• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

दिल्ली मेट्रो को मिली नई तकनीक, पहले स्वदेशी आई-एटीएस सिस्टम का शुरू हुआ ट्रायल

Delhi Metro gets new technology, first indigenous I-ATS system trial begins - Delhi News in Hindi

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो को 19 साल पूरे हो गए हैं, वहीं 20वें वर्ष के मौके पर यात्रियों के लिए नई तकनीक के साथ सुविधाओं में भी इजाफा किया जा रहा है। इसी के तहत दिल्ली मेट्रो की रेड लाइन शहीद स्थल-रिठाला पर शुक्रवार को पहला स्वदेशी देश में विकसित ऑटोमेटिक ट्रेन सुपरविजन टेक्नोलॉजी (आई-एटीएस) का फील्ड ट्रायल शुरू किया गया। इस (आई-एटीएस) टेक्नोलॉजी का विकास डीएमआरसी और बीईएल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया है और इसे रेड लाइन पर क्रियान्वित किया जा रहा है। इसके बाद भारत विश्व के उन चुनिंदा देशों में शामिल हो जाएगा, जिनका अपना एटीएस उत्पाद है। जिसे अन्य मेट्रो के साथ ही साथ रेल प्रणालियों पर भी क्रियान्वित किया जा सकता है।

दरअसल एटीएस एक कंप्यूटर आधारित सिस्टम है, जो ट्रेन परिचालन को नियंत्रित करता है। यह सिस्टम मेट्रो जैसे उच्च सघनता वाले ऑपरेशन के लिए अनिवार्य है, जहां प्रत्येक कुछ मिनट में सेवाएं निर्धारित हैं।

आई-एटीएस सिस्टम का आगामी फेज-4 कॉरिडोरों में भी उपयोग किया जाएगा। वहीं फेज-4 कॉरिडोरों में आई-एटीएस सिस्टम का उपयोग करते हुए भावी (प्रेडिक्टिव) मेंटनेंस मॉड्यूल की भी शुरूआत की जाएगी। साथ ही आई-एटीएस सिस्टम का विकास मेट्रो रेलवे के लिए देश में ही निर्मित कम्यूनिकेशंस बेस्ड ट्रेन कंट्रोल (सीबीटीसी) आधारित सिगनलिंग टेक्नोलॉजी के विकास की ओर एक बड़ा कदम है, क्योंकि आई-एटीएस सीबीटीसी सिगनलिंग सिस्टम का एक महत्वपूर्ण सब-सिस्टम है।

इसके अलावा आवास और शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन पर विकसित दिल्ली मेट्रो की गौरवशाली यात्रा का चित्रण संबंधी प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया। यह वही स्थल है, जहां तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 2002 में आज ही के दिन राष्ट्रीय राजधानी में मेट्रो के सबसे पहले कॉरिडोर का उद्घाटन किया था।

इसे एक पूर्ण प्रदर्शनी के रूप में रि-डेवलप किया गया है जो आगंतुकों को अमूल्य फोटोग्राफ एवं कहानियों के माध्यम से भारत में जन परिवहन के क्षेत्र में नई क्रांति का सूत्रपात करने वाले उस ऐतिहासिक दिन को याद कराती हैं। यह प्रदर्शनी स्थायी तौर पर लगाई गई है और दिल्ली मेट्रो के सबसे बड़ी इंटरचेंज सुविधा का उपयोग करने वाले यात्री किसी अतिरिक्त खर्च के बिना यह प्रदर्शनी देख सकेंगे।

इस मौके पर आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, वहीं डीएमआरसी प्रबंध निदेशक डॉ. मंगू सिंह व अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Delhi Metro gets new technology, first indigenous I-ATS system trial begins
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: delhi metro, new technology, first indigenous i-ats system, trial started, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved