• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

निर्भया के दोषियों को 7 साल बाद मिली सजा, पोस्टमार्टम के बाद रिश्तेदारों को सौंपा शव

नई दिल्ली। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में शुक्रवार सुबह ठीक 5.30 बजे फांसी दे दी गई। इसके साथ ही तिहाड़ में पहली बार एक साथ चार लोगों को फांसी दी गई है। इन चारों दोषियों को दुष्कर्म के एक मामले में फांसी की सजा दी गई। निर्भया के दोषियों को अदालत द्वारा दिए गए मृत्युदंड के फैसले को क्रियान्वित करने का काम पवन जल्लाद ने किया। पवन का परिवार कई पीढ़ियों से जल्लाद का काम करता आ रहा है। पवन के पर-दादा लक्ष्मण, दादा कालू जल्लाद और पिता मम्मू जल्लाद भी फांसी की सजा को क्रियान्वित करने का काम किया करते थे।


अपडेट....
-पोस्टमार्टम के बाद रिश्तेदारों को दोषियों का शव सौंप दिया गया है।

-दो दोषियों का पोस्टमार्टम हो गया है। अब मुकेश के शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है। इस बीच अस्पताल के बाहर सभी दोषियों के रिश्तेदार पहुंच गए हैं।

-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने निर्भया के दोषियों को फांसी लगने के बाद ट्वीट करते हुए लिखा है कि न्याय हुआ है। महिलाओं की गरिमा और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए इसका अत्यधिक महत्व है। हमारी नारी शक्ति ने हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। हमें मिलकर एक ऐसे राष्ट्र का निर्माण करना है, जहां महिला सशक्तीकरण पर ध्यान दिया जाए, जहां समानता और अवसर पर जोर हो।
-तिहाड़ जेल के महानिदेशक ने बताया कि दोषी मुकेश और विनय ने रात का भोजन किया और अक्षय ने केवल चाय पी। विनय थोड़ा रोया लेकिन, सभी 4 अपराधी शांत थे। अदालत के आदेशों पर उन्हें लगातार अपडेट किया गया। अगर उनके परिवार शव मांगते हैं तो उन्हें सौंप दिया जाएगा। उनका अंतिम संस्कार करना हमारा कर्तव्य है।

- डॉक्टरों ने चारों दोषियों के शवों को पोस्टमार्टम कर दिया है। अब थोडी देर में परिजनों को शव सौंप दिया जाएगा।

- चारों दोषियों के शवों का पोस्टमार्टम के लिए दीनदयाल उपाध्याय हॉस्पिटल भेज दिया गया है। वहां पांच सदस्यीय मेडिकल टीम पोस्टमार्टम करेगी। इसके बाद शवों को परिजनों को सौंप देंगे।



पवन ने चार दोषियों को एक साथ फांसी पर लटकाकर आजाद भारत में तिहाड़ जेल में हुई फांसियों को लेकर अपना नाम इतिहास में दर्ज करा लिया है। यहां एक ही अपराध के लिए चार दोषियों को एक साथ फांसी देने का यह रिकॉर्ड अब पवन के नाम है। वहीं, डीजी जेल दोषियों की फांसी से पहले 24 घंटे तक जागते रहे और जेल के भीतर ही मौजूद रहे। जेल नंबर तीन के सुपरिटेंडेंट सुनील, एडिशनल आईजी (जेल) राजकुमार शर्मा और जेल के लीगल ऑफिसर पूरी रात जागते रहे। दूसरी ओर फांसी के बाद पवन जल्लाद को कड़ी सुरक्षा के बीच तिहाड़ जेल से मेरठ के लिए रवाना कर दिया गया है।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-nirbhaya gang-rape case: All 4 death row convicts have been hanged at Tihar jail
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: nirbhaya case hanging, nirbhaya rape case, delhi gang rape, 2012 delhi gang rape, nirbhaya case, unconscious, nirbhaya gangrape and murder case, nirbhaya gangrape, patiala house court, निर्भया गैंगरेप और मर्डर, निर्भया केस, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved