• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

महिंद्रा वर्ल्ड सिटी, जयपुर ने 26 नए ग्राहकों के साथ हस्ताक्षर किए

Mahindra World City, Jaipur signs on with 26 new customers - Jaipur News in Hindi

जयपुर । महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स लिमिटेड (एमएलडीएल) और राजस्थान राज्य औद्योगिक विकास व विनियोग निगम (रीको) के संयुक्त उद्यम, महिंद्रा वर्ल्ड सिटी जयपुर लिमिटेड (एमडब्ल्यूसी जयपुर) ने आज घोषणा की कि उसने अप्रैल 2021 से जून 2022 के बीच 26 नए पट्टे समझौते किए हैं। जिन ग्राहकों के साथ पट्टे के लिए नए हस्ताक्षर हुए हैं उनमें नए ग्राहक और मौजूदा ग्राहकों द्वारा फैसिलिटीज का विस्तार दोनों शामिल हैं। साथ मिलाकर, लगभग 137 एकड़ भूमि के पट्टे के लिए हस्ताक्षर हुए हैं। इसी अवधि में, एमडब्ल्यूसी जयपुर और इसकी घटक इकाइयों का कुल निवेश 721 करोड़ रुपये को पार कर लिया है, और एमडब्ल्यूसी जयपुर द्वारा किया गया संचयी निर्यात 15,930 करोड़ रुपये से अधिक का हो गया है, जिसमें से 3,321 करोड़ रुपये पिछले 15 महीनों के हैं।

एमडब्ल्यूसी जयपुर के नए प्रवेशक आईटी और आईटीईएस, इंजीनियरिंग, फर्नीचर निर्माण, सौर ऊर्जा, रत्न और आभूषण निर्माण, रसद और भंडारण जैसे विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े हैं। 121 से अधिक वैश्विक और घरेलू कंपनियों के लिए पसंदीदा गंतव्य बन चुका, एमडब्ल्यूसी जयपुर आसानीपूर्वक व्यवसाय के संचालन हेतु मजबूत बुनियादी ढाँचा और सुविधाओं के साथ अनुकूल वातावरण तैयार करके ग्राहकों के लिए व्यापारिक विकास को सक्षम बना रहा है। इन पंद्रह महीनों में, कुल 69 कंपनियां एमडब्ल्यूसी जयपुर में अपनी फैसिलिटीज का निर्माण कर चुकी हैं और उनका परिचालन शुरू हो चुका है।

महिंद्रा लाइफस्पेस के चीफ बिजनेस ऑफिसर - इंडस्ट्रियल, राजाराम पै ने कहा, "एमडब्ल्यूसी जयपुर आज दुनिया भर की उन प्रतिष्ठित घरेलू और अंतरराष्ट्रीय विनिर्माण कंपनियों का गढ़ बन चुका है, जिन्होंने भारत में पहली बार विनिर्माण आधार स्थापित किया है। ग्राहकों के लिए व्यापार के त्वरित संचालन को सक्षम बनाने पर हमेशा से हमारा जोर रहा है। हम नवाचार एवं सुविचारित डिजाइन का प्रभावी तरीके से उपयोग करते हुए और स्थिरता के प्रति गहरी वचनबद्धता के साथ उच्चतम मानकों के अनुरूप शहरीकरण लगातार उपलब्ध करा रहे हैं। एमडब्ल्यूसी जयपुर विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे का निर्माण करते हुए राज्य के लिए वृद्धिशील रोजगार और आय सृजन में योगदान दे रहा है। इसके द्वारा विकसित बुनियादी ढाँचा आने वाले अनेक वर्षों तक राष्ट्र को सेवा प्रदान करता रहेगा। हमें मेक-इन-इंडिया और मेक-फॉर-इंडिया के सक्षमकर्ता बनने की प्रसन्नता है।"

एमडब्ल्यूसी जयपुर से जुड़े नए ग्राहकों में विप्रो हाइड्रोलिक्स, रिन्यू फोटोवोल्टिक्स, शक्ति हॉरमैन, केराकोल इंडिया, नॉर्मेट, गुलमोहर लेन लाइफस्टाइल, मैनर एंड म्यूज़, जे एटेलियर पिंक सिटी प्रा. लिमिटेड, कमल कोच वर्क्स प्रा. लिमिटेड और मैक्सॉप इंजीनियरिंग व अन्य शामिल हैं।

महिंद्रा वर्ल्ड सिटी जयपुर एशिया की पहली परियोजना है जिसे जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए कार्रवाई करने वाले बड़े शहरों के वैश्विक नेटवर्क C40 सिटीज क्लाइमेट लीडरशिप ग्रुप (C40) से क्लाइमेट पॉजिटिव डेवलपमेंट स्टेज 2 सर्टिफिकेशन प्राप्त हुआ है। पर्यावरण पर व्यवसाय संचालन के प्रभाव को कम करने के लिए हरित, एकीकृत विकास में अग्रणी एमडब्ल्यूसी जयपुर में बुनियादी ढांचे को भी लगातार उन्नत किया जा रहा है। महिंद्रा समूह के प्रमुख कार्यक्रम “हरियाली” के तहत 31 मार्च, 2022 तक, सरकार द्वारा अनुमोदित वन क्षेत्रों और ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 59,955 पेड़ लगाए गए हैं। औद्योगिक पार्क में करीब 11,100 पेड़ लगाए गए हैं। जलवायु-सकारात्मक विकास पर ध्यान देने के साथ, एमडब्ल्यूसी जयपुर शहर के भीतर स्थिरता को एकीकृत करने के अपने प्रयासों को जारी रखे हुए है।

महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स लिमिटेड के विषय में

वर्ष 1994 में स्थापित, महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स लिमिटेड ('महिंद्रा लाइफस्पेस') संपन्न आवासीय कम्यूनिटीज के जरिए और व्यावसायिक पारिस्थितिकी तंत्र को सक्षम करके भारत के रियल एस्टेट और बुनियादी ढांचा उद्योग में महिंद्रा समूह की विचारधारा - 'राइज' का समावेश करता है। कंपनी के विकास कार्य भारत के सात शहरों में 32.14 मिलियन वर्ग फीट में हैं जिनमें पूरी हो चुकी, जारी और आने वाली आवासीय परियोजनाएं शामिल हैं; और चार स्थानों के इसके एकीकृत विकासों / औद्योगिक समूहों में 5000 एकड़ से अधिक जमीन पर प्रोजेक्ट चल रहे हैं और आने वाले हैं जो विकासाधीन/प्रबंधनाधीन हैं।
महिंद्रा लाइफस्पेस के विकास पोर्टफोलियो में प्रीमियम आवासीय परियोजनाएं शामिल हैं; 'महिंद्रा हैप्पीनेस्ट®' ब्रांड के तहत किफायती आवास; और एकीकृत शहरों और औद्योगिक समूहों में क्रमशः 'महिंद्रा वर्ल्ड सिटी' और 'ओरिजिन्स बाय महिंद्रा' ब्रांड। कंपनी गुणवत्तापूर्ण जीवन और व्यवसाय के विकास के लिए नवाचार, विचारशील डिजाइन, और स्थिरता के प्रति गहरी प्रतिबद्धता का उपयोग करती है।
वैश्विक विज्ञान आधारित लक्ष्य पहल (एसबीटीआई) के लिए प्रतिबद्ध भारत की पहली रियल एस्टेट कंपनी, महिंद्रा लाइफस्पेस की सभी परियोजनाएं पर्यावरण के अनुकूल प्रमाणित हैं। 2014 से 100% ग्रीन पोर्टफोलियो के साथ, कंपनी 2040 तक कार्बन न्युट्रैलिटी की दिशा में काम कर रही है और सक्रिय रूप से भारत में जलवायु परिस्थितियों के अनुरूप हरित भवनों पर अनुसंधान का समर्थन करती है। महिंद्रा लाइफस्पेसेज ® की परियोजनाओं और ईएसजी पहलों को 80 से अधिक पुरस्कार व सम्मान प्राप्त हो चुके हैं।
महिंद्रा लाइफस्पेस® के बारे में www.mahindralifespaces.com पर और जानें

महिंद्रा के विषय में
1945 में स्थापित, महिंद्रा समूह 100 से अधिक देशों में 2,60,000 कर्मचारियों के साथ कंपनियों के सबसे बड़े और सबसे प्रशंसित बहुराष्ट्रीय संघों में से एक है। यह भारत में कृषि उपकरण, उपयोगिता वाहनों, सूचना प्रौद्योगिकी और वित्तीय सेवाओं में अग्रणी है और परिमाण के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी ट्रैक्टर कंपनी है। अक्षय ऊर्जा, कृषि, रसद, आतिथ्य और अचल संपत्ति में इसकी मजबूत उपस्थिति है।

महिंद्रा समूह का स्पष्ट रूप से वैश्विक स्तर पर ईएसजी का नेतृत्व करने, ग्रामीण समृद्धि को सक्षम करने और शहरी जीवन को बढ़ाने, समुदायों और हितधारकों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लक्ष्य के साथ उन्हें ऊपर उठाने पर केंद्रित है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Mahindra World City, Jaipur signs on with 26 new customers
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: mahindra world city, jaipur signs on with 26 new customers, auto news in hindi, auto news india, latest automobile photos, latest auto news, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

ऑटोमोबाइल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved