• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 3

सिंघु, टिकरी सीमाएं अभी भी बंद, बुराड़ी जाने के लिए अनिच्छुक हैं किसान, दिल्ली बॉर्डर पर नारेबाजी जारी, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली। सिंघु और टिकरी में दोनों ओर से यातायात शनिवार को दूसरे दिन भी बाधित रहा, क्योंकि दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करने की योजना बना रहे किसान इन अंतरराज्यीय सीमाओं पर हैं और वे बुराड़ी नहीं जाना चाहते हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बसों, ट्रकों और ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से दिल्ली जा रहे किसानों के कारण यात्रियों को असुविधा से बचाने के लिए मुकरबा चौक और जीटीके रोड से ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया है। दिल्ली सीमा पर इकट्ठे हुए किसानों को केवल बुराड़ी मैदान की ओर जाने की अनुमति दी गई थी। हालांकि, सिंघु और टिकरी में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने कहा कि वे विरोध के लिए मध्य दिल्ली के रामलीला मैदान या जंतर मंतर में जाना चाहते हैं।

पुलिस अधिकारियों के अनुरोध के बाद भी किसान बुराड़ी न जाने के लिए अड़े हुए हैं क्योंकि उन्हें डर है कि इससे उनका तीन कृषि कानूनों के विरोध में केन्द्र के खिलाफ चल रहा आंदोलन कमजोर हो जाएगा। इसी बीच बुराड़ी के निरंकारी मैदान भेजे गए किसानों का एक हिस्सा यह कहकर लौट आया है कि "यह उन्हें भ्रमित करने की रणनीति है"। एक किसान ने कहा, "मैदान में प्रवेश करने के बाद पुलिस हमारे ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को बाहर नहीं आने दे रही है। हम वहां नहीं जाना चाहते हैं। हम केवल सीमा के प्रवेश/निकास बिंदु पर ही घेराबंदी करेंगे। हम बुराड़ी नहीं जाएंगे।"

इस बीच शुक्रवार शाम को बुराड़ी के मैदान में किसानों के शिविर के लिए पानी और अन्य जरूरी सामानों की व्यवस्था की गई। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी विरोध स्थल की देखरेख कर रहे हैं और सिंघू-टिकरी सीमाओं पर लगातार सतर्कता बरती जा रही थी।


दिल्ली बॉर्डर पर नारेबाजी जारी


दिल्ली के सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर शनिवार को सूरज की पहली रोशनी के साथ ही किसानों के विरोध प्रदर्शन का दूसरा दिन भी जोर-शोर से शुरू हो गया और 'काला कानून' का नारा लगाते हुए नई सुबह का स्वागत किया गया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर हजारों किसान अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं और सिंघु और टिकरी, दोनों सीमाओं पर नारेबाजी कर रहे हैं।

वहीं विरोध के बीच एक अजीब नजारा देखने को मिला, दरअसल किसानों ने शांति और सौहार्द बनाए रखने के लिए स्वयं बैरिकेडिंग की थी, हालांकि सड़क पर अवरोध के कारण वहां से गुजरने वाले यात्रियों के लिए परेशानी उत्पन्न हो रही थी, क्योंकि इन सीमाओं की ओर जाने वाले विभिन्न मार्गों पर यातायात को डायवर्ट किया गया था। वे एकजुट स्वर में अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं और अपनी मांग पर अड़े हैं। इस आंदोलन की योजना दो महीने तक के लिए बनाई गई है। वे तब तक अपना विरोध प्रदर्शन समाप्त नहीं करेंगे, जब तक सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती। वह संसद के मानसून सत्र में पारित कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Singhu, Tikari borders still closed, farmers reluctant to go to Burari
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: singhu, tikari borders still closed, farmers are reluctant to go bad, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2021 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved