• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कैदियों को हरसंभव सहयोग प्रदान करने का किया आग्रह

Himachal Pradesh Chief Minister Jairam Thakur calls on to shed stigma around jail inmates - Shimla News in Hindi

शिमला। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां जेल और सुधार सेवाएं विभाग द्वारा आयोजित ‘जेलों में कैदियों को सकारात्मक गतिविधियों से जोड़ने’ पर आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए, समाज के सभी सदस्यों से सहयोग देने और जेल के कैदियों की मदद करने का आग्रह किया ताकि कारावास की अवधि पूरी होने के बाद कैदी सामान्य जीवन जी सकें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कैदी भी हमारे समाज का हिस्सा हैं और हम सभी को उनके प्रति मानवीय दृष्टिकोण अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कैदी और उनके परिवार के लिए जेल में रहने का सामाजिक कलंक स्पष्टीकरण से परे हैं।
जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य की विभिन्न जेलों में लगभग 2500 कैदी हैं। उन्होंने कहा कि कैदी अपनी गैरकानूनी गतिविधियों के लिए कानून के अनुसार सजा काट रहे हैं, लेकिन साथ ही यह हमारा कर्तव्य बन जाता है कि उनके परिवार के सदस्यों को कैदी के दुष्कृत्यों के कारण परेशानी न झेलनी पड़े। उन्होंने कहा कि जेल और सुधार केंद्रों में कई कैदी काम कर रहे हैं ताकि वे समाज के लिए सकारात्मक योगदान दे सकें।

मुख्यमंत्री ने जेल और सुधार सेवा विभाग की विभिन्न पहलों जैसे ई-पेशी, ई-जेल साॅफ्टवेयर्स और वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग की सुविधा की भी सराहना की। उन्होंने जेल प्रशासन से जेलों में बेहतर सुधार सुनिश्चित करने का आग्रह किया ताकि कैदी सम्मानजनक जीवन जीने के अलावा समाज के लिए भी अपना योगदान दे सकें। उन्होंने कहा कि कैदियों के पुनर्वास के लिए और अधिक प्रयास किए जाने चाहिए ताकि वे कारावास की अवधि पूरी होने के बाद सम्मानपूर्वक जीवन जी सकें। उन्होंने कहा कि गैर-सरकारी संगठनों, व्यक्तियों और औद्योगिक घरानों को भी कैदियों के पुनर्वास में सहयोग करना चाहिए।

जय राम ठाकुर ने एक काॅफी टेबल पुस्तक ‘हर हाथ को काम-ए गेम चेंजर’ का भी विमोचन किया। उन्होंने कैदियों के कल्याण के लिए महत्वपूर्ण योगदान देने वाले लोगों को ‘प्रशंसा पुरस्कार’ भी प्रदान किए। उन्होंने आशा जताई कि यह दो दिवसीय सम्मेलन जेलों में कैदियों को सकारात्मक गतिविधियों से जोड़ना सुनिश्चित करेगा।
मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनी स्टाॅलों का भी अवलोकन किया और कैदियों द्वारा तैयार वस्तुओं में गहरी दिलचस्पी दिखाई। इस अवसर पर शिमला बुक कैफे से संबंधित लघु फिल्म भी दिखाई गई।
मुख्य सचिव डाॅ. श्रीकांत बाल्दी ने कहा कि यह पहला अवसर है कि कैदियों के संबंध में एक सम्मेलन इतनी सकारात्मक उत्साह के साथ आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा कि यह जानकर खुशी हुई कि जेल के कैदियों के कल्याण के लिए काफी संख्या में उद्यमी काम कर रहे हैं।
वरिष्ठ अतिरिक्त महानिदेशक जेल शेर चंद शर्मा ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।कारागार और सुधार सेवाओं के महानिदेशक सोमेश गोयल ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का स्वागत और सम्मान किया। उन्होंने कहा कि जेल और सुधार सेवाओं के विभागों द्वारा जेल के कैदियों के उचित पुनर्वास को सुनिश्चित करना है ताकि वे कारावास का समय पूरा करने के बाद सामान्य जीवन जी सकें।

उन्होंने कैदियों के कल्याण के लिए विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न गतिविधियों के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि जेल के कैदियों द्वारा विभिन्न प्रकार का सामान तैयार किया जा रहा हैं, जिन्हें विभिन्न केंद्रों में बिक्री के लिए रखा गया है। इस अवसर पर अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एसजेवीएनएल नंद लाल शर्मा, पुलिस महानिदेशक, पूर्व पुलिस महानिदेशक तथा 21 राज्यों के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Himachal Pradesh Chief Minister Jairam Thakur calls on to shed stigma around jail inmates
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: himachal pradesh chief minister, jairam thakur, calls on to shed stigma around jail inmates, india news, india news in hindi, himachal pradesh news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, shimla news, shimla news in hindi, real time shimla city news, real time news, shimla news khas khabar, shimla news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हिमाचल प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved