• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

जम्मू-कश्मीर पुलिस कॉन्स्टेबल के लिए एएसपी बना मसीहा, ऐसे बचाई जान

Shutdown In Jammu And Kashmirs Kupwara After 10 Year Old Boys Murder - Kupwara News in Hindi

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर पुलिस के कॉन्स्टेबल जीएम मोहुद्दीन नौ वर्षीय उमर के शव मिलने की खबर लेकर बटेरगम गांव पहुंचा तो उसकी जान पर बन आई। दरअसल, कॉन्स्टेबल जीएम मोहुद्दीन ने मासूम उमर के मौत की खबर उसके परिजनों को सुनाई, गांव वालों ने उसे घेर लिया। कॉन्स्टेबल मोहुद्दीन कुछ समझ पाते इससे पहले कुछ लोगों ने उसे पीटना शुरू कर दिया। कॉन्स्टेबल अपनी जान बचाने के लिए इस भीड़ से जूझ पड़े, लेकिन सैकड़ों की तादाद में मौजूद लोगों का वह सामना नहीं कर सके। लोगों ने उन्हें जबरन पकड़ कर उनके हाथ-पैर बांध दिए। इसके बाद, कॉन्स्टेबल पर प्रताडऩा की इंतहा पार कर दी गई। उग्र भीड़ में मौजूद हर शख्स उनको अपने गुस्से का शिकार बनाने लगा।

कॉन्स्टेबल बार-बार यही कहता रहा कि उसका बच्चे की मौत से कुछ लेना-देना नहीं है। उसे बच्चे के शव बरामदगी की सूचना देने के लिए भेजा गया था। वह तो सिर्फ अपनी ड्यूटी पूरी कर रहा है। लेकिन उग्र भीड़ ने कॉन्स्टेबल की एक नहीं सुनी। वे बेरहमी से कॉन्स्टेबल की पिटाई करते रहे। ऐसा नहीं है कि गांव का हर शख्स कॉन्स्टेबल के साथ हो रहे अत्याचार से सहमत था। गांव में कुछ ऐसे भी लोग थे, जो कॉन्स्टेबल के साथ हो रहे अत्याचार के खिलाफ थे, लेकिन वह चाह कर भी उग्र भीड़ से दुश्मनी मोल नहीं ले सकते थे। इन्हीं गांव वालों में शामिल एक शख्स ने कॉन्स्टेबल पर हो रहे अत्याचार की जानकारी कुपवाड़ा के एडिशनल सुप्रीटेंडेंट ऑफ पुलिस शफाकत हुसैन तक पहुंचाया। सूचना मिलते ही, एएसपी शफाकत हुसैन दल-बल के साथ मौके के लिए रवाना हो गए।

मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस बल की हिम्मत नहीं पड़ रही थी कि वह उग्र भीड़ का सामना कर अपने साथी कॉन्स्टेबल की जान बचा सकें। अपने जवानों की कमजोर होती हिम्मत को एएसपी हुसैन ने पढऩे में देर नहीं लगाई। इस दौरान, उन्होंने जांबाजी का अद्भुत उदारण देते हुए भीडक़र चीरते हुए आगे बढऩा शुरू कर दिया। एएसपी के इस साहस को देखकर मौके पर मौजूद जवानों की हिम्मत मजबूत होने लगी।

उन्होंने अपने एएसपी का साथ देते हुए उग्र भीड़ को खदेडना शुरू किया। अब तक एएसपी हुसैन, कॉन्स्टेबल मोहुद्दीन तक पहुंच चुके थे। उन्होंने कॉन्स्टेबल मोहुद्दीन को अपनी सुरक्षा के घेरे में लिया और चट्टान की तरफ भीड़ के सामने खड़े हो गए। एएसपी हुसैन के पहुंचने के बाद एक भी हाथ कॉन्स्टेबल मोहुद्दीन तक पहुंचने में सफल नहीं हो सका। तब तक अन्य पुलिस कर्मियों भी उग्र भीड़ को काबू करने में सफल हो गए। एएसपी हुसैन के नेतृत्व में कॉन्स्टेबल मोहुद्दीन को मौके से बाहर निकाल कर, समीपवर्ती अस्पताल में भर्ती कराय गया। जहां उसकी हालत अब स्थित बताई जा रही है। वहीं, एएसपी हुसैन की इस बहादुरी की तारीफ जम्मू-कश्मीर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अमन पसंद हर नागरिक कर रहा है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Shutdown In Jammu And Kashmirs Kupwara After 10 Year Old Boys Murder
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: shutdown in jammu and kashmir, boys murder, additional superintendent of police, shafkat hussain, asp, जम्मू-कश्मीर पुलिस कॉन्स्टेबल, जीएम मोहुद्दीन, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, kupwara news, kupwara news in hindi, real time kupwara city news, real time news, kupwara news khas khabar, kupwara news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved