• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

ट्यूशन पढ़ाते पकड़े गए टीचर पर एक साल से कोई कार्रवाई नहीं

Tutoring teacher gets no action for a year on teacher - Kapurthala News in Hindi

कपूरथला। शिक्षा विभाग के नियमों को सरकारी शिक्षक सरेआम ठेंगा दिखा रहे हैं। प्राइवेट ट्यूशन की मनाही के बावजूद कुछ सरकारी शिक्षा सरेआम शिक्षा विभाग की आंखों में धूल झोंककर बच्चों को प्राइवेट ट्यूशन पढ़ाकर लाखों रुपये बटोर रहे हैं।

ऐसे ही कपूरथला के सरकारी मिडिल स्कूल किशनसिंह वाला के साइंस मास्टर नरिंदर भंडारी को शिकायतकर्ता महिंदर कुमार की शिकायत पर करीब 20 माह पहले खुद डिप्टी सर्किल एजुकेशन अफसर गुरप्रीत कौर ने रंगेहाथों प्राइवेट ट्यूशन पढ़ाते पकड़ा । उसके पंजाब सिविल सर्विसेज(सजा व अपील) की नियमावली 1970 के नियम 8 के अधीन बड़ी सजा के नियम 5 (पांच से नौ तक) तहत सजा का भागी बनाया, लेकिन शिक्षा विभाग इस शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई करने को बेबस नजर आ रहा है। अभी तक शिक्षक के अनुशासनहीनता और गैर-जिम्मेवारी वाला रवैया अपनाए हुए है।


इस छापामारी के दौरान डिप्टी सीईओ और महिंदर कुमार गवाह थे। 30 सितंबर 2015 को डिप्टी सर्किल एजुकेशन अफसर गुरप्रीत कौर ने पड़ताल रिपोर्ट तैयार की और 13 ‌नवंबर 2015 को दोषी सूची पत्र नंः (3779सगरों-(523(स), 36780सगरों-513(स)-10/42-2015 अमला-5(1) एसएएस नगर के जरिये शिक्षा विभाग सेकेंडरी शिक्षा के डायेरक्टर कार्यालय को पंजाब सिविल सर्विसेज रूल्स के अनुसार बड़ी सजा के लिए ‌भेजी। इसमें बाकायदा आरोपी शिक्षक से एक सप्ताह के अंदर अपना लिखित जवाब डीईओ सेकेंडरी के मार्फत विभाग को भेजने के आदेश दिए गए। साथ ही जवाब न देने पर एकतरफा कार्रवाई की संस्तुति की गई। लेकिन इतना समय बीतने के बावजूद आरोपी ‌शिक्षक पर कार्रवाई करने में शिक्षा विभाग नाकाम रहा है। जिससे उसके तथा उस जैसे कई प्राइवेट ट्यूशन पढ़ाने वाले शिक्षकों के हौंसले बुलंद हैं। शिक्षा विभाग की ओर से मीमो नं.10/169-15 सैसि(6) दिनांक 21 जुलाई 2015 के हवाले से सूबे के डीईओज को सरकारी स्कूलों के शिक्षकों की ओर से प्राइवेट ट्यूशन न पढ़ाने को यकीनी बनाने के आदेश जारी किए गए हैं। फिर भी ऐसे शिक्षक सरेआम मिलीभगत से विभाग की आंखों में धूल झोंक रहे हैं। महिंदर कुमार ने कहा कि अब उन्होंने दिसंबर 2016 को शिकायत पीएम नरेंद्र मोदी के नाम भेज दी है।
साइंस मास्टर नरिंदर भंडारी ने कहा कि वह नहीं, उनकी पत्नी ट्यूशन पढ़ाती हैं। डीईओ सीईओ की ओर से रंगेहाथ पकड़ने के बारे में वह कुछ नहीं बोले। कहा कि वह अपने सभी जवाब डेढ़ साल पहले डीजीएसई को दे चुके हैं। फिर भी अगर विभाग की ओर से लिखित में पूछा जाता है तो वह उसका जवाब भी दे देंगे।
सर्किल एजुकेशन अफसर जालंधर जसपाल सिंह ने कहा कि वह इस मामले संबंधी डीईओ सेकेंडरी कपूरथला से रिपोर्ट तलब करेंगे और उसके आधार पर कार्रवाई के लिए ‌शिक्षा विभाग को लिखेंगे।
डीपीआई सेकेंडरी सुखदेव सिंह ने कहा कि ‌सरकारी ‌शिक्षकों की प्राइवेट ट्यूशन बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर ऐसा है तो वह शिकायत के आधार पर निष्पक्ष जांच करवाकर आरोपी शिक्षक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाएंगे, जोकि सूबे के ‌शिक्षक लॉबी के लिए एक मिसाल होगी।

अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Tutoring teacher gets no action for a year on teacher
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: tutoring teacher gets no action for a year on teacher, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, kapurthala news, kapurthala news in hindi, real time kapurthala city news, real time news, kapurthala news khas khabar, kapurthala news in hindi
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

पंजाब से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved