• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

पशुधन क्षेत्र को बड़े पैमाने पर विकसित किया जायेगा: कैप्टन अमरिंदर सिंह

Livestock sector will be developed extensively said cm Capt Amarinder Singh in patiala - Patiala News in Hindi

जाहलां (पटियाला)।पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने परंपरागत कृषि से कम लाभ होने के कारण पशुधन क्षेत्र का बड़े पैमाने पर विकास करने पर जोर दिया है। मुख्य मंत्री यहाँ पंजाब सरकार के पशु पालन, डेयरी विकास और मछली पालन विभाग की तरफ से फेडरेशन आफ इंडियन चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री (फीकी) के सहयोग से करवाई गई 10 वीं राष्ट्रीय पशुधन चैंपियनशिप और एक्सपो -2017 के उद्घाटन मौके पर आयोजित किए गए एक प्रभावशाली समारोह को संबोधित कर रहे थे।
इस अवसर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि इस समय राज्य में कृषि की विकास दर अपनी चरम सीमा पर पहुंच गई है, जिसे औेर बढ़ाने किसानों को डेयरी, सूअर, बकरी, मधु मक्खी, पोल्ट्री, मछली पालन आदि सहायक धंधों प्रति उत्साहित किया जाना बेहद जरूरी है। मुख्य मंत्री ने मेहनती पंजाबी किसानों की प्रसंशा करते कहा कि राज्य के किसानों ने इस साल खरीफ सीजन दौरान धान की 190 लाख मीट्रिक टन रिकार्ड पैदावार की है। इसके साथ ही उन्होंने पशुपालकों द्वारा 120 लाख टन दूध की पैदावार करने पर भी उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार की तरफ से किसानों को परंपरागत गेहूँ और धान के फसली चक्र में से निकालने और आमदन बढ़ाने सहायक धंधे अपनाने के लिए कई तरह के नये ढंग तरीकों के साथ उत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सेम प्रभावित क्षेत्र मालवा के 2500 एकड़ क्षेत्रफल में झींगा मछली पालन के धंधे को प्रोत्साहित करना भी इसकी एक मिसाल है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने पिछले कार्यकाल दौरान 2006 में पशुधन क्षेत्र को बढ़ावा देने ऐतिहासिक कस्बे श्री चमकौर साहब से पशुधन मेलों का आगाज किया था। उन्होंने यह भी कहा कि साल 2006 में ही वैट्रनरी विज्ञान और डेयरी विकास के क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देने के लिए लुधियाना में श्री गुरू अंगद देव वैट्रनरी और एनिमल विज्ञान यूनिवर्सिटी की स्थापना भी उन्होंने ही की थी। पंजाब में दूध की रिकार्ड पैदावार इसी यूनिवर्सिटी की देने है। इस से पहले मुख्य मंत्री ने इस चैंपियनशिप का उद्घाटन करते हुए झंडा भी फहराया।
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों की आर्थिक दशा मजबूत करने के लिए राज्य में फसली विभिन्नता के अंतर्गत बागबानी को उत्साहित करने पर भी जोर दिया। कैप्टन ने उम्मीद व्यक्त की है कि पशुपालन विभाग की तरफ से करवाई जा रही यह चैंपियनशिप राज्य में डेयरी फार्मिंग को बढ़ावा देने के लिए एक अलग मंच प्रदान करने में बड़ा योगदान देगी।
इस उपरांत तकनीकी सत्र में इंग्लैंड, अमरीका, पोलैंड और बुल्गारिया से आए विदेशी प्रतिनिधियों के साथ विचार आदान प्रदान करने के दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन्हें तकनीकी सहायता, विशेषज्ञता, और कौशल के अदान- प्रदान के अलावा विदेशी वीर्य और उच्च गुणवत्ता के जरमपलाजम की व्यवस्था की सुविधा प्रदान करने के लिए पूर्ण सहयोग का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि पंजाब में देश की कुल दुधारू पशु आबादी का सिर्फ 2 प्रतिशत हिस्सा भर है जबकि पंजाब देश के राष्ट्रीय दूध पूल में 7 प्रतिशत हिस्सा डाल रहा है। उन्होंने कहा कि 70 प्रतिशत किसानों के पास 5 एकड़ से कम जमीन है और ऐसी स्थिति में सहायक धंधों का विकास ही किसानी को आर्थिक तौर पर मजबूत करने और खुशहाल बनाने का एक मात्र जवाब है।
इससे पहले इंग्लैंड के डिप्टी हाई कमिशनर श्री एंड्रयू आइर ने अपने संबोधन दौरान कहा कि इंग्लैंड और पंजाब राज्य में विश्व स्तरीय सूअर पालन क्षेत्र विकसित करने के लिए एकजुट हो कर काम कर सकते हैं। यह उद्यम पंजाब के किसानों की न सिर्फ बढ़ती घरेलू माँग को पूरा करने में मदद करेगा, बल्कि वह निर्यात बाजार में भी अपना माल बेच सकेंगे और खासकर पड़ोसी मुल्क चीन, जो सूअर के मीट का विश्व का सबसे बड़ा खपतकार है, में माल निर्यात कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड दुनिया में न सिर्फ पशु विज्ञान के लिए प्रसिद्ध है, बल्कि व्यवसायिक रिश्तों के साथ नये उत्पाद लाने और बाजार के विकास में अपनी योग्यता सिद्ध कर चुका है। .
इस दौरान पशु पालन विभाग के अतिरिक्त प्रमुख सचिव मनदीप सिंह संधू ने अपने स्वागती भाषण में बताया कि इस मेले में पंजाब सहित हरियाणा, हिमाचल, उत्तरप्रदेश, जम्मू कश्मीर, राजस्थान, दिल्ली, आसाम, मध्य प्रदेश के पशु पालक हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस मेले में घोड़ों, भैंसें, गाएँ, भेडें, बकरियों, सूअरों, कुत्तों, मुर्गों आदि के 92 श्रेणियों के मुकाबले करवाए जा रहे हैं और विजेता पशु पालकों को सवा करोड़ रुपए की इनामी राशि वितरित की जायेगी। चैंपियनशिप में फीकी ने पशुपालन, डेयरी विकास, मछली पालन और कृषि से सम्बन्धित 200 से अधिक कंपनियाँ की तरफ से लगाई गई प्रदर्शनी पशुपालकें के आकर्षण का केंद्र रही। इस अवसर पर विभिन्न सैमीनारों दौरान पशुपालन, डेयरी फार्मिंग, सूअर और मछली पालन सहित पशुओं की देसी नस्लों, दूध और मीट से बनने वाले खाद्य पदार्थों की प्रोसेसिंग बारे विस्तार में विचार चर्चा की गई।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Livestock sector will be developed extensively said cm Capt Amarinder Singh in patiala
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: livestock sector, developed extensively, cm capt amarinder singh, patiala latest news, punjab goverment, पंजाब सरकार, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, patiala news, patiala news in hindi, real time patiala city news, real time news, patiala news khas khabar, patiala news in hindi
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

पंजाब से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved