• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

केरल बाढ: जिंदगियां बचाने वाले मछुआरों ने रुपए लेने से किया इनकार

Fishermen save lives in Kerala refuse to accept rupees - Thiruvananthapuram News in Hindi

तिरुवनंतपुरम। केरल की विनाशकारी बाढ़ में फंसे सैकड़ों लोगों को बचाने के लिए व्यापक सराहना पा रहे मछुआरों के एक प्रमुख नेता ने सोमवार को मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन द्वारा समुदाय के प्रत्येक सदस्य को तीन हजार रुपए देने की पेशकश को स्वीकार करने से इनकार कर दिया। फोर्ट कोच्चि के रहने वाले खैस मोहम्मद ने एक वीडियो पोस्ट में कहा कि वह और उनके सहयोगी मुख्यमंत्री से मिली सराहना से काफी खुश हैं।

विजयन ने दूर-दराज के इलाकों में बारिश और खतरनाक जलस्तर होने के दौरान अपनी जान पर खेलकर असहाय लोगों को बचाने में अहम भूमिका निभाने के लिए समुदाय की सराहना की थी। मोहम्मद ने कहा कि कई लोगों को बचाकर मैं और मेरे दोस्त वास्तव में काफी खुश हैं। इससे ज्यादा खुशी की क्या बात हो सकती है जब आप (विजयन) कहें कि हम (मछुआरे) आपकी सेना हैं।


उन्होंने कहा कि लेकिन, जब हमने सुना कि हमारी सेवा के लिए तीन हजार रुपए का भुगतान किया जाएगा तो सर हमें इससे दुख हुआ क्योंकि हमने अपने साथी इनसानों की जान पैसों के लिए नहीं बचाई। उन्होंने कहा कि हालांकि सभी मछुआरे खुश हैं कि सरकार ने उन्हें उनकी क्षतिग्रस्त नावों की मरम्मत मुफ्त कराने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि यह अच्छी खबर है। लेकिन जिंदगियां बचाने के लिए हमें पैसे नहीं चाहिए।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Fishermen save lives in Kerala refuse to accept rupees
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: kerala floods, fishermen, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, thiruvananthapuram news, thiruvananthapuram news in hindi, real time thiruvananthapuram city news, real time news, thiruvananthapuram news khas khabar, thiruvananthapuram news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved