• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

स्वामी विवेकानंद की इन 10 बातों से आएगा जीवन में सकारात्मक बदलाव

नई दिल्ली। महान दार्शनिक स्वामी विवेकानंद ने भारत के उत्थान में खास भूमिका निभाई थी। उनका जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में कायस्थ परिवार में हुआ था। उनका नाम नरेंद्रनाथ दत्त था। उन्होंने बेहद कम उम्र में ही वेद और दर्शन शास्त्र का ज्ञान हासिल कर लिया था। विवेकानंद के पिता विश्वनाथ दत्त कोलकाता हाईकोर्ट के वकील थे, जबकि मां भुवनेश्वरी देवी धार्मिक विचारों वाली महिला थीं।

पिता की 1884 में पिता की मौत के बाद विवेकानंद पर परिवार की जिम्मेदारी आ गई। 25 साल की उम्र में गुरु से प्रेरित होकर उन्होंने मोह-माया त्याग दी और संन्यासी बन गए। अमेरिका में 11 सितंबर 1893 को हुई धर्म संसद में जब विवेकानंद ने भाषण शुरू किया तो दो मिनट तक आर्ट इंस्टीट्यूट ऑफ शिकागो में तालियां बजती रहीं।

विवेकानंद ने रामकृष्ण मिशन और रामकृष्ण मठ की स्थापना की। वर्ष 1985 से 12 जनवरी को भारत में हर साल राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। विवेकानंद ने 4 जुलाई 1902 को बेलूर स्थित रामकृष्ण मठ में ध्यानमग्न अवस्था में महासमाधि धारण कर प्राण त्याग दिए।

ये हैं स्वामी विवेकानंद के 10 अनमोल विचार :-

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-10 Life Teachings of Swami Vivekananda
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: 10 life teachings, swami vivekananda, swami vivekananda birth, swami vivekananda birth anniversary, swami vivekananda jayanti, swami vivekananda us speech, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved