• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

मिनर्वा एकेडमी बनी चैम्पियन ऑफ इंडिया : फाइनल में 1-2 से पिछड़ने के बाद बेंगलुरु एफसी को 7-4 से हराया

Minerva Academy became the champion of India: After trailing 1-2 in the final, defeated Bengaluru FC by 7-4 - Chandigarh UT News in Hindi

चंडीगढ़। मिनर्वा एकेडमी के युवा खिलाड़ियों ने सब-जूनियर आईलीग में अजेय रहते हुए खिताबी जीत दर्ज की। फाइनल में उनका सामना आईएसएल क्लब बेंगलुरू एफसी के साथ था। मिनर्वा टीम हाफ टाइम तक 1-2 से पिछड़ रही थी। लेकिन, सेकंड हाफ में टीम ने 6 गोल दागते हुए 7-4 की खिताबी जीत दर्ज की। लीग में एक भी मैच टीम ने गंवाया नहीं और 11 मैच में उन्होंने कुल 127 गोल करते हुए अपनी बादशाहत कायम की।

फाइनल मैच में मिनर्वा एकेडमी ने अच्छी शुरुआत की और 11वें मिनट में डेनामोनी ने टीम का खाता खोल दिया। बेंगलुरू एफसी ने वापसी करते हुए दो गोल किए। 12वें मिनट में साहेल ने और 21वें मिनट में साकिप ने गोल करते हुए स्कोर 1-2 कर दिया। हाफ टाइम तक यही स्कोर रहा। दूसरे हाफ में मिनर्वा एकेडमी ने नई शुरुआत की और डेनामोनी ने 23वें मिनट में स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया। 34वें मिनट में बेंगलुरू के याजनास ने गोल किया और 2-3 से बढ़त बनाई।
मिनर्वा के लिए 39वें मिनट में आजम ने गोल किया और बेंगलुरु ने इसी मिनट में ओन्ड गोल से मिनर्वा को फायदा पहुंचाया। 44वें मिनट में गोल के साथ बेंगलुरु ने वापसी का प्रयास किया, लेकिन वे सफल नहीं हो सके। डेनामोनी ने 45वें मिनट में शानदार गोल के साथ हैट्रिक पूरी की और पुनशिबा ने 49वें मिनट में पेनल्टी किक को गोल में बदलकर स्कोर 6-4 कर दिया। टीम की जीत पक्की मानी जा रही थी, तभी आजम ने 50+3 मिनट में गोल करते हुए जीत पर मुहर लगा दी।
मिनर्वा एकेडमी एफसी ने 7-4 स्कोर के साथ सब-जूनियर लीग की ट्रॉफी अपने नाम कर ली। मिनर्वा ने पूरी लीग के दौरान एक भी मैच नहीं गंवाया। वे लगातार बड़े अंतर के साथ जीत दर्ज करते रहे। टीम ने कुल 11 मुकाबले खेले और 127 गोल दागे। सिर्फ 24 गोल उनके खिलाफ हो सके।लीग में सबसे ज्यादा गोल करने में मिनर्वा सबसे आगे रही और दूसरे नंबर पर काबिज बेंगलुरु टीम 101 गोल ही कर सकी।
मिनर्वा के युवाओं ने अटैक के साथ-साथ डिफेंस को भी शानदार तरीके से संभाला। उनके सवालों का जवाब किसी भी टीम के पास नहीं था। बड़ी आईएसएल टीमों को हराते हुए वे खिताब तक पहुंचे। ये साबित करता है कि मिनर्वा देश में बेस्ट है और उन्हें टक्कर देना किसी क्लब के लिए आसान नहीं। ये मिनर्वा के टीमवर्क का एक शानदार एग्जांपल है जो उन्होंने पूरे देश के सामने पेश किया है। टीम के मोहम्मद आजम खान और डेनामोनी ने 36-36 गोल दागे। उनके अटैक का सामना कोई टीम नहीं कर सकी। इसके अलावा चेतन ने 22 गोल किए, जबकि 10 गोल टोनी ने और 9 गोल पुनशिबा की किक से आए। ये जीत मिनर्वा की पूरी टीम के नाम है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Minerva Academy became the champion of India: After trailing 1-2 in the final, defeated Bengaluru FC by 7-4
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: chandigarh, minerva academy, young players, sub-junior i-league, undefeated, title winners, final match, isl club bengaluru fc, trailing 1-2 at half time, second half comeback, scored 6 goals, \r\nwon 7-4, unbeaten streak, 127 goals in 11 matches, supremacy established, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news, chandigarh ut news, chandigarh ut news in hindi, real time chandigarh ut city news, real time news, chandigarh ut news khas khabar, chandigarh ut news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved