• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 5

मुर्दों के बीच पढ़ रहे हैं जिंदगी का पाठ

धौलपुर। जिस जगह पर जाने से हर कोई दूरी बनाए रखता है, वहीं बच्चे अपनी जिंदगी संवारने के लिए रोजाना उस जगह पहुंच रहे हैं। जी हां, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के गृह जिले धौलपुर के एक कस्बे का हाल कुछ ऐसा ही है। यहां रोजाना सुबह होने के साथ ही बच्चों के कदम जिंदगी का पाठ पढ़ने के लिए बढ़ जाते हैं। यह जगह है कब्रिस्तान। जी हां, यहां के बच्चे कब्रिस्तान में रोजाना पढ़ने जा रहे हैं। खास बात यह है कि ये बच्चे मुर्दों की कब्रों के पास बैठकर जिंदगी का पाठ पढ़ते हैं।

राजस्थान के धौलपुर जिले की सैपऊ उपखंड के मदरसे के प्राइमरी स्कूल में अबोध मासूम बच्चे कब्रों के बीच बैठकर पढ़ रहे हैं जिन्दगी का पाठ। दादी-नानी की कहानियों में मुर्दों, भूतों और आत्माओं की चर्चा सुनने वाले इन बच्चों पर ये कब्रें क्या प्रभाव छोड़ती होंगी, कह पाना थोड़ा मुश्किल है, यहां का नजारा आईने की तरह साफ है। कब्रों के बीच पाठशाला में पढ़ते बच्चे अपने आप में सरकार के सामने इतना बड़ा सवाल है, जिसका जवाब चिराग लेकर खोजने पर भी किसी किताब में नहीं मिलेगा।

यहां हर साल बच्चों की संख्या कम होती जा रही है। ज्‍यादातर को मिड-डे मील का लालच रहता है। बच्‍चे गरीब परिवारों से हैं। बच्‍चों के पढ़ने की यह जगह मदरसा बोर्ड के तहत आती है, जिसे राज्‍य सरकार से ग्रांट और सहायता मिलती है। संपत्ति राजस्‍थान वक्‍फ बोर्ड के अधीन रजिस्‍टर्ड है।

6 से 14 साल के ये बच्‍चे बड़े ध्‍यान से पेड़ के सहारे खड़े ब्‍लैक बोर्ड पर लिखते-पढ़ते हैं। कब्रिस्‍तान में यह मदरसा पिछले 15 सालों से चल रहा है। हर दिन, बच्‍चे कब्रिस्‍तान के गेट के बाहर चप्‍पल उतार कर कब्रों के पास से होते हुए अपनी ‘कक्षा’ तक पहुंचते हैं। यह कब्रिस्‍तान एक बड़ी मस्जिद के पिछवाड़े स्थित है। इस मस्जिद में बच्‍चों को जाने की इजाजत नहीं है।

पेड़ों के नीचे और कब्रों के ऊपर बैठकर ये नन्हे-मुन्ने बच्चे तालीम पा रहे हैं। तालीम ही नहीं कब्रों के पास बैठकर यहां मासूम खाना भी खाते हैं। यहां तालीम पाने वाले मासूम कब्रों के खौफ से दहशत में रहते हैं। इस कारण यहां तालीम पाने से बच्चे अब कतराने लगे हैं। जिस दिन समाज में किसी की गमी हो जाती है, उस दिन अध्यापक या तो छुट्टी कर देते हैं या बच्चों को कब्रिस्तान से बाहर ले जाते हैं और दूसरे दिन से उन्ही कब्रों के बीच बच्चे तालीम पाने लगते हैं।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-dholpur news : student are Reading the lesson of life on graveyard
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: graveyard in dholpur, school in in dholpur, lesson of life, graveyard, school in graveyard, graveyard in saepau subdivision, graveyard in dholpur district, primary school of madarsa, dholpur hindi news, rajasthan hindi news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, dholpur news, dholpur news in hindi, real time dholpur city news, real time news, dholpur news khas khabar, dholpur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved