• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

आईआईटी मद्रास ला रहा है स्कूल कॉलेज के 10 लाख छात्रों के लिए 'आउट ऑफ द बॉक्स थिंकिंग'

IIT Madras is bringing out of the box thinking to 10 lakh college students - Delhi News in Hindi

नई दिल्ली। आईआईटी मद्रास नवीन सोच को प्रोत्साहित करने के लिए गणित के माध्यम से 'आउट ऑफ द बॉक्स थिंकिंग' पर एक पाठ्यक्रम शुरू करेगा। संस्थान इस पाठ्यक्रम के माध्यम से कामकाजी पेशेवरों और शोधकर्ताओं के अलावा स्कूल और कॉलेजों के 10 लाख छात्रों को लक्षित कर रहा है। यह देशभर में अपनी तरह की नई पहल है।


ये पाठ्यक्रम आईआईटी मद्रास प्रवर्तक टेक्नोलॉजीज के माध्यम से ऑनलाइन मोड में मुफ्त में पेश किए जाएंगे। आईआईटी मद्रास की फाउंडेशन, सेक्टर 8 कंपनी मामूली शुल्क पर परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए ग्रेड सर्टिफिकेट भी जारी करेगी। अंतिम परीक्षा भारत भर के चुनिंदा शहरों के केंद्रों पर आयोजित की जाएगी। यह पाठ्यक्रम ऑनलाइन मोड में उपलब्ध कराया जा रहा है।

छात्रओं और शोधकर्ताओं को पाठ्यक्रमों के चार वगीर्कृत स्वतंत्र स्तरों तक आसानी से पहुंच मिल सकेगी। पाठ्यक्रम का पहला बैच 1 जुलाई 2022 को शुरू होने वाला है। इस तरह के पाठ्यक्रमों की आवश्यकता के बारे में बताते हुए आईआटी मद्रास के निदेशक, प्रोफेसर वी. कामकोटी ने कहा, यह अपनी तरह का पहला पाठ्यक्रम है जो भारत में आने वाले दिनों में एक बड़ा प्रभाव डालेगा। हम इस पाठ्यक्रम के लाभ अगले कुछ वर्षों में देखेंगे। पाठ्यक्रम निशुल्क है। स्कूलों और कॉलेजों के छात्रों, खासकर ग्रामीण भारत में रहने वाले छात्रों को इस पाठ्यक्रम से बहुत लाभ होगा।

इसके अलावा, प्रो. कामकोटी ने कहा कि आउट ऑफ द बॉक्स' सोच एक अप्रत्यक्ष और रचनात्मक ²ष्टिकोण के माध्यम से समस्याओं को हल कर रही है। ऐसे तर्क का उपयोग करना जो तुरंत स्पष्ट नहीं है और इसमें ऐसे विचार शामिल हैं जो केवल पारंपरिक चरण-दर-चरण तर्क का उपयोग करके प्राप्त नहीं किए जा सकते हैं। इस अनूठे पाठ्यक्रम में गणित के ज्ञात और अज्ञात तथ्यों को तार्किक रूप से पुन खोज कर सोच पर बल दिया जाता है।

यह पाठ्यक्रम किसी समस्या को हल करने के लिए कई दृष्टिकोण पेश करेगा, यह एक मिथक को दूर करता है कि समस्या समाधान कुछ चुनिंदा लोगों के लिए ही है। यह एक आसान-लो-अंडरलैंड फैशन में नई तकनीकों को पेश करेगा। उपयोगकर्ताओं को विश्वास और सहजता के साथ वास्तविक जीवन की परियोजनाओं का सामना करने के लिए तैयार करेगा।

पाठ्यक्रम, आर्यभट्ट गणितीय विज्ञान संस्थान के संस्थापक-निदेशक सदगोपन राजेश द्वारा पढ़ाए जाएंगे। वह पिछले 30 वर्षों से स्कूल और कॉलेज के छात्रों को गणित पढ़ा रहे हैं। उन्होने छात्रों को विभिन्न प्रकार के रचनात्मक और डिजाइन किए गए पाठ्यक्रमों के साथ प्रेरित किया है। वह प्राथमिक से लेकर हाई स्कूल तक के छात्रों के लिए पोषण कार्यक्रम भी आयोजित करते रहे हैं।

इस पहल के बारे में बोलते हुए, सदगोपन राजेश ने कहा, अगर हम गणित के साथ संपर्क करें, विषय को अधिक तार्किकता के साथ महसूस करें विश्लेषणात्मक तर्क से हम अपनी सोच को व्यापक बना सकते हैं। महत्वपूर्ण परिणाम कौशल का विकास जो तेजी से बदलती तकनीकी दुनिया में फिट और प्रभावी रूप से योगदान करने के लिए आवश्यक हैं।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-IIT Madras is bringing out of the box thinking to 10 lakh college students
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: iit madras, schools colleges, 10 lakh students, out of the box thinking, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved