• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

हाईकोर्ट के जज चितंबरेश बोले, पूर्व जन्मों के आधार पर ब्राह्मणों का जन्म होता है दो बार

कोच्चि। केरल हाई कोर्ट के जज वी चितंबरेश (High Court Judge V. Chitambares ) ने एक बयान पर विवाद पैदा हो गया है। उच्च न्यायालय के जज वी. चितंबरेश ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ब्राह्मणों का दो बार जन्म होता है। पूर्व जन्मों के कर्मों के आधार पर ब्राह्मणों का जन्म दो बार होता है और ब्राह्मणों में तमाम सद्गुण रहते हैं। उनका यह बयान काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। संस्कृति और कानून मंत्री ए के बालन (Law minister A.K. Balan) ने कहा है कि कोच्चि में सार्वजनिक समारोह में केरल उच्च न्यायालय के जज चिदंबरेश द्वारा की गई टिप्पणी "अनुचित" है। बालन ने कहा कि उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के पद पर रहते हुए व्यक्तिगत राय व्यक्त नहीं की जानी चाहिए थी।

यह बयान जज वी चितंबरेश ने केरल ब्राह्मण सभा की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। जज वी चितंबरेश ने ब्राह्मणों के लिए आर्थिक आधार आरक्षण की वकालत कर नई बहस भी छेड़ने का प्रयास किया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Praising Brahmins, Kerala HC Judge V Chitambaresh pushes for economic, not caste, quota
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: law minister ak balan, reservation system in india, kerala high court justice v chitambaresh, kerala high court, justice v chitambaresh on reservation, justice v chitambaresh, जस्टिस वी चितंबरेश, केरल हाई कोर्ट, आरक्षण व्यवस्था, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, kochi news, kochi news in hindi, real time kochi city news, real time news, kochi news khas khabar, kochi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved