• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

पानीपत के टेक्सटाइल उद्योग को अंतरराष्ट्रीय पहचान मिलेगी

पानीपत। अंतरराष्ट्रीय मानकों पर आधारित टेक्सटाइल और हैण्डलूम से जुडा और आधुनिक सुविधाओं से युक्त फैसिलिटेशन केन्द्र स्थापित किया जाएगा, जहां पर अंतरराष्ट्रीय स्तर की लैब सहित अन्य तमाम सुविधाएं उपलब्ध होंगी जो उद्यमियों और बुनकरों के लिए कारगर सिद्ध होगी।

यह घोषणा केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने सेक्टर 25 स्थित एक निजी होटल में आयोजित रोड़ शो ऑन टेक्सटाइल इंडिया 2017 कार्यक्रम में की। बतौर मुख्य अतिथि उद्यमियों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने उद्यमियों को 30 जून से 2 जुलाई तक गुजरात के गांधी नगर में आयोजित टेक्सटाइल इंडिया 2017 में भाग लेने की अपील भी की। उक्त कार्यक्रम का उद्घघाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे।
केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि टेक्सटाइल उद्योग ही एक ऐसा उद्योग है जिसमें विगत 4 से 5 वर्षो में 18 से 20 प्रतिशत तक की बढोतरी हुई है और देशी और निर्यातक स्तर पर हथकरघा उद्योग 37 हजार करोड़ रूपये तक का है जो कि इस उद्योग को आगे ले जाने के लिए सकारात्मक संकेत है। उत्पादकता बढाने के लिए हमें आधारभूत सुविधाओं और निर्माण ढांचों को मजबूत करना होगा। ये सब आपस में मिल बैठकर चिंतन करने से होगा।
उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित प्रदेश के परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार व करनाल लोक सभा सांसद अश्वनी चौपड़ा से अनुरोध किया कि वे मुख्यमंत्री से मिलकर स्थानीय समस्याओं पर चर्चा करें। इससे पहले उद्यमियों से भी इस बारे सुझाव लें। इसके साथ-साथ उन्होंने स्थानीय अधिकारियों के साथ ही मिल बैठकर स्थानीय चुनौतियों का हल निकालने की बात भी कही।
स्मृति ईरानी ने कहा कि पानीपत से सम्बंधित योजनाओं के लिए सभी संगठन प्रस्ताव लेकर आएं। पहली बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने टेक्सटाइल और हथकरघा से जुडा अलग मंत्रालय बनाया है। बुनकरों के लिए विशेष तौर से योजनाएं चलाई गई है। अगर कोई भी बुनकर सरकारी उपक्रम से प्रशिक्षण प्राप्त कर डिजाइनिंग में महारथ हासिल करता है तो वह बुनकर कल्याण योजना के माध्यम से ऋृण लेकर अपना कार्य शुरू कर सकता है जिसमें 90 प्रतिशत पैसा भारत सरकार द्वारा दिया जाता है।
केन्द्रीय कपड़ा मंत्री ने बताया कि जो-जो भी बुनकर मुद्रा योजना से जुड़े हैं उनकी आमदनी 60 से 100 प्रतिशत तक बढी है। प्रधानमंत्री ने चालू वर्ष को गरीब कल्याण वर्ष घोषित किया है। उन्होंने सभी औद्योगिक संगठनों से अपील की कि वे अपने वर्करों का ज्यादा से ज्यादा कल्याण करें व उनको अपने साथ ज्यादा से ज्यादा जोड़ें। वर्करों को प्रधानमंत्री बीमा योजना, अटल पैंशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना ईत्यादि के बारे में पूरी जानकारी दें और इन योजनाओं के साथ जोड़ें।
उन्होंने परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार, सांसद अश्वनी चौपड़ा और विधायक रोहिता रेवड़ी से कहा कि वे प्रशासनिक और बैंक अधिकारियों के साथ सभी उद्यमियों की स्थानीय स्तर पर बैठक करवाएं ताकि धरातल पर स्थानीय आधारभूत ढाचे को सुधारने के प्रयास किए जा सकें।
उन्होंने बताया कि इस आयोजन में देश के 17 मंत्रालयों सहित 25 अन्य देशों बिजनेस लीडर शिरकत करेंगे। पानीपत की भी प्रर्दशनी में अलग पहचान दिखे इसके लिए सारी एसोसिएशन मिलकर आपस में समन्वय स्थापित करें और प्रर्दशनी में भाग लें। उन्होंने कहा कि आप सभी की समस्याओं के निवारण के लिए कपड़ा मंत्रालय के लिए संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी आपसे रूबरू होंगे।
करनाल लोक सभा सांसद अश्वनी चौपड़ा ने कहा कि हरियाणा में पानीपत ही एक ऐसा शहर है जो सीधे तौर पर टेक्सटाइल से जुडा हुआ है। समय-समय पर यहां की समस्याओं से रूबरू होने का मौका मिलता है लेकिन उनके स्थाई समाधान के लिए वे प्रयासरत हैं। उन्होंने केन्द्रीय कपड़ा मंत्री को आश्वासन दिया कि वे स्वयं 99 प्रतिशत उद्यमियों को वहां लेकर आएंगे।
परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार ने कहा कि पानीपत जिला हैण्डलूम के क्षेत्र में विश्व में एक अलग पहचान रखता है। उद्योग जगत को आगे ले जाने के लिए सरकार ने विशेष तौर पर उद्योग निति बनाई है। र अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Panipat to get international level of textile industry
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: haryana, panipat, international, textile, industry, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, panipat news, panipat news in hindi, real time panipat city news, real time news, panipat news khas khabar, panipat news in hindi
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हरियाणा से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved