• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

विदेश मंत्री ने बताया, 1962 के युद्ध और 1972 के शिमला समझौते ने कैसे बढ़ाया हमारा सिरदर्द

नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने गुरुवार को कहा कि चीन के साथ 1962 के युद्ध के बाद भारत के स्टैंड को बड़ा नुकसान हुआ, जबकि उस समय भारत दुनिया में मजबूत स्थिति में दिख रहा था। जयशंकर ने यहां चौथे रामनाथ गोयंका मेमोरियल लेक्चर के दौरान यह बात कही। जयशंकर ने पाकिस्तान के साथ 1972 में हुए शिमला समझौते का भी उल्लेख करते हुए कहा कि इसके चलते पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में समस्याएं पैदा करनी शुरू कर दी थीं।

जिस तरह से दुनिया में बदलाव हो रहा है वैसे हालात में भारत के सामने जो चुनौतियां हैं वो पहले से अलग है। भारत के लिए चीन और अमेरिका दोनों अहम हैं। फ्रांस के साथ हमारे रिश्ते उच्चतम स्तर पर है, तो रूस के साथ हमारी नजदीकी बढ़ी है।

इसमें दो राय नहीं कि पाकिस्तान का एजेंडा आतंकवाद पर केंद्रित रहा है और मौजूदा तारीख में उसे लगता है कि वो सिर्फ और सिर्फ आतंकवाद से खुद की प्रासंगिकता दुनिया के सामने साबित कर सकता है। मुंबई हमलों के वक्त पाकिस्तान ने जो प्रतिक्रिया दी थी वो बालाकोट से अलग है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-External affairs minister S Jaishankar reaction about 1962 war and 1972 shimla pact
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: external affairs minister s jaishankar, 1962 war, 1972 shimla pact, s jaishankar, china, pakistan, america, afghanistan, balakot, jammu and kashmir, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved