• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 3

बाढ़ पीडि़तों को राहत पहुंचाने में लापरवाही की तो बख्शा नहीं जाएगा : मुख्यमंत्री

जयपुर। प्रदेश में खासकर जालोर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों में बाढ़ के हालतों से निबटने के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अध्यक्षता में उनके सरकारी आवास पर बैठक हुई। इसमें मुख्य सचिव अशोक जैन सहित सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री ने इस बैठक में साफ-साफ निर्देश दिए कि किसी भी स्थिति में बाढ़ पीडि़तों को राहत पहुंचाई जाए। इसमें कोताही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लापरवाही बरतने वाले को बख्शा नहीं जाएगा।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री राजे शनिवार को जयपुर से बाढग़्रस्त इलाके में जाने के लिए हेलिकॉप्टर से रवाना हुई थीं, लेकिन मौसम खराब होने के कारण वे जालोर नहीं उतर सकीं। इस कारण उन्होंने हवाई सर्वे किया। बाद में जयपुर पहुंचते ही उन्होंने अधिकारियों की बैठक ली और कहा कि संकट और प्राकृतिक आपदा की घड़ी में सरकार हर पल वहां के लोगों के साथ खड़ी है। हर संभव मदद करने को तैयार है। बाढ़ की संभावना के साथ ही तुरंत प्रभाव से प्रभारी मंत्रियों और अधिकारियों को प्रभावित जिलों में भेजा गया, जो निरंतर 24-25 जुलाई से राहत गतिविधियों के संचालन का जायजा लेकर स्थिति को नियत्रंण में रखे हुए हैं।

किसानों का शॉर्ट टर्म लोन मीडियम में बदला जाएगा

राजस्व विभाग ने प्रभावित क्षेत्रों में विशेष गिरदावरी के आदेश दिए हैं। इन इलाकों में 2.95 लाख किसानों के 1310 करोड़ रुपए के शॉर्ट टर्म लोन को मिडियम टर्म लोन में बदला जाएगा। इसके लिए राज्य सरकार 196.05 करोड़ रुपए की अतिरिक्त राशि व्यय करेगी, जिसे भारत सरकार को राहत कार्यों में सहायता के लिए भेजे जा रहे अंतरिम ज्ञापन में शामिल किया गया है।

अब तक 11 हजार लोगों को सुरक्षित पहुंचाया

इससे पूर्व 26 जुलाई को मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा की थी तथा जिला कलेक्टरों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। अब तक 11 हजार से अधिक व्यक्तियों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है, जिसमें 42 लोगों की जान वायु सेना के हेलिकॉप्टर के माध्यम से बचाई गई है। इसके अलावा 1107 लोगों की जान हेलिकॉप्टर के माध्यम से बचाई गई है।

12 हजार पशुधन का इलाज

इस दौरान 12,223 बीमार पशुधन का इलाज किया जा चुका है तथा 6164 का टीकाकरण किया गया है। जालोर जिले में पथमेड़ा गोशाला के लिए 13, महावीर हनुमान गोशाला के लिए 13 और ठाकुर गोशाला के लिए 5 पशु चिकित्सक तथा पैरा वेटरनरी स्टाफ को तैनात किया गया है। 1.89 करोड़ की दवाइयां प्रभावित क्षेत्रों में भिजवाई गई हैं तथा अतिरिक्त आवश्यकता के लिए प्रत्येक जिले को 5 लाख रुपए की राशि दी गई है। प्रभावित क्षेत्र में अतिरिक्त मोबाइल टीमों को भेजा गया है। गोपालन विभाग द्वारा जालोर, सिरोही तथा पाली जिले की 196 गोशालाओं को गोसंरक्षण एवं संवर्धन निधि से 21.24 करोड़ रुपए स्वीकृत एवं वितरित किए जा चुके हैं। जालोर जिले की श्रीगोपाल गोवर्धन गोशाला, पथमेड़ा तथा महावीर हनुमान गोशाला, गोलासन में संधारित 14,778 गोवंश के लिए 5.03 करोड़ रुपए की सहायता हाल ही दी गई है।

हेलिकॉप्टर और आर्मी सहित राहत टीमें अलर्ट

बैठक में आपदा प्रबंधन विभाग ने जानकारी दी कि जालोर के लिए एनडीआरएफ की दो टीमें, आर्मी की तीन टीमें, एसडीआरफ की एक टीम तथा दो हेलिकॉप्टर राहत कार्यों के लिए उपलब्ध हैं। इसी प्रकार पाली के लिए एनडीआरएफ की एक टीम, एसडीआरफ की एक टीम तथा 24 होमगार्ड सहित आर्मी की एक टीम उपलब्ध है। इसके अलावा, सिरोही और जालोर के लिए गाजियाबाद से एनडीआरएफ की दो अतिरिक्त टीमें 24 जुलाई से ही उपलब्ध कराई गई हैं। विभाग के अधिकारियों ने एनडीआरएफ मुख्यालय दिल्ली से बात कर चैन्नई से भी अतिरिक्त राहत बचाव दलों की मांग की है। इसके साथ ही आवश्यकता पडऩे पर कोटा, उदयपुर, जालोर, सिरोही तथा अन्य जिलों में त्वरित गति से राहत एवं बचाव कार्य करने के लिए 6 हेलिकॉप्टर तथा सेना के कॉलम को अलर्ट रखा गया है।

जनहानि के लिए आपदा प्रबंधन ने दिया मुआवजा

बाढ़ प्रभावित तीनों जिलों में 20 राहत कैम्प स्थापित किए गये हैं, जिनमें 556 लोगों को राहत प्रदान की गई है। कुल 1107 व्यक्तियों को सुरक्षित बचाया जा चुका है। बैठक में बताया गया कि प्रभावित जिलों में 16 व्यक्तियों कीे मृत्यु हुई है। आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से इस जनहानि के लिए 64 लाख रुपए से अधिक की राशि मुआवजे के रूप में दी गई है। अकेले जालोर जिले में पशुधन संरक्षण के लिए 19 करोड़ रुपए की राहत दी जा चुकी है।

खाने के पैकेट और आवश्यक सामग्री का स्टॉक आरक्षित

बैठक में बताया गया कि खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने समस्त उचित मूल्य दुकानों पर खाद्यान्न व केरोसिन का आरक्षित स्टॉक रखा है। इसके अलावा पेट्रोल डीजल का आरक्षित स्टॉक तथा घरेलू गैस की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। विभाग द्वारा पाली जिले में 7000, जालोर में 2200, सिरोही में 17000 तैयार भोजन के पैकेट तथा 4000 सूखे भोजन के पैकेट व बाड़मेर में 2000 पैकेट व 1000 लोगों को खाने की व्यवस्था की जा रही है।

चिकित्सकों के अवकाश निरस्त

सभी प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्यों के लिए चिकित्सकों एवं अन्य विभागों के अधिकारियों के अवकाश निरस्त कर दिए गए हैं। कुल 150 मेडिकल टीमों के साथ-साथ वेटरनरी टीमों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में तैनात किया गया है। जिला कलेक्टर, जालौर की मांग पर 20 मैट्रिक टन पशु आहार राजफैड द्वारा रवाना कर दिया गया है।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Action will be on Negligence in providing relief to flood victims : CM
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: action on negligence, flood in the state, flood affected districts visit of cm, chief minister vasundhara raje, chief secretary ashok jain, weather, relief to flood victims, chief minister raje, cm raje, floods in jalore, sirohi, pali and barmer districts, meeting of cm in jaipur, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved