• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

पत्रकार जो 17 दिन से नींद-सुख-चैन भुलाकर टनल में फंसे मजदूरों की पल-पल की ख़बर देता रहा

The journalist who forgot sleep and peace for 17 days and kept giving every moment news of the workers trapped in the tunnel - Delhi News in Hindi


-प्रदीप द्विवेदी-
नई दिल्ली। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में सिल्क्यारा टनल में 17 दिनों से फंसे 41 मजदूरों को निकालने का काम शुरू होने के बाद सिल्क्यारा सुरंग में फंसे मजदूरों में सबसे पहले विजय होरी को निकाला गया, इसके बाद गणपति होरी को बाहर निकाला गया। इन मजदूरों को निकालने में जब सारे आधुनिक तरीके लड़खड़ाने लगे तो- रैट माइनर्स इन मजदूरों के लिए जीवनदाता बनकर आए, जो चूहों की तरह खुदाई की तकनीक अपनाते हैं, जहां संकड़ी जगह होती है और बड़ी-बड़ी मशनें बेबस हो जाती हैं।
इस टनल में फंसे मजदूरों की लगातार जानकारी देने वाले पत्रकार अजीत सिंह राठी के लिए भगतराम ने लिखा- ये वो पत्रकार है जो 17 दिन से दिन-रात अपनी नींद...सुख-चैन भुलाकर टनल में फंसे मजदूरों के बारे में पल-पल की ख़बर देता रहा। लेकिन, अब क्रेडिट लेने के लिए उस क्रेडिटजीवी की अवैध संतानें आएंगी जिनके सारे कैमरे कल तक हमें तेजस की चुनावी उड़ान दिखा रहे थे। मंदिर में अपना नया भगवान दिखा रहे थे...शेषनाग के आगे खड़ा भेषनाग दिखा रहे थे। प्रचार निपटाकर वो भी बस आता ही होगा।
अजीत सिंह राठी ने ट्वीट किया.... 41 श्रमिक निकले, रेस्क्यू ऑपरेशन ओवरः
इससे पहले उम्मीद की पहली किरण पर लिखा था-उत्तरकाशी के सिल्क्यारा टनल की महाभारत 17 दिन बाद खत्म हुई। पिछले 17 दिन से 41 श्रमिक इस अंधी सुरंग में क़ैद थे जो आज खुली हवा में सांस लेंगे। टनल का देश का आज तक का यह सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन था।
केंद्र और राज्य सरकार के तमाम संसाधनों और अंतरराष्ट्रीय टनल वैज्ञानिकों की उपलब्धता, पीएमओ की क्लोज मॉनिटरिंग के चलते इतना समय लगना चौंकाता ज़रूर है, लेकिन चुनौती प्रकृति से मिली थी। ख़ैर, इस ऑपरेशन में योगदान देने वाले हर उस व्यक्ति का धन्यवाद, जिसने गिलहरी भर का भी योगदान दिया है।
https://twitter.com/i/status/1729521751174836475

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-The journalist who forgot sleep and peace for 17 days and kept giving every moment news of the workers trapped in the tunnel
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: new delhi, silkyara tunnel, uttarkashi district, uttarakhand, evacuation, laborers, vijay hori, ganpati hori, modern methods, rat miners, digging technique, narrow space, lifesaver, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved