• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

भागवत कथा का श्रवण करने वालों का सदैव कल्याण होता है : बोधराज सीकरी

Those who listen to Bhagwat Katha are always blessed: Bodhraj Sikri - Gurugram News in Hindi

गुरुग्राम। गुरुग्राम के लेजरवैली पार्क में श्रीमद्भागवत महापुराण कथा ज्ञान यज्ञ महोत्सव के पांचवें दिन कथावाचक महामंडलेश्वर आचार्य स्वामी ज्योतिर्मयानंद गिरी महाराज ने भगवान कृष्ण की बाल लीला का वर्णन किया। नटखट कन्हैया ने मिट्टी तो नहीं खाई है इसके लिए जब माता यशोदा ने बाल कृष्ण का मुंह खुलवाया तो मां को उन्हें मुंह में मिट्टी तो नजर नहीं आई लेकिन पूरा ब्रह्मांड जरूर नजर आ गया।
अखंड परमधाम के संस्थापक एवं श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र श्रीधाम अयोध्या ट्रस्ट के मुख्य स्थाई सदस्य श्री परमानन्द गिरी जी महाराज के सानिध्य में अखंड परमधाम के मुख्य संरक्षक महामंडलेश्वर आचार्य स्वामी ज्योतिर्मयानंद गिरी महाराज ने कृष्ण की बाल लीला, माखन चोरी, पूतना मोक्ष, काली निग्रह, गोवर्धन पूजा की कथा सुनाकर लोगों को परम सुख प्राप्त कराया।
आज की कथा में मुख्य अतिथि भाजपा नेता बोधराज सीकरी रहे और कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्व हिंदु परिषद के जिला अध्यक्ष अजीत ने की। आज कथा के मुख्य यजमान सुनील यादव वज़ीराबाद रहे। मुख्य अतिथि सीकरी ने कहा कि महाधनवान व्यक्ति वही है जो अपने तन, मन, धन से सेवा भक्ति करे। परमात्मा की प्राप्ति सच्चे प्रेम के द्वारा ही संभव हो सकती है। उन्होंने कहा कि भागवत कथा का श्रवण करने वालों का सदैव कल्याण होता है और मुक्ति मिलती है।
कथा वाचक आचार्य ज्योतिर्मयानंद गिरी ने बाल लीलाओं पर बोलते हुए बताया कि कंस द्वारा भेजी गई पूतना नाम की राक्षसी का भगवान श्रीकृष्ण ने स्तनपान करते-करते ही प्राण पखेरू उड़ गए और उसको मोक्ष दिया। बालक कृष्ण बाल लीलाओं से सभी का मन मोह लेते थे। नटखट स्वभाव के चलते यशोदा मां के पास उनकी हर रोज शिकायत आती थी। मां उन्हें कहती थीं कि प्रतिदिन तुम माखन चुरा के खाया करते हो। तो वह तुरंत मुंह खोलकर मां को दिखा दिया करते थे कि मैंने माखन नहीं खाया। गोपियों को बुरा नही लगता था, वे तो उनके बार बार दर्शन का व्याकुल होकर माता यशोदा के पास शिकायत को पहुंच जाती थीं।
श्रीकृष्ण बाल लीला की कथा सुनकर श्रद्वालु भगवान कृष्ण की जयजयकार कर भाव विभोर होकर झूम उठे। गोवर्धन पूजा की कथा सुनाते हुए आचार्य ने कहा कि इंद्र को अहंकार के चलते अपनी पूजा कराने का बहुत ही शौक था जिसका मान मर्दन कान्हा ने किया और इंद्र द्वारा अतिवृष्टि करने पर गोवर्धन पर्वत उठाकर जीवन को बचाने में महती भूमिका निभाई है। भगवान श्रीकृष्ण ने इंद्र के अभिमान को चूर किया। उन्होंने कहा कि जो सच्चे हृदय से भगवान को याद करते हैं, उन पर उनकी कृपा सदा बनी रहती है। लेकिन वर्तमान में मनुष्यों में धर्म के प्रति दिखावा अधिक है, इससे बचना चाहिए और भगवान को सच्चे हृदय से याद करना चाहिए।
आचार्य ज्योतिर्मयानंद गिरी ने बताया कि भागवत कथा सुनने से ऊर्जा का संचार होता है। जड़-चेतन सब जगह ईश्वर विद्यमान है। प्रत्येक घटना को ईश्वर की लीला मानना भी ईश्वर का ही चिंतन है। उन्होंने कहा कि दूसरों का अहित करने बाले को भगवान कभी क्षमा नहीं करते हैं, इसलिए अपने जीवन में सदैव दूसरों के हित का कार्य करें। जब-जब धरती पर धर्म नष्ट होकर अधर्म बढ़ता है तब-तब भगवान इस धरती पर जन्म लेकर भक्तों का उद्धार करते है।
मुख्य अतिथि बोधराज सीकरी ने कहा कि मनुष्य जीवन विषय वस्तुओं को भोगने के लिए नहीं बना है, लेकिन आज का मानव भगवान की भक्ति छोड़कर विषय वस्तुओं को भोगने मेें भी लगा हुआ है। जीवन में सदैव दूसरे के भलाई के काम करते रहना चाहिए, व्यक्ति को सपने में भी किसी का अहित नहीं करना चाहिए। यह मानव शरीर जगत कल्याण के लिए मिला है।
कथा में मुख्य रूप से कथा संयोजक गौ सेवा आयोग के वाइस चेयरमैन पूरन यादव, राम नरेश, शिक्षाविद इन्दु राव, यशवंत शेखावत, मीनू शर्मा, दीपा, मांगे राम, गजेन्द्र गोस्वामी, कृष्ण मुरारी शास्त्री, बलजीत यादव, हीरालाल, सुरेश बाबू गोयल, सोने लाल कश्यप, विहिप की ज़िला टोली व प्रमोद शर्मा आदि उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Those who listen to Bhagwat Katha are always blessed: Bodhraj Sikri
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: gurugram, shrimad bhagwat mahapuran katha gyan yagya mahotsav, leisure valley park, narrator, mahamandaleshwar acharya swami jyotirmayanand giri maharaj, childhood pastimes, lord krishna, naughty kanhaiya, soil, mother yashoda, universe, astrology in hindi, gurugram news, gurugram news in hindi, real time gurugram city news, real time news, gurugram news khas khabar, gurugram news in hindi
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हरियाणा से

जीवन मंत्र

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved