mla, anita bhadel, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved