• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

कृषि शिखर सम्मेलन में बताए कम लागत में आमदनी बढ़ाने के टिप्स

rohtak news : gave Tips to Increase Income at Low Cost in the Agricultural Leadership Summit - Rohtak News in Hindi

चंडीगढ़/रोहतक। हरियाणा के रोहतक में आयोजित किए जा रहे कृषि शिखर सम्मेलन में कृषि के साथ-साथ सब्जी एवं फलों से बने उत्पाद को बढ़ावा देने के लिए सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में कृषि विशेषज्ञ बागवानी अनुसंधान केन्द्र मुम्बई के निदेशक डॉ.एस.के.मल्होत्रा, महाराणा प्रताप बागवानी महाविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ.राजबीर पान्नू, वैज्ञानिक डॉ. भुवनेश कोहली, डॉ. अजय यादव, कैप्टन कमलेश खोरी, डॉ. रमेश कुमार ने किसानों को कृषि लागत कम करके आमदनी बढ़ाने पर बल दिया।

बागवानी के महानिदेशक डॉ. अर्जुन सिंह सैनी की अध्यक्षता में आयोजित इस सेमिनार में उन्होंने कहा कि कृषि व्यवसाय के साथ-साथ कृषि संबद्ध व्यापार शुरू करना चाहिए। किसान अपने उत्पादों को प्रोसेसिंग के जरिए मार्केट में उतारेंगे तो कई गुणा मुनाफा लिया जा सकता है। गन्ना किसानों को गुड़ व खाण्ड बनाने के लिए कोल्हू चलाने चाहिए, ताकि उन्हें मार्केटिंग की उचित व्यवस्था मिलने के साथ-साथ इससे बने हुए उत्पाद को अच्छी आमदनी से बेचा जा सके। इसी प्रकार सरसों उत्पादित क्षेत्रों में तेल निकालने के डिपू, चन्ना उत्पादक क्षेत्रों में छोटी दाल मिल तथा गेहूं उत्पादक क्षेत्रों में फ्लोर मिल लगाकर अपने व्यवसाय को बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में सब्जी का अधिक उत्पादन होता है, उनमें किसानों को आलू से बने चिप्स जैसे उत्पादों की प्रोसेसिंग करनी चाहिए। इनसे किसानों की फसलें भी बर्बाद नहीं होंगी और उन्हें उचित दाम भी मिलेंगे।

उन्होंने कहा कि किसानों को वर्तमान सूचना प्रौद्योगिकी के समय में घर बैठे ही पोर्टल के माध्यम से मार्केटिंग पर चौकसी रखनी चाहिए। यदि कोई व्यापारी किसान के खेत से ही माल उठाने का लालच देता है तो वह भी किसानों के हित में नहीं है। बागवानी की अधिकांश फसलों के बीच में अन्य फसलों को उगाकर किसान जमीन की उपजाऊ एवं उर्वरा शक्ति बढ़ाने के साथ-साथ करोड़ों रुपए की आमदनी भी कर सकते हैं। फसल विविधिकरण, मार्केटिंग की चौकसी और मंडीकरण की जानकारी किसानों के लिए वरदान साबित होगी। उन्होंने कहा कि किसानों को अपना माल मंडी में ले जाने के लिए चेन सप्लाई सिस्टम अपनाना चाहिए। इसके माध्यम से किसान को कभी भी नुकसान से नहीं गुजरना पड़ेगा।

सेमिनार में वैज्ञानिकों ने यह भी सुझाव दिए कि समय की नजाकत को समझते हुए अपने खेतों में मांग अनुसार ही सब्जियों एवं फलों की बिजाई करनी चाहिए। विशेषकर खूम्बी, शिमला मिर्च, भिंडी जैसे उत्पादों की हमेशा कमी रहती है। इसी प्रकार फलों में स्ट्राबेरी व फूलों में गुलाब एवं चन्दन के फूलों की खेती की डिमांड सदैव बनी रहती है। उन्होंने कहा कि किसानों को अच्छे दाम लेने के लिए सामूहिक पैक हाउस बनाकर अपने फल एवं फूलों की ग्रेडिंग अनुसार पैकिंग करनी चाहिए। पैकिंग में ग्रेडिंग के अनुसार भी किसान बेहतर लाभ कमा सकते हैं। वैज्ञानिकों ने किसानों को कोल्ड स्टोरेज पर भी बल देने का आह्वान किया।

सेमिनार में फसल प्रबंधक, रोग मुक्त खेती, कम लागत पर बेहतर आमदनी, सामूहिक पैट हाउस, मार्केटिंग इंटेलेजेंसी, कृषि संबंद्ध उत्पादों पर किसानों ने सवाल-जवाब किए। वैज्ञानिकों ने उनके खुलकर जवाब देते हुए किसानों को संतुष्ट किया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-rohtak news : gave Tips to Increase Income at Low Cost in the Agricultural Leadership Summit
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: rohtak news, income, agricultural leadership summit rohtak, agricultural specialist horticulture research center mumbai, seminar in agricultural leadership summit rohtak, rohtak hindi news, rohtak latest news, haryana hindi news, रोहतक समाचार, हरियाणा समाचार, कृषि विशेषज्ञ बागवानी अनुसंधान केन्द्र मुम्बई, कृषि शिखर सम्मेलन रोहतक, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, rohtak news, rohtak news in hindi, real time rohtak city news, real time news, rohtak news khas khabar, rohtak news in hindi
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हरियाणा से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved