• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

चुनौती को बदलेंगे अवसर में, जल भराव वाली भूमि पर होगा मछली पालन: धनखड़

Haryanas Agriculture Minister OP Dhankar took Meeting of officials of Fishery, Irrigation, Panchayat and Agriculture Department - Chandigarh News in Hindi

चंडीगढ़। जलभराव से परेशान किसानों के लिए अच्छी खबर है। किसानों की ऐसी भूमि जहां किसान कोई फसल नहीँ उगा पा रहा, उस भूमि को मत्स्य विभाग लीज पर लेगा। जलाक्रांत से प्रभावित झज्जर और रोहतक की 16 हज़ार एकड़ भूमि की पहचान कर ली गई है।

हरियाणा के कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ ने इस संबंध में संभावनाओं को तलाशने के लिए विभिन्न विभागों के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई। मत्स्य, सिंचाई, पंचायत और कृषि विभाग के अधिकारियों की बैठक में यह सामने आया कि प्रदेश की चार लाख 15 हज़ार हैक्टेयर भूमि अत्यधिक जल ग्रस्त है। इसमें से झज्जर और चरखी दादरी के क्रमशः 25 और 35 गांवों में करीब 16 हज़ार एकड़ भूमि में किसान कोई फसल नहीं ले पा रहे। पहले चरण में झज्जर और दादरी में इस क्षेत्र में पायलेट प्रोजेक्ट चलाने का निर्यण लिया गया। दिल्ली के साथ का यह क्षेत्र होने के कारण इन जिलों को चुना गया। पैरी अर्बन एग्रीकल्चर को बढ़ावा देने की कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ की योजना में ये पायलेट प्रोजेक्ट मील का पत्थर साबित हो सकता है।

कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ का कहना है कि यह प्रोजेक्ट उन किसानों को राहत देने वाला होगा, जिनकी भूमि जलभराव प्रभावित होने के कारण आय का साधन नहीँ रही । योजना की विस्तृत जानकारी देते हुए कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ ने बताया कि इस नई योजना के अनुसार किसानों की ऐसी भूमि को मत्स्य पालन विभाग लीज पर लेगा। पंचायत विभाग के निर्धारित रेट के अनुसार इस जमीन को पांच साल के लिए देना होगा। इच्छुक किसान अपने अपने बी डी ओ को जानकारी दे सकते है। लीज पर ली गई जमीन पर मत्स्य विभाग मछली की खेती कराएगा। इससे किसानों की अनुपयोगी भूमि से उनको अच्छी आय हो सकेगी।

बैठक के बाद कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ ने बताया कि इस योजना पर तेजी से काम करने के लिये अथॉरिटी बनाकर जिम्मेदारी भी तय की गई है। इस कमेटी में कृषि, पंचायत, सिंचाई और मत्स्य विभाग के राज्य स्तर के अधिकारी शामिल होंगे। यह कमेटी इस योजना को मूर्त रूप देने के लिए तेजी से काम करेगी । कृषि विभाग के निदेशक इस कमेटी का संचालन करेंगे, जबकि मत्स्य विभाग के डी जी सचिव होंगे।

उल्लेखनीय है कि राज्य में कोई 4 लाख 15 हजार हैक्टेयर भूमि इस समस्या से प्रभावित है। इसमें से 62728 हैक्टेयर भूमि ऐसी है जहाँ का जमीनी पानी लेवल(चव्वा) 1.50 मीटर से कम है जबकि 3,52,204 हैक्टेयर भूमि ऐसी है जिसका लेवल 1.5 से 3 मीटर है। इस भूमि से किसान को फसल नहीं मिलती। किसानों को भूमि से आय नही होने के कारण उनके लिए यह एक चुनौती बनी हुई है। अब कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ ने इस चुनौती को अवसर में बदलने के लिये ठोस कदम उठाये हैं। इस बैठक में अधिकारियों की कमेटी को धरातल पर काम करने के निर्देश कृषि मंत्री ने दिए हैं और एक माह में रिपोर्ट मांगी है।

अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Haryanas Agriculture Minister OP Dhankar took Meeting of officials of Fishery, Irrigation, Panchayat and Agriculture Department
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: haryanas, agriculture minister, op dhankar, meeting, officials, fishery, irrigation, panchayat, agriculture, department, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, chandigarh news, chandigarh news in hindi, real time chandigarh city news, real time news, chandigarh news khas khabar, chandigarh news in hindi
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हरियाणा से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved