• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, बच्चियों के साथ रेप वाली घटनाएं कब तक रुकेंगी

The Supreme Court said, how long the raped incidents with the girls will stop - Delhi News in Hindi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि बच्चियों के साथ रेप वाली घटनाएं कब तक रुकेंगी। यह टिप्पणी बिहार और उत्तरप्रदेश के गृह स्थलों मेें लगातार हो रहे बच्चियों के साथ रेप वाली घटनाओं दी। सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ में अभी हाल ही में घटित हुई घटना और 26 महिलाएं शेल्टर होम से गायब मिली। अभी हमने देखा कि कई महिलाओं के साथ यूपी और बिहार में बलात्कार की घटनाएं हुई हैं। ये घटनाएं क्यों हो रही है? कब तक ये घटनाएं रुकेंगी?।

न्यायालय ने कहा कि बिहार के मुजफ्फरपुर और उत्तरप्रदेश के देवरिया में घटित हुई बलात्कार की घटनाएं कब तक रुकेंगी। उच्चतम न्यायालय में कोर्ट की सलाहकार अपर्णा भट्ट ने कहा कि केंद्र सरकार को चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूशन की लिस्टों को यहां प्रस्तुत करना चाहिए और सामाजिक अंकेक्षण की रिपोर्ट भी पेश करना चाहिए। हम तब तक कुछ करने में असमर्थ रहेंगे जब तक केन्द्र सरकार के वकील पेश नहीं हो जाते।

न्यायालय ने सवाल दागा कि अभी तक केन्द्र सरकार के वकील क्यों नहीं पेश हुए। कुछ समय बाद केन्द्र सरकार के गृह मंत्रालय और महिला व बाल विकास मंत्रालय के वकील इस मामले में हाजिर हुए। इस पर सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि अलग-अलग मंत्रालय के लिए अलग-अलग वकीलों की आवश्यकता नहीं है। इस मामले में महिला और बाल विकास मंत्रालय के वकील की आवश्यकता है। न्यायालय ने कहा कि क्या एनसीपीसीआर ने देवरिया और प्रतापगढ़ में सर्वे किया था।

एनसीपीसीआर के वकील ने बताया कि कमिशन को बिहार, उत्तरप्रदेश, मध्य प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा और मिजोरम का सामाजिक अंकेक्षण नहीं करने दिया गया। न्यायालय सलाहकार ने कहा कि कुछ तथ्य छुपाने की इच्छा लग रही है। सर्वोच्च न्यायालय ने महिला और बाल विकास मंत्रालय को हिदायत देते हुए कहा कि वह राज्यों से डेटा लेकर यहां पेश करे कि कोष का इस्तेमाल कैसे कर रहा है। इसकी अगली सुनवाई 21 अगस्त के लिए टाल दी है। गत वर्ष 5 मई को उच्चतम न्यायालय ने अनाथालय और चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट में सेफ्टी और बच्चों के वेलफेयर सुनिश्चित करने के लिए कई निर्देश दिए थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-The Supreme Court said, how long the raped incidents with the girls will stop
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: the supreme court, rape, girls, stop, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved