• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

बोम्मई मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार, येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र कर्नाटक कैबिनेट बर्थ से हुए बाहर

29 ministers took oath in Basavaraj Bommai cabinet - Bengaluru News in Hindi

बेंगलुरु। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के नेतृत्व वाली कर्नाटक की नई सरकार ने बुधवार को उस समय आकार लिया, जब राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने बेंगलुरु के राजभवन में 29 मंत्रियों को राज्य मंत्रिमंडल में शपथ दिलाई। टीम वरिष्ठ और नए चेहरों का मिश्रण है। इसमें गोविंद करजोल, के.एस. ईश्वरप्पा, आर. अशोक, वी. सोमन्ना, वी. उमेश कट्टी, वी. सुनील कुमार अरागा ज्ञानेंद्र, हलप्पा आचार और बी.सी. नागेश नए चेहरे के रुप में शामिल हुए है।

एक अकेली महिला प्रतिनिधि पूर्व मंत्री शशिकला जोले हैं। मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बसवनगौड़ा पाटिल यतनाल और अरविंद बेलाड भी कैबिनेट बर्थ से चूक गए। नए कैबिनेट में मंत्रियों में गोविंद करजोल, के.एस. ईश्वरप्पा, आर. अशोक, बी. श्रीरामुलु, वी. सोमन्ना, वी. उमेश कट्टी, एस. अंगारा, जे.सी. मधुस्वामी, अरागा जननेद्र, डॉ. अश्वत्नारायण सी.एन., सी.सी. पाटिल, आनंद सिंह, कोटा श्रीनिवास पुजारी, प्रभु चौहान, मुरुगेश निरानी, शिवराम हेब्बार, एस.टी. सोमशेखर, बी.सी. पाटिल, भैरथी बसावराजू, डॉ के सुधाकर, के गोपालैह, शशिकला जोले, एमटीबी नागराजू, के.सी. नारायण गौड़ा, बी.सी. नागेश, वी. सुनीलकुमार, हलप्पा बसप्पा आचार, शंकर पाटिल मुनेनकोप्पा और मुनिरत्न शामिल है।

मुख्यमंत्री बोम्मई शाम को पहली कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता कर सकते हैं। हालांकि यह सुनिश्चित किया गया था कि क्षेत्रीय संतुलन बनाए रखा जाएगा, लेकिन 13 जिले बिना प्रतिनिधित्व के चले गए। छह जिलों को दो कैबिनेट बर्थ आवंटित किए गए हैं। राजधानी बेंगलुरु को 7 कैबिनेट पदों से नवाजा गया है। कैबिनेट में आठ लिंगायत, 7 वोक्कालिगा, 7 ओबीसी, 3 दलित, 1 एसटी, 1 महिला और 2 ब्राह्मण हैं।

येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र कर्नाटक कैबिनेट बर्थ से हुए बाहर

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा के बेटे बी.वाई. विजयेंद्र, बसवराज बोम्मई सरकार में कैबिनेट बर्थ से बाहर हो गये। विजयेंद्र पर सुपर मुख्यमंत्री के रूप में कार्य करने का आरोप लगाया गया था, कि कथित तौर पर वह अपने पिता के लिए सब कुछ तय कर रहे थे। सूत्रों ने कहा कि यह उस पार्टी की छवि के लिए हानिकारक होगा जो येदियुरप्पा के साये से आगे बढ़ना चाहती है।

सूत्रों ने कहा कि येदियुरप्पा को पद छोड़ने के लिए राजी करने के समय पार्टी ने विजयेंद्र को उपमुख्यमंत्री पद की पेशकश की थी। हालांकि, येदियुरप्पा ने इसे सिरे से खारिज कर दिया। बदले में, उन्होंने विजयेंद्र को राज्य पार्टी प्रमुख के रूप में नियुक्त करने का एक निर्थक प्रयास किया, जिसे पार्टी ने खारिज कर दिया। सूत्रों का कहना है, अपने इस्तीफे के बाद, येदियुरप्पा ने अपना विचार बदल दिया और अपने बेटे के लिए मंत्री पद की मांग रखी। हालांकि, शीर्ष नेताओं ने इसके खिलाफ फैसला किया।

यह भी पता चला है कि नए मंत्रियों की सूची की घोषणा को लेकर अंतिम समय में असमंजस की स्थिति थी। येदियुरप्पा, पार्टी के फैसले के बारे में जानने के बाद, परेशान थे और शीर्ष नेताओं को उन्हें शांत करने के लिए व्यक्तिगत रूप से फोन करना पड़ा। मुख्यमंत्री बोम्मई ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा और राज्य प्रभारी अरुण सिंह ने येदियुरप्पा को संदेश दिया था। पिछले विधानसभा चुनाव में वरुणा निर्वाचन क्षेत्र से अंतिम समय में विजयेंद्र को टिकट से वंचित कर दिया गया था। बाद में उन्हें प्रदेश पार्टी उपाध्यक्ष का पद दिया गया।




ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-29 ministers took oath in Basavaraj Bommai cabinet
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: chief minister basavaraj bommai, governor thaawarchand gehlot, 29 ministers, state cabinet, administered the oath, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, bengaluru news, bengaluru news in hindi, real time bengaluru city news, real time news, bengaluru news khas khabar, bengaluru news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2021 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved