• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

विधानसभा में नवजोत सिद्धू आज भी अकालियों के निशाने पर रहे

Navjot Sidhu in the Assembly still remains target of Akalis - Punjab-Chandigarh News in Hindi

नरेंद्र शर्मा
चंडीगढ़। सीधी—सपाट और सच्ची बात कहने के कारण स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू आज भी अकाली विधायकों के निशाने पर रहे। अकालियोंने उन पर पुन: सदन में दलित विधायक के प्रति भद्दी शब्दाबली प्रयोग करने का आरोप लगाया। साथ ही बैल में आकर नारेबाजी करते रहे। अध्यक्ष को तीन वार सदन की कार्यवाई रोकनी पड़ी। आम आदमी पार्टी तो सदन शुरु होते ही वाकआऊट कर गई।

यदपि अध्यक्ष के चैम्बर में हुई आल पार्टी मीटिंग के उपरांत दोपहर बाद सदन की कार्यवाई पिछले दिनों की अपेक्षा शान्तिपूर्ण ढंग से चली। परन्तु प्रात: सदन शुरु होते ही विपक्ष के नेता एचएस फूलका अपनी बात कहने के लिए वाजिद रहे। अध्यक्ष का कहना था कि शू्यकाल अथवा बजट बहस में बोलते हुए बह अपनी बात कह सकते हैं। परन्तु आम आदमी पार्टी के फूलका नहीं माने और वाकआऊट कर गए। इसके बाद ट्रीटमैंट प्लाटों संबंधी एक सवाल के जवाब दे रहे नवजोत सिंह को जब बार-बार अकालियों ने रोकना शुरु किया तो सिद्धू बिफर पड़े।

उन्होंने अकाली दल के पबन टीनू को कुछ कहा तो टीनू ने इसे दलितों का मुद्दा बना लिया। इस बात को लेकर सदन में खूव हंगामा होता रहा। सुखवीर और पूर्व मंत्री बिक्रम मजीठिया सिद्धू के साथ बहस करते रहे। जब मामला ज्यादा गरम हो गया तो अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाई स्थगित कर दी। सुखवीर ने कहा कि मंत्री को हाउस की मर्यादा रखनी चाहिए। विपक्षी ने एच$एस$फूलका ने स्पीकर पर आरोप लगाया कि वह निष्पक्ष नहीं है। वह विपक्ष का हक नहीं देते हैं। इस बीच वित्त मंत्री ने खड़े होकर कहा कि अध्यक्ष की कुर्सी का सम्मान करो और सम्मान लो। अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाई सुचारु ढंग से चलाने के लिए अपने चैंबर में सभी पार्टियों की बैठक बुला ली। जिसमें तय हुआ कि एक दूसरे पर छींटाकसी रोकी जाए और सदन की मर्यादा बनाकर रखी जाए।

इसके बाद वरिंद्रजीत सिंह ने मुख्यमंत्री का ध्यान आटा—दाल स्कीम में हुए घोटाले की आेर दिलाया। गुरकीतर सिंह ने डाटा आपरेटर की नियुक्तियों में पंजाबी के यूनीकोड को लाजमी करने की आेर ध्यान दिलाया। बजट बहस में हिस्सा लेते हुए फूलका ने बजट की कई खामियों को उजागर किया। उन्होंने कहा कि सरकार का बजट पजावियों और सदन के साथ धोखा है। किसानों के ऋणों के लिए केवल 150 करोड़ रुपये रखे गए हैं। जबकि इस राशि को अगर किसानों में बांटा जाए तो प्रत्येक परिवार के हिस्से 14265 रुपये आते हैं। घर-घर नौकरी देने के भी कांग्रेस ने वायदे किए हैं। परन्तु बजट में कोई प्रावधान नहीं है।

पूर्व वित्त मंत्री परमिंद्र सिंह ढीढसा ने कहा कि इस बजट में कुछ नहीं है। यह पंजाब के लोगों के साथ धोखा है। खर्चो और आय में बहुत बड़ा अंतर है। उन्होंने कहा कि सिानों के लिए रखी गई 15 सौ करोड़ की राशि तो एक महीने का ब्याज है। कांग्रेस के विजय इंद्र सिंगला ने आटा—दाल स्कीम में हुए घपलों की आेर ध्यान दिलाया। मुख्यमंत्री आज भी सदन में उपस्थित नहीं थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Navjot Sidhu in the Assembly still remains target of Akalis
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: punjab news, hindi news, chandigarh news, navjot sidhu, assembly, remains, target of akalis, news in hindi, punjab-chandigarh news, punjab-chandigarh news in hindi, real time punjab-chandigarh city news, real time news, punjab-chandigarh news khas khabar, punjab-chandigarh news in hindi
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

पंजाब से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved