• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

पनबिजली के लिए भूमि हस्तांतरण पर रोक से अदालत का इनकार

शिमला। हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय ने किनौर जिले में जंगल की जमीन को एशियन डेवलपमेंट बैंक द्वारा वित्तपोषित पनबिजली परियोजना को हस्तांतरित करने पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। यह परियोजना राज्य सरकार के स्वामित्व वाले हिमाचल प्रदेश पॉवर कॉर्पोशन लिमिटेड द्वारा निष्पादित की गई है। परियोजना का विरोध कर रहे स्थानीय निवासियों, कार्यकर्ताओं और पर्यावरण समूहों ने कहा कि 130 मेगावाट एकीकृत काशांग चरण 2 और 3 परियोजना के लिए अदालत का आदेश निराशाजनक है।

उन्होंने मीडिया से शनिवार को एक बयान में कहा, "मामले के गुणों को बिना देखे यह आदेश दिया गया, जिसमें पंचायत (अनुसूचित क्षेत्रों के लिए विस्तार) अधिनियम 1996 और वन अधिकार अधिनियिम 2006 जैसे संवैधानिक कानूनों का उल्लंघन शामिल है।" यह अधिनियम जनजातीय समुदायों के अधिकारों की रक्षा करने के लिए हैं।

याचिका को खारिज करते हुए मुख्य न्यायाधीश सूर्यकांत की अगुवाई वाली खंडपीठ ने सात जनवरी को कहा था, "प्रथम ²ष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि यह रिट याचिका निजी पनबिजली परियोजना के प्रस्तावकों द्वारा प्रायोजित की गई है, क्योंकि यह परियोजना स्पष्ट रूप से पास की निजी परियोजना के बाजार में उनकी उत्पादकता और एकाधिकार को प्रभावित कर सकती है।"

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Denial of court by prohibiting land transfer for hydroelectricity
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: hydroelectric project, land transfer, restraint, court, denial, himachal pradesh news, पनबिजली परियोजना, भूमि हस्तांतरण, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, shimla news, shimla news in hindi, real time shimla city news, real time news, shimla news khas khabar, shimla news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हिमाचल प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved