• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

हरियाणा के सीएम मनोहरलाल ने किसानों से की यह अपील, यहां पढ़ें

Haryana CM Manoharlal appealed to farmers, - Chandigarh News in Hindi

चंडीगढ़ । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश के किसानों से अपील की है कि रबी फसल की कटाई के बाद अब खरीफ फसलों की बुआई की तैयारी करने का समय आ गया है और धान के स्थान पर कम पानी से तैयार होने वाली अन्य वैकल्पिक फसलें जैसे कि मक्का, अरहर, ग्वार, तिल, ग्रीष्म मूंग (बैशाखी मूंग) व अन्य फसलों की बुआई करें। इससे हम भावी पीढ़ी के लिए पानी की बचत सुनिश्चित करने के साथ-साथ सरकार के ‘जल ही जीवन है’ अभियान को भी आगे बढ़ा सकेंगे।

इस बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि डार्क जोन, दिन-प्रतिदिन गिरता भू-जल तथा भू-जल का अत्यधिक दोहन हमारे लिए चुनौती बन गए हैं और आने वाली पीढिय़ों के लिए इन्हीं चुनौतियों का समाधान निकालने की हमने शुरूआत की है। दुनिया भर में ऐसा माना जा रहा है कि यदि तीसरा विश्व युद्ध होगा तो वह पानी के लिए होगा। इसलिए हमें भावी पीढ़ी के लिए अभी से ही पानी का संरक्षण करना होगा। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि अगर हम अपने जीवन में भावी पीढ़ी के लिए कुछ छोडक़र जाएं तो पानी से बेहतर कोई विकल्प नहीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे पूर्व भी वे इसके बारे किसान संघों के नेताओं से भी अपील कर चुके हैं वे किसानों को धान की बजाय अन्य वैकल्पिक फसलें की तरफ बढऩे के लिए प्रेरित करें।
उन्होंने यह भी बताया कि इस दिशा में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग भी जल संरक्षण की नई योजनाएं तैयार कर रहा है और इसमें किसान नेताओं व प्रगतिशील किसानों से सुझाव आमंत्रित किये गए हैं। मुख्यमंत्री ने किसानों से भी आह्वïान किया है कि वे भी अपने सुझाव विभाग को भिजवाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे प्रदेश के किसानों का आभार व्यक्त करते हैं कि पिछले वर्ष उनकी पहल पर धान बाहुल्य जिलों में 50,000 हैक्टेयर क्षेत्र में धान की फसल के स्थान पर मक्का, अरहर व अन्य फसलों उगाने के लिए ‘फसल विविधीकरण पायलट योजना’ की शुरूआत को उन्होंने सफल बनाकर देश के समक्ष एक अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया था। उन्होंने कहा कि अब इस क्षेत्र का दायरा बढ़ाकर इस वर्ष के लिए 1,00,000 हैक्टेयर क्षेत्र किया गया है। इसके लिए किसानों को अपना मन बनाना होगा कि आगामी खरीफ फसल बुआई की तैयारी करने से पहले ही यह तय कर ले कि हमें धान नहीं बल्कि अन्य वैकल्पिक फसलें अपनानी होगी ताकि हम भावी पीढ़ी के सुरक्षित भविष्य के लिए पानी की बचत सुनिश्चित कर सकें।

मनोहर लाल ने कहा कि हमें आमजन तक यह संदेश देना होगा कि पानी बचाना है तो धान नहीं लगाना है बल्कि धान के स्थान पर इसके बराबर आमदनी वाली फसलें उगानी हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि चरखी दादरी जिले की ग्राम पंचायत पैंतावास कलां ने अपने गांव में धान की फसल न बोने का संकल्प लेकर एक ऐसा उदाहरण प्रस्तुत किया है जोकि किसी भी पंचायत के लिए एक बड़ी सोच है और यह प्रदेश की अन्य पंचायतों के लिए भी एक प्रेरणा का काम करेगी।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Haryana CM Manoharlal appealed to farmers,
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: haryana cm manoharlal, haryana news, haryana hindi news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, chandigarh news, chandigarh news in hindi, real time chandigarh city news, real time news, chandigarh news khas khabar, chandigarh news in hindi
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हरियाणा से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved