• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

63 लाख लोग होंगे प्रभावित, बुलडोजर के खिलाफ खड़े हो विधायक - अरविंद केजरीवाल

63 lakh people will be affected, MLAs stand against bulldozers - Arvind Kejriwal - Delhi News in Hindi

नई दिल्ली । दिल्ली सरकार ने अपने सभी विधायकों को नगर निगम के बुलडोजर के खिलाफ खड़ा होने की हिदायत दी है। राज्य सरकार का मानना है कि 63 लाख लोग और 80 प्रतिशत से अधिक दिल्ली, नगर निगम के बुलडोजर से प्रभावित होगी। सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी पार्टी के सभी विधायकों एवं मंत्रियों की एक बैठक बुलाई। इस बैठक में मुख्यमंत्री ने विधायकों से कहा कि वे निगम द्वारा की जा रही बुलडोजर की कार्रवाई का खुलकर विरोध करें। इसके लिए यदि उन्हें जेल भी जाना पड़ता है तो जेल जाने से न डरे। पार्टी अपने ऐसे सभी विधायकों के साथ खड़ी है।
केजरीवाल का कहना है कि इनकी प्लानिंग है कि दिल्ली की सारी कच्ची कॉलोनियों को तोड़ा जाएगा। दिल्ली की कच्ची कॉलोनियों में लगभग 50 लाख लोग रहते हैं। इनकी प्लानिंग है कि दिल्ली की सारी झुग्गियों को तोड़ा जाए। दिल्ली की झुग्गियों में लगभग 10 लाख लोग रहते हैं। इसके अलावा तीन लाख ऐसी प्रॉपर्टी की लिस्ट बना रखी है जहां नक्शे से बाहर जाकर थोड़ा बहुत निर्माण कर रखा है। जैसे बालकनी इत्यादि। ऐसे में 63 लाख लोगों बुलडोजर से प्रभावित होंगे ।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि पिछले कुछ हफ्तों से भाजपा शासित नगर निगम द्वारा दिल्ली के कई हिस्सों में बुलडोजर चलाए जा रहे हैं। केजरीवाल के मुताबिक निगम की योजना अगले कई महीनों तक इसी तरह बुलडोजर की है। मुख्यमंत्री का कहना है कि वह खुद भी अतिक्रमण के खिलाफ है लेकिन पिछले 75 साल में दिल्ली जिस तरह से बनी है वह प्लान तरीके से नहीं बनायी।

80 प्रतिशत से अधिक दिल्ली अतिक्रमण के दायरे में आती है ऐसे में प्रश्न उठता है तो फिर क्या 80 प्रतिशत दिल्ली को तोड़ा जाएगा। दूसरा प्रश्न यह है कि जिस तरह से अतिक्रमण को तोड़ा जा रहा है न कोई कागज है न कोई प्रक्रिया बस बुलडोजर लेकर किसी भी कॉलोनी में पहुंच जाते हैं और लोगों का घर तोड़ने लगते हैं। लोग कागज लेकर बुलडोजर के सामने खड़े हैं। वह अपील करते हैं कि हमारे पास पूरे कागज हैं हमारे घर मत तोड़ो लेकिन उनकी नहीं सुनी जा रही बुलडोजर से घर तोड़े जा रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा कि मैं समझता हूं कि यह आजाद भारत का सबसे बड़ा विध्वंस होगा, यह तो ठीक नहीं है। उनका कहना है कि चुनाव के पहले भारतीय जनता पार्टी ने कहा था कि कच्ची कॉलोनियों के लोगों को मालिकाना हक दिलाया जाएगा। इन लोगों ने कहा था जहां झुग्गी वहीं मकान बनाकर दिए जाएंगे और अब चुनाव के बाद यह इनको तोड़ने के लिए आ गए।

केजरीवाल ने कहा कि मैं फिर से दोहराना चाहता हूं कि हम अतिक्रमण के खिलाफ है। मैं भी चाहता हूं कि हमारी दिल्ली सुंदर और अच्छी दिखे लेकिन 63 लाख लोगों की दुकानें, घर तोड़ देना ठीक नहीं है। यह कार्रवाई कोई बर्दाश्त नहीं करने वाला। 15 वर्षों से नगर निगम में दिल्ली का राज है। 15 साल में इन लोगों ने क्या किया। भाजपा ने अपने राज्य के दौरान अवैध बिल्डिंग बनवाई, पैसे लेकर अवैध निर्माण होने दिए। अब जब 18 मई को इनका कार्यकाल पूरा होने जा रहा है अब ऐसे में क्या इनके पास नैतिक शक्ति है, क्या संवैधानिक शक्ति है कि ऐसा बुलडोजर चलाने की कार्रवाई कर सकें।

केजरीवाल ने कहा कि चुनाव के बाद नगर निगम में आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी। हम आज सब को भरोसा दिलाते हैं कि नगर निगम में जीत के बाद हम इस समस्याओं को सुलझाएंगे। कच्ची कॉलोनियों को साफ सुथरा बनाएंगे, वहां रहने वाले लोगों को मालिकाना का हक देंगे। उनको अच्छी कॉलोनियों के रूप में विकसित करेंगे। झुग्गी वालों के लिए हम लोग मकान बना रहे हैं टाइम लग रहा है ।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज मैंने विधायकों की मीटिंग ली और उनको यही कहा है कि अगर जेल भी जाना पड़े तो डरना मत लेकिन आपको जनता के साथ खड़ा होना है। इस प्रकार बुलडोजर लेकर दादागिरी करना ठीक नहीं है। दादागिरी गुंडागिरी करना सही नहीं है अपनी शक्ति का गलत इस्तेमाल करना सही नहीं है।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-63 lakh people will be affected, MLAs stand against bulldozers - Arvind Kejriwal
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: arvind kejriwal, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved